भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुख़र्जी का 84 वर्ष की आयु में देहांत

अगस्त के शुरुवाती सप्ताह में दिल्ली में मुख़र्जी की एक ब्रेन सर्जरी हुई थी | अगस्त 31 को उनकी हालत बिगड़ने लगी और लंग इंफ़ेक्शन की वजह से वो सेप्टिक शॉक में चले गए थे

भारत के भूतपूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुख़र्जी का 84 वर्ष की आयु में अगस्त 31, 2020 को देहांत हो गया | वह पिछले तीन हफ़्तों से आर्मी के रिसर्च और रेफ़रल हॉस्पिटल में भर्ती थे | 10 अगस्त को उनके ब्रेन में ब्लड क्लॉट की सर्जरी हुई थी जिसके बाद से वह कोमा में थे |

पूर्व राष्ट्रपति की मृत्यु कि खबर उनके बेटे अभिजीत मुख़र्जी ने ट्वीट कर द्वारा दी है |

मुख़र्जी का राजनैतिक करियर 1969 में शुरू हुई जब वो पहली बार राज्य सभा (अपर हाउस) के लिए चुने गए थे | उन्होंने अगले 35 साल कांग्रेस पार्टी में अलग अलग पद संभाले और 2004 में उन्होंने लोकसभा चुनाव लड़ा और जीते | वह लोकसभा में 2012 तक रहे |

2012 से 2017 तक उन्होंने भारत के राष्ट्रपति का पद संभाला | उनके देहांत पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कई नेताओं और नामी हस्तियों ने ट्वीट कर शोक जताया है |

भारत के वर्तमान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने एक लम्बा सन्देश लिखते हुए शोक व्यक्त किया |

प्रधानमंत्री मोदी ने लिखा, "भारत, भारत रत्न श्री प्रणब मुखर्जी के निधन पर शोक व्यक्त करता है । उन्होंने हमारे राष्ट्र के विकास पथ पर एक अमिट छाप छोड़ी है। एक सर्वोत्कृष्ट विद्वान, एक महान राजनीतिज्ञ, उन्हें राजनीती के हर तबके और समाज के सभी वर्गों द्वारा पसंद किया जाता था।"

गृहमंत्री अमित शाह ने भी ट्वीट कर शोक जताया |

कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी ने भी इस मौके पर ट्वीट करके शोक व्यक्त किया |


Updated On: 2020-09-01T19:39:11+05:30
Show Full Article
Next Story