फ़िरोज़ शाह कोटला की तस्वीर बाबरी मस्जिद में नमाज़ के नाम पर वायरल

बूम ने पाया की तस्वीर वास्तविक रूप से ग्यारह साल पहले ली गयी है जो दिल्ली के फ़िरोज़ शाह कोटला मस्जिद की है
Fake Babri masjid photo

पुरानी तस्वीर जिसमें मुसलमान दिल्ली के फ़िरोज़ शाह कोटला मस्जिद में नमाज़ अदा कर रहे हैं, झूठे दावों के साथ वायरल हो रही है | फ़र्ज़ी दावों में कहा जा रहा है की सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले लोग बाबरी मस्जिद की जगह पर आखिरी नमाज़ अदा कर रहे है |

यह तस्वीर किसी ऊँची जगह से ली गयी है जिसमें एक खँडहर नुमा ईमारत दिख रही है जहाँ कई लोग नमाज़ अदा कर रहे हैं |

इसके साथ अंग्रेजी में कैप्शन लिखा है: "बाबरी मस्जिद पर आखिरी नमाज़ अदा की गयी | इस नमाज़ के बाद यह मस्जिद की जगह हिन्दू प्रबंधन को दे दी जाएगी #अयोध्याफैसला #बाबरीमस्जिद"

ट्वीट का आर्काइव्ड वर्शन यहाँ देखें |

रामजन्मभूमि - बाबरी मस्जिद विवाद में सुप्रीम कोर्ट ने 9 नवंबर, 2019 को फैसला सुनाया जिसमें कोर्ट ने सरकार से एक ट्रस्ट बना कर विवादित जमीन पर राम मंदिर बनाने और सुन्नी वक़्फ़ बोर्ड को एक अलग 5 एकड़ जमीन मस्जिद के लिए देने की बात कही है |

बाबरी मस्जिद 16 वीं सदी में बनी अयोध्या में एक मस्जिद थी जिसे हिन्दुओं ने 6, दिसंबर 1992 को गिरा दिया था |

यह भी पढ़ें: Supreme Court Paves Way For A Ram Temple, Muslims To Get Alternate Land In Ayodhya

फ़ैक्ट चेक

बूम यह पता लगाने में सक्षम था के यह तस्वीर हाल में बाबरी मस्जिद की नहीं है क्योंकि फैसला आने के पहले से विवादित इलाका बंद था और किसी भी धर्म के लोगों को वहां आना जाना मना था |

हमनें एक रिवर्स इमेज खोज की जिससे पता चलता है की यह तस्वीर दिल्ली के फ़िरोज़ शाह कोटला मस्जिद की है जब ईद-अल-अदा के मौके पर मुसलामानों ने नमाज़ पढ़ी थी | यह तस्वीर दिसंबर 2008 को अंतराष्ट्रीय वायर एजेंसी एसोसिएटेड प्रेस (ए.पी) के फ़ोटोग्राफर गुरिंदर ओसन द्वारा ली गयी थी |

यह तस्वीर का वास्तविक कैप्शन है: "मंगलवार 9, दिसंबर 2008 को दिल्ली की फेरोज़शाह कोटला मस्जिद में ईद-अल-अदा के मौके पर मुसलामानों ने प्रार्थना की | दुनियाभर में मुसलमान त्याग का उत्सव या ईद-अल-अदा मना रहे हैं | (ए.पी तस्वीर/गुरिंदर ओसन)"

AP screenshot

फ़िरोज़शाह कोटला एक किला था जिसे फ़िरोज़ शाह तुग़लक़ ने बनवाया था जब वो दिल्ली सुल्तनत पर राज कर रहे थे | किले में जामी मस्जिद थी जो अब खंडहर नुमा होगयी है | यह मस्जिद उन पुरातन स्मारकों में से है जो अब भी इस्तेमाल होती है | यह तस्वीर जामी मस्जिद के आस पास मौजूद आँगन में ली गयी है |

Claim Review :  बाबरी मस्जिद पर आखिरी नमाज़ अदा करते लोग
Claimed By :  Twitter user
Fact Check :  FALSE
Show Full Article
Next Story