फ़ैक्ट चेक : वायरल तस्वीर में पीएम मोदी के साथ अन्ना हज़ारे हैं?

दावा किया गया है कि यह तस्वीर आरएसएस के एक शिविर की है और तस्वीर में अन्ना हज़ारे और नरेंद्र मोदी हैं।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के लक्ष्मणराव इनामदार के साथ प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की एक पुरानी तस्वीर फ़र्ज़ी दावे के साथ वायरल है। दावा किया जा रहा है कि तस्वीर में पीएम मोदी के साथ सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हज़ारे हैं और आरएसएस के एक शिविर में साथ में फ़ोटो खिंचवाई थी।

मराठी भाषा में शेयर किये गए पोस्ट में दावा किया गया है कि यह तस्वीर आरएसएस के एक शिविर की है और तस्वीर में अन्ना हज़ारे और नरेंद्र मोदी हैं।

हाल ही में 83 वर्षीय अन्ना हज़ारे ने किसान आंदोलन के समर्थन में भूख हड़ताल पर जाने की घोषणा की। उन्होंने कहा था कि वह भूख हड़ताल पर जाएंगे यदि किसानों से संबंधित उनकी मांगों को सरकार द्वारा पूरा नहीं किया जाता है। अन्ना ने रविवार को अपनी घोषणा में कहा कि यह उनका 'आख़िरी प्रोटेस्ट' होगा।

गुलबर्गा से पुराना राम नवमी रैली का वीडियो साम्प्रदायिक दावों के साथ वायरल

वायरल तस्वीर के शेयर किये गए पोस्ट में दावा किया गया कि "दो दलालों की एक साथ ली गई दुर्लभ तस्वीर- एक आरएसएस कैंप में बदमाश। एक आदमी के चरित्र को समझने के लिए पर्याप्त।"

(मराठी कैप्शन: RSS च्या शिबीरातील दोन दलाल - भामट्यांचा एकत्रीतपणे काढलेला दुर्मिळ फोटोग्राफ्स.माणसाचे चरीत्र आणि चारित्र्य समजायला पुरेसा आहे)


पोस्ट यहां देखें और आर्काइव वर्ज़न यहां देखें

फ़ेसबुक पर एक अन्य यूज़र ने तस्वीर शेयर किया, जिसके कैप्शन में लिखा कि "याराना बहुत पुराना है, नहीं समझे? तो समझ लो यह तस्वीर बताती है अन्ना हजारे आजकल चुपचाप क्यों बैठा है अन्ना तुम देश में फ़ैली अफरा-तफरी और हर मुसीबत के लिए एकमात्र जिम्मेवार हो देश तुम्हें कभी माफ़ नहीं करेगा।"

पोस्ट यहां और आर्काइव यहां देखें

दुबई के पाम जुमेराह की तस्वीर लखनऊ के गोमती रिवर फ्रंट के रूप में वायरल

फ़ैक्ट चेक

बूम ने तस्वीर को रिवर्स इमेज पर सर्च किया तो हमें तस्वीर के साथ कई समाचार रिपोर्ट मिले, जिसमें कहा गया कि मोदी के साथ आरएसएस नेता लक्ष्मणराव इनामदार हैं। उन्हें संघ के दिनों में नरेंद मोदी का गुरु माना जाता था।

यह तस्वीर इंडिया टुडे की पत्रिका विंग द्वारा प्रकाशित एक 2014 की न्यूज़ स्टोरी में दिखाई देती है, जिसका शीर्षक है, "द मैन बिहाइंड मोदी : लक्ष्मणराव इनामदार"


तस्वीर के क्रेडिट लाइन में किसी को क्रेडिट नहीं दिया गया है, कैप्शन में लिखा है, "लक्ष्मण राव इनामदार के साथ नरेंद्र मोदी (बाएं), उनकी मृत्यु से पहले।" हमने इंडिया टुडे पत्रिका के आर्काइव के माध्यम से देखा और उसी मुद्दे पर द बिग स्टोरी की श्रेणी के तहत पत्रिका के 19 मई, 2014 के अंक में वही न्यूज़ स्टोरी और तस्वीर पाया। रिपोर्ट में इनामदार और मोदी के बीच दोस्ती का विवरण और दिवंगत दिग्गज नेता को आरएसएस में मोदी के उदय का श्रेय दिया गया है।

हमें आगे नरेंद्र मोदी की दुर्लभ तस्वीर से जुड़ी न्यूज़ 18 की एक रिपोर्ट मिली, जिसमें तस्वीर का क्रेडिट नरेंद्र मोदी ऐप को दिया गया है। तस्वीर यहां देखें

ख़बरों के मुताबिक़, मोदी ने इनामदार को अपना गुरु माना और गुजरात में आरएसएस के नेटवर्क का विस्तार करने में उनके साथ कई साल बिताए। आरएसएस नेता इनामदार को गुजरात में संघ के लिए युवा मोदी को बालस्वयंसेवक के रूप में भर्ती करने का श्रेय दिया जाता है। मोदी ने कई साक्षात्कारों में अपने जीवन में इनामदार की भूमिका के बारे में बात की और आरएसएस के वरिष्ठ नेता के कितने करीबी थे, उन्होंने उनके बारे में एक पुस्तक भी लिखी है, जिसका शीर्षक है, "वकील साहब लक्ष्मणराव इनामदार"।

महिला पर कुल्हाड़ी से हमला करते युवक का वीडियो 'लव जिहाद' के दावे से वायरल

Claim Review :   युवा नरेंद्र मोदी के साथ आरएसएस के सदस्य के रूप में अन्ना हजारे की दुर्लभ तस्वीर
Claimed By :  Social Media Users
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story