जी नहीं, प्रधानमंत्री मोदी खाली रेल की बोगियों को देख हाथ नहीं लहरा रहे थे !

सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री मोदी की बोगीबील पुल से रेल के डिब्बों को देख कर हाथ लहराती तस्वीरें हो रही है गलत सन्दर्भ में वायरल
दावा: "मोदीजी खाली ट्रैन की बोगियों को देख हाथ लहराते हुए" रेटिंग: झूठ सच्चाई: इन तस्वीरो में प्रधानमंत्री मोदी को हाथ लहराते हुए देखा जा सकता है। मोदी दरअसल असम में बोगीबील ब्रिज का उद्धघाटन करने पहुंचे थे ।उन्होंने टु लेन ब्रिज के साथ जुड़े  डबल-लाइन ब्रॉड गेज रेलवे ट्रैक का भी उद्धघाटन किया था। प्रधानमंत्री ने ब्रिज के साथ रेलवे ट्रैक पर खड़ी  ट्रैन में सवार लोगो को हाथ दिखाकर उनका अभिवादन भी किया था। वायरल पोस्ट में कहा जा रहा है की मोदी खाली रेल की बोगियों को देख हाथ लहरा रहे थे जो झूठ है। फ़ेसबुक के
'फेकू एक्प्रेस'
नामक पेज पर इस पोस्ट को 7 हज़ार से ज़्यादा शेयर और 2 लाख से ज़्यादा व्यूज मिले है। इस पोस्ट को 'राजीव त्यागी' नामक फेसबुक अकाउंट से भी शेयर किया गया है जहां इसे 500 से ज़्यादा शेयर्स मिले है। तमिल नाडु से कांग्रेस नेता और अभिनेत्री खुसबू ने भी इन तस्वीरो को ट्वीट किया है।
क्या है वायरल होती तस्वीरो की सच्चाई ! असली तस्वीरो को A.N.I के ट्विटर हैंडल पर भी देखा जा सकता है। इन तस्वीरो में मोदीजी ट्रैन में खड़े पैसेंजर्स को हाथ लहराते हुए दिखाई पड़ते है।
बूम ने इस वीडियो की पड़ताल की और फेसबुक पर एक लाइव वीडियो पाया जिसमें स्पष्ट रूप से दिखाया गया था कि मोदी ट्रैन में बैठे लोगो को देख हाथ लहरा रहे थे और लोग भी वापस हाथ लहरा रहे थे। 15 मिनट से वीडियो को देखें। 15:40 मिनट पर कैमरा ट्रैन पर ज़ूम किया जाता है जाता है और ट्रेन नंबर दिखाई देता है। P.I.B द्वारा किये गए एक ट्वीट के अनुसार पीएम मोदी ने असम के बोगीबील पुल पर पहली यात्री ट्रेन को हरी झंडी दी और ट्रैन में बैठे लोगो का अभिवादन भी किया था । लाइव वीडियो में दिखाई देने वाली ट्रेन संख्या P.I.B द्वारा शेयर की गई छवि में भी बहुत स्पष्ट रूप से दिखाई देती है ।
पीएमओ इंडिया के यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो से यह पता चलता है कि ट्रेन में वे लोग मौजूद थे, जिन्हें पीएम मोदी देख कर हाथ लहरा रहे थे। https://youtu.be/dhaAfRZz1Zg इस विषय के सन्दर्भ से जुड़ी न्यूज़ रिपोर्ट को यहाँ पढ़ा जा सकता है।
Claim Review :  प्रधानमंत्री मोदी खाली रेल की बोगियों को देख हाथ नहीं लहरा रहे
Claimed By :  feku express
Fact Check :  false
Show Full Article
Next Story