ड्यूरेक्स का विज्ञापन, "दिल्ली पुलिस से अच्छी सुरक्षा हम देते हैं" कितना सच

ड्यूरेक्स कंपनी ने दिल्ली पुलिस का मज़ाक उड़ाने वाले विज्ञापन से खुद को दूर कर लिया है।

रेकिट बेंकिज़र (आरबी) के एक कंडोम ब्रांड ड्यूरेक्स ने एक वायरल पोस्टर से ख़ुद को दूर कर लिया है जिसमें कहा गया है कि कंपनी का कंडोम दिल्ली पुलिस की तुलना में बेहतर सुरक्षा प्रदान करता है। कंपनी की रचनात्मक टीम ऑनलाइन मार्केटिंग के रुप में चुटीली टिप्पणियों और कैप्शन के साथ मज़ेदार पोस्टर पोस्ट करने के लिए जानी जाती है। लेकिन कंपनी ने इस विशेष विज्ञापन से ख़ुद को दूर कर लिया है और कहा है कि पोस्टर उनका नहीं है।

सोशल मीडिया पर वायरल हुए इस पोस्टर के निशाने पर दिल्ली पुलिस है, जिन पर 5 जनवरी की रात में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के परिसर में प्रवेश करने वाले नकाबपोश लोगों द्वारा हिंसा करने वालों को रोकने और छात्रों को उनसे बचाने के लिए कोई कदम ना उठाने का आरोप है और जिसके लिए उनकी काफ़ी आलोचना भी की जा रही है।

यह भी पढ़ें: क्या बीजेपी विधायक ने की राजनाथ सिंह से सी.ए.ए-एन.आर.सी वापसी की मांग?

पोस्टर को नीचे देखा जा सकता है। इसके कैप्शन में नीचे-दाएं कोने में ड्यूरेक्स लोगो के साथ और हैशटैग '#ShameOnDelhiPolice' के साथ "बेटर प्रोटेक्शन दैन दिल्ली पुलिस" लिखा हुआ है।


दिलचस्प बात यह है, उनके कई वैध ट्वीट उनके विज्ञापनों की तर्ज पर नीचे हैं।

जैसा कि ऊपर का पोस्टर ट्वीटर पर वायरल है और सोशल मीडिया यूज़र इस पोस्टर को उनके विज्ञापन अभियान का हिस्सा मान रहे हैं।

लल्लनटॉप के एडिटर सौरभ द्विवेदी ने भी इसे ट्वीट किया। हालांकि, बाद में इसे डिलीट किया और माफ़ी जारी किया।

पोस्टर फ़ेसबुक पर भी वायरल है।

ड्यूरेक्स ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल के माध्यम से इन दावों का खंडन किया है और कहा है कि कंपनी विज्ञापन से संबंधित नहीं है।

बूम ने टिप्पणी के लिए कंपनी से संपर्क किया, अगर हमें जवाब मिलता है तो हम लेख अपडेट करेंगे।

Claim Review :  ड्यूरेक्स ने दिल्ली पुलिस पर व्यंग करते हुए रिलीज़ किया पोस्टर
Claimed By :  Social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story