बीजेपी सांसद के नाले में गिरने का वीडियो फिर हुआ वायरल, सांसद को बताया कलेक्टर।

बूम ने सत्यापित किया कि वीडियो में महिला कोडागु की जिला कलेक्टर नहीं बल्कि गुजरात से सांसद पूनम मदाम हैं।
एक महिला के नाली में गिरने का वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो का दावा है कि गिरने वाली महिला कर्नाटक की कलेक्टर हैं। लेकिन यह दावा फर्जी है। जबकि सोशल मीडिया पोस्टों ने यह भी दावा किया कि महिला कोडागु (कूर्ग) की जिला कलेक्टर है, लेकिन वास्तविक घटना 2016 में गुजरात की है। यह वीडियो तब फिल्माया गया था जब, गुजरात की बीजेपी सांसद, पूनम मदाम, झुग्गी की आधिकारिक यात्रा के दौरान नाले में गिर गई थी। यह वीडियो, रविवार को, हैदराबाद से फेसबुक उपयोगकर्ता, सिराज अल शैक द्वारा साझा किया गया था। वीडियो से संदेश कुछ ऐसे लिखा गया था, "कलेक्टर मैडम कोडागु जिला (कर्नाटक) में जल निकासी निरीक्षण के लिए गई थी... वह जल निकासी कवर पर खड़ी थी और वह इसमें गिर गई।" और इस वीडियो के तथ्य-जांच के समय तक इस वीडियो को 1000 बार देखा गया था और 17 बार शेयर किया गया था। एक अन्य फेसबुक उपयोगकर्ता परवेज मकबल परवेज द्वारा साझा एक और
वीडियो पोस्ट
में उल्लेख किया गया है कि एक कलेक्टर नाली में गिर गई हैं। कहानी लिखने के समय तक वीडियो को 29, 000 बार देखा गया था और 811 बार शेयर किया गया था। ( फेसबुक पोस्ट का स्क्रीनशॉट ) वीडियो में, एक पीली सलवार कमीज पहने हुए एक महिला भीड़ से घिरी हुई है। वह गुजराती में एक व्यक्ति से बातें कर रही और अचानक वह एक नाले में गिर जाती है। 1.49 सेकेंड के इस वीडियो में लोगों को घबराए हुए, गुजराती में बोलते हुए भी देखा जा सकता है। फिर नीचे गिरी हुई महिलाको बचाया जाता है और स्थानीय लोग और पुलिसकर्मी द्वारा एंबुलेंस तक ले जाया जाता है। एम्बुलेंस में गुजरात नंबर प्लेट भी है। बूम ने सत्यापित किया कि वीडियो में महिला कोडागु की जिला कलेक्टर नहीं बल्कि पूनम मदाम है जो गुजरात में जामनगर की सांसद हैं। द हिंदू में एक
रिपोर्ट
के मुताबिक, यह घटना मई 2016 में हुई जब वह (मादाम) जामनगर के इलाके में नागरिक अधिकारियों द्वारा विध्वंस अभियान के दौरान झुग्गी के निवासियों से मुलाकात करते हुए 8 फुट की गहरी नाली में गिर गईं। समाचार रिपोर्टों के मुताबिक यह घटना तब हुई जब मैडम जामनगर के जलाराम क्षेत्र में एक झुग्गी के निवासियों के साथ बैठक कर रहे थे, जो इस क्षेत्र में एक विध्वंस अभियान के खिलाफ विरोध कर रहे थे। इस घटना के वीडियो को इंडियन एक्सप्रेस, टाइम्स नाउ और एनडीटीवी समेत प्रमुख समाचार वेबसाइटों के साथ व्यापक कवरेज प्राप्त हुआ था।
Show Full Article
Next Story