क्या निर्मला सीतारमण ने धोनी के बलिदान बैज वाले दस्तानों के हित में बयान दिया?

एक पोस्ट निर्मला सीतारमण नामक फ़र्ज़ी फ़ेसबुक पेज पर शेयर की जा रही है जिसमें दावा है की सीतारमण ने धोनी को बलिदान बैज वाले दस्तानें न उतारने की सलाह दी है

निर्मला सीतारमण के नाम से एक पोस्ट फ़ेसबुक पर वायरल हो रही है | इस पोस्ट में दावा किया जा रहा है की सीतारमण, जो भारत की वित्त मंत्री हैं, ने महेंद्र सिंह धोनी के बलिदान बैज वाले दस्तानों का समर्थन किया है | आपको बता दें यह दावा फ़र्ज़ी है |

फ़ेसबुक पर वायरल पोस्ट निर्मला सीतारमण नामक एक पेज पर शेयर की गयी है जिसे वहां से 4,800 बार शेयर किया गया है | इस पोस्ट में अंग्रेजी में लिखा है जिसका हिंदी अनुवाद है: आई.सी.सी ने बी.सी.सी.आई से अनुरोध किया है की एम.एस धोनी के दस्तानों पर से आर्मी बैज हटाया जाए | प्रिय लेफ़्टिनेंट कर्नल एम.एस धोनी आप पैराशूट रेजिमेंट के एक अधिकारी हैं | उन दस्तानों को मत उतारिये | बलिदान एक सम्मान का बैज है | यह आर्मी के बेहतरीन लोगो को प्रदर्शित करता है | हम हमेशा इस बैज को इज़्ज़त के साथ देखते हैं | देश आपके साथ है | जय हिन्द |

आप यह पोस्ट यहाँ और इसका आर्काइव्ड वर्शन यहाँ देख सकते हैं |

विश्व कप में पिछले बुधवार भारत ने साउथ अफ़्रीका को छह विकटों से हराया | यह मैच सॉउथैंप्टन, इंग्लैंड में हुआ था | खेल के दौरान भारतीय टीम के विकेट कीपर और भूतपूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने जो दस्ताने पहने हुए थे उनपर बलिदान बैज छपा हुआ था | इन दस्तानों पर इंटरनेशनल क्रिकेट कॉउन्सिल या अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद् (आई.सी.सी) ने सवाल उठाए | आई.सी.सी ने कहा की नियमानुसार उन्हें यह दस्ताने बदलने होंगे |

आई.सी.सी ने बोर्ड ऑफ़ कण्ट्रोल फॉर क्रिकेट इन इंडिया (बी.सी.सी.आई) को यह सूचना दी और दस्ताने बदलने को कहा | आई.सी.सी के इस कदम से सोशल मीडिया पर विवाद शुरू हुआ और कई तरह के पोस्ट वायरल हुए | लोगो ने आई.सी.सी के इस कदम को नकारा और धोनी का समर्थन किया | कई पोस्ट में लोगो ने तुलनात्मक ढंग से पुराने कई मुद्दे उठाए |

कुछ ऐसे ही पोस्ट्स आप यहाँ और यहाँ देख सकते हैं |

फ़ैक्ट चेक

बूम ने इस स्टेटमेंट की सच्चाई जानने के लिए जब गूगल पर कीवर्ड्स सर्च किया तो पाया की मुख़्य धारा के मीडिया संस्थानों ने ऐसा कोई भी बयान प्रकाशित नहीं किया है | इस पेज पर पहले भी कई बार निर्मला सीतारमण के नाम से बयान वायरल हुए है जिसपर बूम ने लेख भी लिखे हैं | आप पुराना एक लेख यहाँ पढ़ सकते हैं |
इस बात को सत्यापित करने के लिए बूम ने निर्मला सीतारमण के अतिरिक्त पर्सनल असिस्टेंट विवेक सिंह से इस दावे के सन्दर्भ में बात की तो उन्होंने ने कहा की यह फ़ेसबुक पेज फ़र्ज़ी है और इस तरह की निराधार सूचना को सनसनी नहीं बनाना चाहिए |

यह फ़ेसबुक पेज फ़र्ज़ी है और इस तरह की निराधार सूचना को सनसनी नहीं बनाना चाहिए -
विवेक सिंह, निर्मला सीतारमण के अतिरिक्त पर्सनल असिस्टेंट

क्या है बलिदान बैज और धोनी क्यों पहन सकते हैं?

एक नवंबर 2011 को महेंद्र सिंह धोनी को लेफ़्टिनेंट कर्नल की उपाधि से सम्मानित किया गया था | उन्हें पैराशूट रेजिमेंट में यह ओहदा प्राप्त है | बलिदान बैज एक सम्मान का प्रतिक है जो पैरा स्पेशल फ़ोर्सेस के अधिकारी पहन सकते हैं | यह बैज भारतीय सेना द्वारा दिया जाता है | बलिदान बैज के बारे में और पढ़ने के लिए यहाँ और यहाँ पढ़ें |

Claim Review :   निर्मला सीतारमण ने धोनी को बलिदान बैज पहने रहने की सलाह दी
Claimed By :  Facebook page
Fact Check :  FALSE
Show Full Article
Next Story