बांग्लादेश में विरोध प्रदर्शन का वीडियो ग़लत दावे से बंगाल के रूप में वायरल

बूम पहले भी इस वायरल वीडियो का फ़ैक्ट चेक कर चुका है.

Claim

“*पश्चिम बंगाल* सरकार,पुलिस, फौज सबको इनसे जान बचानी मुश्किल है। *एक घायल सीआरपीएफ के जवान को अस्पताल ले जाने के लिऐ रोक दिया गया।* यह दृश्य आप के अपने शहर या गली में जल्दी आनेवाला है…”

Fact

बूम ने पाया कि वीडियो बांग्लादेश के हथज़री का है, जहां मार्च में देश की अपनी दो दिवसीय यात्रा के दौरान नरेंद्र मोदी विरोधी प्रदर्शनों के बाद पुलिस और एक इस्लामिक कार्यकर्ता समूह के बीच हुई झड़प में चार लोगों के मारे जाने के बाद विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए थे. हमने पाया कि वीडियो में सेना के वाहन पर वाहन पंजीकरण संख्या बांग्ला में लिखा है और बांग्लादेश आर्मी मेडिकल कोर (एएमसी) के एक जवान को एम्बुलेंस में बैठे देखा जा सकता है. इसके अलावा जवानों के कंधे पर बांग्लादेश आर्मी बैज भी देखा जा सकता है. बूम ने इससे पहले इसी तरह के फ़र्ज़ी दावे के साथ वायरल होने वाले वीडियो को ख़ारिज कर दिया था.

To Read Full Story, click here
Claim Review :   पश्चिम बंगाल में घायल सीआरपीएफ के जवान को अस्पताल ले जाने के लिऐ रोक दिया गया
Claimed By :  Social Media Users
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story