63 साल की उम्र में मनोहर पर्रिकर का निधन, बीजेपी, विपक्षी नेताओं ने जताया शोक

पर्रिकर अग्नाशय के कैंसर से पीड़ित थे।

गोवा के मुख्यमंत्री और पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर का रविवार को निधन हो गया है। वे 63 वर्ष के थे और अग्नाशय के कैंसर से पीड़ित थे।

पर्रिकर ने 17 मार्च, 2019 की शाम को गोवा में अपने निवास पर अंतिम सांस ली। उनके परिवार में दो बेटे और बेटों का परिवार है।

वायर एजेंसी एएनआई ने बताया कि सरकार ने 18 मार्च को राष्ट्रीय शोक दिवस घोषित किया है। एजेंसी के मुताबिक पर्रिकर का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा।

चार बार गोवा के मुख्यमंत्री रह चुके पर्रिकर ने नवंबर 2014 से 17 मार्च, 2017 तक भारत के रक्षा मंत्री के रूप में कार्य किया।

पर्रिकर इंडियन इन्स्टिटूट ऑफ टेक्नोलोजी (आईआईटी), मुम्बई के पहले छात्र थे, जिन्होंने एमएलए रूप में कार्य किया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए उन्हें 'सच्चा देशभक्त और असाधारण प्रशासक' कहा है।



राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने कहा कि परिकर "सार्वजनिक जीवन में ईमानदारी और समर्पण का एक प्रतीक हैं, गोवा और भारत के लोगों के लिए उनकी सेवा को नहीं भुलाया जाएगा।"





बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं और विपक्षी दलों के सदस्यों ने भी उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है।











Next Story