Connect with us

एक साल पुराना संवेदनशील वीडियो हुआ सोशल मीडिया पर फिर से वायरल

एक साल पुराना संवेदनशील वीडियो हुआ सोशल मीडिया पर फिर से वायरल

वीडियो में मौलाना अशरफ जिलानी का दावा – ‘घर में घुस कर नमाज़ पढ़ेंगे’

 

दावा: “11 तारीख को कांग्रेस पार्टी राजस्थान में चुनाव जीती थी आज देख लो यह पार्टी कार्यकर्ता चैलेंज कर रहे हैं पत्रकार से आपके घर में घुस के नमाज पढ़ेंगे”

 

“पेट्रोल के दाम से या जी एस टी के लगने से सरकार अच्छी बुरी नहीं होती। हिन्दू को बचाना है तो यह विडियो देख लें । ये मौलवी बोला है कि भाजपा के जाने के बाद हिन्दुओ के घर में घुस कर नमाज पढेंगे।”

 

“सत्ता में कांग्रेस आते ही मौलाना की खुली धमकी अब हिंदुओं को घर में घुस घुस के मारेंगे और घर में घुस कर नमाज पढ़ेंगे हिंदुओं के”

 

 

अलग-अलग वीडियो में सोशल मीडिया पर हो रहा है धड़ल्ले से वायरल (कैप्शन में वीडियो के साथ )

 

रेटिंग: वीडियो विश्वसनीय है पर सोशल मीडिया पर जिस कैप्शन के साथ वायरल हो रहा है वे झूठे है।

 

सच्चाई: सुदर्शन न्यूज़ द्वारा 28 जुलाई , 2017 को यूट्यूब पर अपलोड किये गए इस वीडियो को एक वर्ष बीत चुका है। यह वीडियो दरअसल एक डिबेट का है जिसमे एंकर लावनी विनीत को कुछ लोगो की पैनल के साथ डिबेट करते हुए देखा जा सकता है।

 

इस बीच इस्लामिक मौलाना ‘अशरफ जिलानी’ को एंकर के सवालों के जवाब में यह कहते हुए सुना जा सकता है की, ‘बेटा हम आपके घर में नमाज़ पढ़ेंगे’ ।

 

हम आपको बता दे की ना तो यह मौलाना किसी राजनैतिक पार्टी के सदस्य है और ना यह डिबेट का वीडियो अभी का है।

 

इस वीडियो को फ़ेसबुक पर ‘इंद्रपाल गुप्ता’ नामक अकाउंट पर 3 हज़ार से ज़्यादा शेयर्स और साठ हज़ार (60,000) से ज़्यादा व्यूज मिले हैं ।

 

 

 

यह वीडियो फ़ेसबुक और ट्विटर पर वायरल हो रहा है।

 

 

 

‘विक्रम बावा’ नामक यूजर ने इस वीडियो को ट्वीट किया है।

 

 

यूट्यूब पर भी यह वीडियो ‘जेरी पटेल’ नामक अकाउंट पर देखा जा सकता है।

 

 

सुदर्शन न्यूज़ के यूट्यूब चैनल पर असली वीडियो को यहाँ देखा जा सकता है।

 

हम आपको बता दे की फ़ेसबुक पर इस पोस्ट को जिस कैप्शन के साथ क्वोट किया जा रहा है वह गलत है।

 

बूम को मिली जानकारी के अनुसार मौलाना ‘अशरफ जिलानी’ किसी राजनैतिक पार्टी के सदस्य नहीं है बल्कि एक  सुन्नी मुस्लिम मौलाना है जो अक्सर न्यूज़ चैनल्स पर लाइव डिबेट करने के लिए पैनल का हिस्सा बनते है।

 

दूसरा यह वीडियो साल भर पुराना है । इसलिए इस वीडियो का वर्ष 2018 में हुए 3 राज्यों के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के प्रदर्शन के साथ से कोई लेना देना नहीं है।

 

तीसरा इस वीडियो में अशरफ जिलानी ने कहीं नहीं कहा है की, “हम हिन्दुओ के घर में घुस के मारेंगे” । हालांकि  उन्होंने यह ज़रूर कहा है की, “हम आपके घर में घुस के नमाज़ पढ़ेंगे”

 

इस वीडियो में बोल रहे मौलाना अशरफ जिलानी की बातो को ‘आउट ऑफ़ कॉन्टेक्स्ट’ क्वोट किया गया है। किसी भी तरह के निष्कर्ष पर पहुंच ने से पहले पूरे डिबेट के वीडियो को देखना और सुनना जरुरी है। इस वीडियो में 27 मिनट और 11 सेकण्ड्स पर आप मौलाना द्वारा की गई बातो को साफ़ सुन सकते है।

 

चर्चा उस विषय पर हो रही थी की किसी भी धर्म के लोगो को ‘पब्लिक स्पैस’ में प्राथना करनी चाहिए या नहीं। एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन या सड़क, डिबेट में इस विषय पर चर्चा के बढ़ते बढ़ते मौलाना ने बौखलाहट में एंकर पर निशाना साधते हुए कह गए की, “बेटा हम आपके घर में भी नमाज़ पढ़ेंगे” ।

 

 

Claim Review : राजस्थान में चुनाव जीतने के बाद एक मौलाना का न्यूज़ एंकर को दावा उनके घर में नमाज़ पढ़ने का

Fact Check : misleading

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

FACT FILE

Opinion

To Top