पाकिस्तान के हैदराबाद का दर्दनाक वीडियो भ्रामक दावों के साथ भारतीय फ़ेसबुक पेजेज़ पर वायरल

बूम ने पड़ताल में पाया की वायरल वीडियो भारत के हैदराबाद शहर का नहीं बल्कि पाकिस्तान में सिंध के हैदराबाद शहर का है

पाकिस्तान के हैदराबाद का एक दिल दहला देने वाला वीडियो कई भारतीय फ़ेसबुक पेजेज़ पर भ्रामक कैप्शंस के साथ वायरल है | वायरल वीडियो में कुछ लोग एक दिवार के साथ लगे मलबे के ढेर से मलबा हटते दिखाई दे रहे हैं | थोड़ी ही देर में वो एक छोटी बच्ची का शव बहार निकलते हैं और उसे उठा कर दूसरी तरफ चल पड़ते हैं | वीडियो में एक शख्स भी नज़र आता है जिसे पुलिसकर्मियों ने दोनों तरफ से पकड़ रखा है |

पोस्ट दो अलग अलग कैप्शंस के साथ वायरल है | कट्टर हिंदू राष्ट्र बनाना नामक पेज से शेयर किये गए इस वीडियो के साथ शेयर किया गया कैप्शन कहता है 'दिल दहला देने वाली खबर। 6 साल की बच्ची के साथ रेप किया मोहम्मद नामक युवक ने। इस दुष्ट ने हैदराबाद में छह साल की बच्ची के साथ बलात्कार किया। और न केवल उसका बलात्कार किया बल्कि उसे जिंदा दफन कर दिया। हाँ! उसने उसे ALIVE दफनाया। उन्होंने छोटी परी को यह कह कर साथ देने के लिए मना लिया कि वह उसकी नई ड्रेस खरीदेगी। उसके अंतिम विचार पछतावे से भरे होंगे। वह चिल्ला रही होगी कि वह नई पोशाक नहीं बल्कि अपनी माँ को चाहती हैं। बस उसके दर्द का अंदाजा लगाइए, आखिरी सांस लेते हुए वह कैसा महसूस कर रही होगी। कल्पना कीजिए। कृप्या। शायद इससे हमें उसकी आवाज बनने की हिम्मत मिले। #ज़ैनब की आवाज़ बनना और अन्य फ़रिश्ते की आवाज़ बनना। कल्पना कीजिए!'

15 जून से पूर्ण लॉकडाउन बताता ज़ी न्यूज़ का यह ग्राफ़िक फ़र्ज़ी है

वहीँ Yogi The Great कम नामक फ़ेसबुक पेज से शेयर किये गए इसी वीडियो के साथ कैप्शन में लिखा है 'दिल दहला देने वाली खबर। 6 साल की बच्ची के साथ रेप किया जैनब नामक युवक ने। इस दुष्ट ने हैदराबाद में छह साल की बच्ची के साथ बलात्कार किया। और न केवल उसका बलात्कार किया बल्कि उसे जिंदा दफन कर दिया।'

चूँकि वीडियो काफ़ी भयावह है, बूम ने उसे अपने होम पेज पर ना शेयर करने का फ़ैसला लिया है | आप वायरल पोस्ट यहां और यहां देख सकते हैं तथा उसके आर्काइव्ड वर्ज़न के लिए यहाँ क्लिक करें |



फ़ैक्ट चेक

बूम ने वीडियो के किफ़्रेम का रिवर्स इमेज सर्च किया तो मालुम हुआ की यह वीडियो कई पाकिस्तानी फ़ेसबुक पेजेस पर उर्दू कैप्शन के साथ शेयर किया गया है। इनमें से एक पोस्ट पाकिस्तान के एक न्यूज़ चैनल हम न्यूज़ का था जिसके फ़ेसबुक पेज पर हमें वायरल वीडियो का लंबा वर्जन मिला।

पोस्ट देखने के लिए यहाँ और आर्कायव के लिए यहाँ क्लिक करें।




इसके अलावा गूगल सर्च करने पर हमें 30 एप्रिल, 2020 और 2 मई, 2020 की दो न्यूज़ रिपोर्ट्स मिली जिसमें इस घटना की रिपोर्ट है।

न्यूज़ रिपोर्ट्स के मुताबिक सात साल की इस बच्ची की लाश क़ायद-ऐ-मिल्लत पार्क, हैदराबाद, सिंध से अप्रैल 29, 2020 को मिली थी | रिपोर्ट्स के मुताबिक बच्ची का बलात्कार करने के बाद उसकी लाश को यहाँ दफ़ना दिया गया था |

जी.ओ.आर पुलिस, हैदराबाद ने इस सिलसिले में सिद्दीक़ बंगाली नामक व्यक्ति को बतौर मुख्य अभियुक्त हिरासत में लिया था | बंगाली ने पुलिस को उस जगह की शिनाख्त कराइ थी जहां उसने बच्ची की लाश छुपाई थी | न्यूज़ रिपोर्ट्स के मुताबिक बंगाली ने पुलिस को ये भी बताया की वो बच्ची को नए कपड़े दिलाने के बहाने अपने साथ बहलाकर ले गया था |

जी नहीं, ये तस्वीर पाकिस्तान के कोवीड-19 आइसोलेशन वार्ड की नहीं है

इस दर्दनाक घटना ने सोशल मीडिया पर लोगो को काफ़ी उद्वेलित किया था और #JusticeforRukhsarOdho नाम से चल रही ट्विटर मुहीम ने हत्यारो को फ़ाँसी देने की डिमांड की थी |




Claim Review :   वायरल पोस्ट दावा करता है की हैदराबाद में एक मुस्लिम युवक ने छह साल की बच्ची का रेप और मर्डर कर दिया
Claimed By :  Facebook
Fact Check :  Misleading
Show Full Article
Next Story