क्या योगी आदित्यनाथ सरकार के कार्यकाल में उत्तर प्रदेश में महिलाओं के विरुद्ध अपराध बढ़ गए हैं ?

अखिलेश यादव के शासनकाल के तस्वीर को वर्ष 2018 का बता कर किया गया सोशल मीडिया पर वायरल
Mohanlalganj murder दावा: उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कर क्या रहा है। सरकार चला रहा है या महिलाओं की इज़्ज़त तार तार कर रहा है। लखनऊ में गैंगरेप और हत्या मानो आम हो गए है। रेटिंग: झूठ सच्चाई: पोस्ट में इस्तेमाल की गयी तस्वीर में नग्नावस्था में पड़ा शव असल में वर्ष 2014 में मोहनलाल गंज तहसील, लखनऊ, में एक 32 वर्षीय महिला का है। उसकी एक स्कूल के सामने चाक़ू मारकर हत्या कर दी गयी थी। यह पोस्ट फिलहाल फ़ेसबुक पर 'रविश कुमार पेज' और 'यहाँ सब कुछ मिलता है' नामक पेजों पर धड़ल्ले से शेयर किया जा रहा है। इस पोस्ट को कुल 2,000 से ज़्यादा बार शेयर किया जा चूका है। तस्वीर में एक शव नग्नावस्था में पड़ा दिखाई देता है। इस पोस्ट को देखने के लिए यहाँ
क्लिक
करे। Mohanlalganj murder Mohanlalganj murder इस पोस्ट को देखने के लिए यहाँ क्लिक करे। बूम ने मोहनलाल गंज के S.H.O गौदीन शुक्ल से बात की तो उन्होंने बताया, "यह वारदात दरअसल वर्ष 2014 की है, जिसमे एक महिला को कई बार चाक़ू गोद कर मार दिया गया था। ऐसी कोई भी F.I.R आज की तारीख़ में दर्ज़ नहीं हुई है ।" उनके अनुसार वह महिला एक अस्पताल में लैब असिस्टेंट का काम करती थी। इस पोस्ट को यह कहकर वायरल किया जा रहा है: "योगी आदित्यनाथ सरकार की नाक के नीचे खुलेआम महिलाओं के बलात्कार और हत्या हो रही है और सरकार पूरी तरह असक्षम है।" ज्ञात रहे की यह तस्वीर वर्ष 2014 में खींची गयी थी जब योगी आदित्यनाथ नहीं बल्कि अखिलेश यादव उतर प्रदेश के मुख्यमंत्री थे | NDTV इंडिया द्वारा प्रसारित एक रिपोर्ट में इस खबर को पढ़ा जा सकता है।
Next Story