Connect with us

क्या दहिसर पुलिस ने 15-20 लोगो की ‘टोली’ से बचने का कोई सन्देश जारी किया? फ़ैक्ट चेक

क्या दहिसर पुलिस ने 15-20 लोगो की ‘टोली’ से बचने का कोई सन्देश जारी किया? फ़ैक्ट चेक

सोशल मीडिया पर एक सन्देश वायरल हो रहा है जो दावा करता है की हथियारों से लैस बीस लोगों की एक टोली मलाड से दहिसर के बीच उत्पात मचा रही है और इनसे बच कर रहा जाए

फ़ेसबुक और ट्विटर पर वायरल एक पोस्ट में दावा किया जा रहा है की ‘मलाड से दहिसर तक एक 15-20 लोगों की टोली महिलाओं और बच्चो के साथ आधी रात में आती है और तभी बच्चों के रोने की आवाज़ भी आती है | इस दशा में कृपया दरवाज़ा न खोलें | दहिसर थाने के वरिष्ठ इंस्पेक्टर रमाकांत पाटिल द्वारा प्राप्त सूचना |’ आपको बता दें की यह दावा फ़र्ज़ी है जो एक अलग घटना के वीडियो के साथ मिला कर भ्रामक दावों के साथ वायरल किया जा रहा है |

इस पोस्ट को आप नीचे देख सकते हैं और इसका आर्काइव्ड वर्शन यहाँ उपलब्ध है |

इस पोस्ट के आर्काइव्ड वर्शन को यहाँ देखें |

फ़ेसबुक पर वायरल पोस्ट में, जिसमें एक वीडियो दिखाया गया है, पुलिस किसी अन्य घटना की बात कर रही है जो इस सन्देश से अलग है | वीडियो में जो दिखाया गया है उसमे पुलिस एक गिरोह को पकड़ चुकी है जिसने कुछ जगहों पर नकली आयकर अधिकारी बनकर चोरियां की थी | इसी तरह की पोस्ट 2017 में भी वायरल हुई थीं |

इस पोस्ट को यहाँ और इस पेज के आर्काइव्ड वर्शन को यहाँ देखें |

फ़ैक्ट चेक

बूम ने पता लगाया तो मालूम हुआ की दहिसर में पदस्थ सीनियर इंस्पेक्टर रमाकांत पाटिल नहीं बल्क़ि वसंत नारायण पिंगले हैं |

इस सन्देश के अलावा कई पोस्ट्स के साथ वीडियोज़ भी जोड़े गए हैं | बूम ने वीडियो को ध्यान से देखा तो उसमें दावे के मिलता जुलता कोई मामला नहीं मिला | पुलिस उसमें एक अलग घटना के बारे में ब्रीफ़ कर रही है | हालांकि एक और वीडियो मिला जिसके साथ भी यही कैप्शन लिखा गया है जो पिछले हफ़्ते की ही घटना से जुड़ा हुआ है | इस वीडियो में किसी लिफ़्ट में एक लड़के द्वारा एक महिला को मारने और लूटने की कोशिश दिखाई गयी है |

इसके बाद लिफ़्ट के आस पास के घर में लोग सज़ग हो जाते हैं और उस लड़के को पकड़ लेते हैं | आप वीडियो में कुछ लोगों को हँसते और बात करते सुन सकते है जो सी सी टी वी पर रिकॉर्ड हुई फ़ुटेज को मोबाइल पर रिकॉर्ड कर रहे हैं |

बूम ने ट्विटर पर मुंबई पुलिस के आधिकारिक हैंडल पर एक ट्वीट भी देखा जिसमें उन्होंने खुद इस सन्देश को फ़र्ज़ी करार दिया है |

आप मुंबई पुलिस का ट्वीट यहां देख सकते हैं |

हमने इस सन्देश के फ़र्ज़ी होने की पुष्टि करने के लिए दहिसर के वरिष्ठ इंस्पेक्टर वसंत नारायण पिंगले से भी बात की जिन्होंने कहा की “उक्त सन्देश फ़र्ज़ी है” |

(बूम अब सारे सोशल मीडिया मंचो पर उपलब्ध है | क्वालिटी फ़ैक्ट चेक्स जानने हेतु टेलीग्राम और व्हाट्सएप्प पर बूम के सदस्य बनें | आप हमें ट्विटर और फ़ेसबुकपर भी फॉलो कर सकते हैं | )

Claim Review : दहिसर थाने ने सन्देश जारी किया है जिसमे मलाड से दहिसर तक एक 15-20 लोगों की टोली के बारे में पब्लिक को आगाह किया गया है

Fact Check : FALSE

Click to comment

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

FACT FILE

Opinion

To Top