'क़ुरान' रखने के जुर्म में क्या पाकिस्तानी कि की गई पिटाई !

सोशल मीडिया पर एक वीडियो में इंडोनेशियाई चोर को पाकिस्तानी बताकर गलत सन्दर्भ में किया जा रहा है वायरल

दावा : "चीन में इस पाकिस्तानी मुस्लिम व्यक्ति की निर्ममता से पिटाई सिर्फ़ इसलिए हो रही है कि इसके पास क़ुरआन की एक प्रति मिली जो चीन में प्रतिबंधित है।

लो रे चुस्लाम वाले फतवा निकालो चीन पे।"

रेटिंग : झूठ

सच्चाई : इस वीडियो को 'एक पाकिस्तानी जो चीन में क़ुरान रखने के जुर्म में पीटा जा रहा है' कैप्शन के साथ वायरल किया जा रहा हैं। हम आपको बतादे की ना तो मार खा रहा व्यक्ति पाकिस्तानी है और ना यह वीडियो चीन से है।

यह वीडियो दरअसल इंडोनेशिया का है । इंडोनेशियाई न्यूज़ पेपर ट्रिब्यून जटेंग द्वारा प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार यह घटना 13 मई, 2017 को वेस्ट जावा प्रांत के डेपोक बारू स्टेशन पर हुई थी।

इसके अलावा दूसरे कैप्शन के साथ यही वीडियो जिसमे दावा किया जा रहा है कि "क़ुरान को कब्जे में रखने वाला उइगुर मुस्लिम चीनी सैनिक द्वारा पीटा जा रहा है" भी झूठा है।

यह वीडियो सोशल मीडिया पर धड़ल्ले से वायरल हो रहा है। वीडियो में आप सैनिको को एक व्यक्ति की निर्ममता से पिटाई करते हुए देख सकते है। हकीकत में यह व्यक्ति एक चोर है जिसकी इंडोनेशियाई सैन्य कर्मियों ने चोरी के जुर्म में जमकर पिटाई कर दी थी। सोशल मीडिया पर वीडियो के वायरल होने के बाद अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की गई है ।

यह पोस्ट फ़ेसबुक पर 'सोनू जैन' नामक अकाउंट से 1000 से ज़्यादा बार शेयर किया जा चुका है।/

https://www.facebook.com/sonu.jain.jain.5023/videos/527789911073730/

इस वीडियो को ट्वीटर पर भी वायरल किया गया है।

यह वीडियो यूट्यूब पर भी देखा जा सकता है।

ज्ञात रहे की पाकिस्तान में चीनी दूतावास के एक अधिकारी ने ट्विटर के माध्यम से पुष्टि की है कि यह वीडियो चीन का नहीं है, यह वीडियो उनके अनुसार चीन और मुस्लिम देशों के बीच संबंधों को बिगाड़ने का एक निष्फ़ल प्रयास है।

Claim Review :  चीन में इस पाकिस्तानी मुस्लिम व्यक्ति की निर्ममता से पिटाई
Claimed By :  facebook
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story