अमृतसर ट्रेन दुर्घटना: जी नहीं, ट्रेन चालक ने आत्महत्या नहीं की है

एक आत्महत्या के वीडियो को यह बताकर वायरल किया गया की मृतक अमृतसर में अक्टूबर 19 को हुए ट्रेन दुर्घटना में ट्रेन चालक था
दावा: अमृतसर रेल दुर्घटना: ट्रेन चालक ने की आत्महत्या
रेटिंग: झूठ
अमृतसर ट्रेन दुर्घटना से जुड़ी एक और फ़ेक न्यूज़ वायरल होती जा रही है | Shomer@golem001 हैंडल से शेयर किये गए इस ट्वीट पर एक वीडियो तथा दो तस्वीरें देखी जा सकती | इस बेहद दर्दनाक वीडियो में एक व्यक्ति को पुल जैसे किसी ढाँचे से फांसी पर लटके देखा जा सकता है | दूसरी तस्वीर इसी वीडियो से लिए गए एक ग्रैब की है तथा तीसरी तस्वीर एक चिट्ठी की है जो ये संदेह पैदा करती है की ये एक सुसाइड लेटर है | यही वीडियो फेसबुक के कई पेजेज जैसे 'माई रूरकी माई सिटी', 'पी.सी.एस. मंत्रा' तथा कई फेसबुक यूज़र्स द्वारा शेयर की गयी है | हालांकि 'माई रूरकी माई सिटी' पेज से इस पोस्ट को हटा लिया गया है, बूम ने पेज को आर्काइव किया था और आर्काइव्ड पेज आप
यहां
देख सकते हैं | फिलहाल वीडियो इस, इस, इस और इस फेसबुक पेज पर शेयर किया गया है | वीडियो का सच बूम ने अपने जांच में ये पाया की वीडियो में दिखाए गए मृत व्यक्ति का ट्रेन हादसे से कोई संबंद्ध नहीं था | मृतक की शिनाख्त हरपाल सिंह, निवासी भिखीविंड, तरण तारण जिला, पंजाब, के तौर पर की गयी है और वो अक्टूबर 19 के दुर्घटना में शामिल ट्रेन का ड्राइवर नहीं है | सिंह ने अक्टूबर २० को अमृतसर के बोहरू गाँव में आत्महत्या की थी | बोहरू पुलिस स्टेशन के असिस्टेंट सब-इंस्पेक्टर रशपाल सिंह ने बूम को बताया की मृतक काफी वक्त से डिप्रेस्ड था | "हालाँकि वो बिजली का काम करता था मगर पिछले चार सालों से बेरोज़गार था | उसका मानसिक उपचार भी चल रहा था," सिंह ने बताया | सिंह ने आगे कहा की मृतक ने पिछले दो साल में तीन-चार दफा अपनी जान लेने की कोशिश की थी मगर दोस्तों और परिवार वालों द्वारा हर बार बचा लिया जाता था | "घटना के रोज़ सिंह मोटरसाइकिल से अपने घर से बोहरू के लिए निकला और एक बाँध के रुका | वही पर उसने खुद को फांसी लगा ली," ऐ.इस.आई. ने आगे कहा | सिंह ने यह भी कहा कि हरपाल के मौत की तस्वीरें और वीडियो वायरल होने के बाद से उसके परिवार वालों को काफी धमकियाँ मिल रही हैं क्यूंकि वायरल हुए पोस्ट्स में हरपाल को उक्त ट्रेन का चालक बताया जा रहा है | "मृतक के परिवारवालों ने हमसे मदद मांगी है क्यूंकि उन्हें धमकी भरे सन्देश और फ़ोन कॉल्स आ रहे हैं | हम सोशल मीडिया यूज़र्स से दरख्वास्त करते हैं की कृपया ऐसी अफवाहें न फैलाये | वीडियो में दिखाया गया मृतक अमृतसर हादसे का ट्रेन चालक नहीं बल्कि बोहरू ज़िले का एक बेरोज़गार नौजवान था |"
कहाँ है असल चालक?
आपको बताते चले की पंजाब रेलवे पुलिस ने शनिवार (अक्टूबर 20) को अरविन्द कुमार, जो उस डि.एम.यु. ट्रेन के चालक सीट पर दुर्घटना के वक्त मौजूद थे, से इस हादसे के सिलसिले में पूछताछ की थी | वायरल होते पोस्ट में जिस चिट्ठी की तस्वीर है वो दरअसल ट्रेन चालक अरविन्द कुमार का लिखित बयान है जो उन्होंने पुलिस को सौंपा था | ANI ने उस बयान कि कॉपी अपने ट्विटर हैंडल से शेयर भी कि थी |
The Print कि एसोसिएट एडिटर चितलीन के सेठी ने भी अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से बयान की तस्वीर को अक्टूबर 22 को ट्वीट किया था | अपने बयान में अरविन्द ये कहते हैं की, "इमरजेंसी ब्रेक लगाने पर भी मेरी गाडी की चपेट में कुछ लोग आ गए | गाड़ी की स्पीड लगभग रुकने के करीब थी तो लोगो का एक काफी बड़ा हुजूम ने मेरी गाड़ी पर पत्थरों से हमला कर दिया |" ज्ञात रहे के इससे पहले भी उक्त दुर्घटना को लेकर काफी फ़ेक न्यूज़ फैलाई गयी है | इनमे से ट्रेन चालक का नाम इम्तियाज़ अली बताता हुआ एक पोस्ट काफी वायरल भी हुआ था जो कि बाद में गलत साबित हुआ |
Show Full Article
Next Story