इंटरनेट यूज़र एक व्यंगात्मक तस्वीर के झांसे में फसे जो कांग्रेस को चंद्रयान 2 की असफलता का ज़िम्मेदार ठहरती है

बूम पाया की वायरल तस्वीर फ़ोटोशॉप्ड है जो मीमराव नामक ट्वीटर यूज़र ने फ़ोटोशॉप कर बनाई है
Liyaqat-Chandrayaan-fake

चंद्रयान-2 जिसे 22 जुलाई, 2019 में श्री हरिकोटा से छोड़ा गया था, हाल में चाँद की सतह पर उतरने वाला था परन्तु इसरो का विक्रम लैंडर से संपर्क टूटने की वजह से अंतरिक्ष कार्यक्रम में थोड़ा ठेहराव आया है | इसके चलते एक तस्वीर वायरल हो रही है जिसमें ए.बी.पी न्यूज़ के टेम्पलेट पर एंकर एवं पत्रकार रुबिका लियाक़त की तस्वीर के साथ लिखा है: "क्या चंद्रयान 2 की असफलता के लिए कांग्रेस ज़िम्मेदार?"

आपको बता दें की यह दावा फ़र्ज़ी है |

इसे ट्विटर एवं फ़ेसबुक पर शेयर किया जा चूका है | पूर्वी पत्रकार एवं समाजवादी पार्टी की राष्ट्रिय एग्जीक्यूटिव सदस्या रह चुकी प्रीती चौबे ने भी इस तस्वीर को ट्वीटर पर साझा किया है | उन्होंने कैप्शन में लिखा है: "मैं बहुत अचंभित थी अभी तक किसी ने नेहरू जी का नाम किऊ नहीं लिया!! आख़िर में ठीकरा फूट ही गया |" (Sic)

इनके अलावा फ़ेसबुक पर विथ RG नामक पेज पर भी इसे शेयर किया गया है | जिसके साथ कैप्शन दिया है, "चाटुकारिता अपने चरम पर है ।।।।"



इन पोस्ट्स के आर्काइव्ड वर्शन यहाँ और यहाँ देखें |

फ़ैक्ट चेक

बूम ने तस्वीर को रिवर्स इमेज सर्च कर देखा | हमें एबीपी द्वारा जारी किया इस तरह का कोई फ़ोटो आधिकारिक तौर पर नहीं मिला | हमनें एबीपी हिंदी ट्वीटर हैंडल को भी खंगाला परन्तु वहां पिछले कुछ हफ़्तों में इस तरह का कोई टेम्पलेट पोस्ट नहीं किया गया था | तस्वीर को गौर से देखने पर मीमराव का टैग दिखता है | हमनें ट्वीट पर "मीमराव" कीवर्ड्स के साथ सर्च किया और पाया की उन्होंने ने इस तस्वीर को फ़ोटोशॉप कर बनाया है |





रुबिका लियाक़त ने भी ट्वीट कर इस तस्वीर के फ़र्ज़ी होने की पुष्टि की, उन्होंने कहां: "Edited picture पर जब verified account फ़ौरन कूदने लगे तो समझ जाएँ दिमाग़ छुट्टी पर है" (Sic)|



Claim Review :  क्या चंद्रयान 2 की असफलता का कारन कांग्रेस है?
Claimed By :  Facebook pages and Twitter handles
Fact Check :  FALSE
Show Full Article
Next Story