नहीं, योगी आदित्यनाथ ने नहीं कहा कि, "ठाकुरों से गलतियां हो जाती है"

बूम ने पाया कि आजतक के बुलेटिन पर यह बयान अलग से जोड़ा गया है |

हिंदी न्यूज़ चैनल आजतक की एक बुलेटिन पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नाम से फ़र्ज़ी बयान सोशल मीडिया वायरल हो रहा है |

इस वायरल बयान में, जिसमें आज तक की एक बुलेटिन का स्क्रीनशॉट है, कहा जा रहा है कि योगी ने कहा, "ठाकुरों का खून गर्म है, ठाकुरों से गलतियां हो जाती हैं" |

बूम ने पाया कि आजतक बुलेटिन - जिसे 2 अक्टूबर को प्रसारित किया गया था - को फ़ोटोशॉप किया गया है |

उत्तर प्रदेश बीजेपी नेता की तस्वीर हाथरस गैंगरेप आरोपी का पिता बताकर वायरल

यह स्क्रीनशॉट हाथरस में हुए कथित गैंगरेप की घटना के बाद वायरल हो रहा है जिसनें पूरे देश को दहला दिया है | उत्तर प्रदेश के हाथरस में 14 सितम्बर, 2020, को चार ऊँची जाती के ठाकुर लोगों ने 19 वर्षीय एक दलित लड़की का कथित रेप कर उससे मारा और उसे घायल छोड़ दिया | इसके बाद पीड़िता ने 29 सितम्बर, 2020, को दिल्ली के सफदरजंग हॉस्पिटल में दम तोड़ दिया |

इस मामले में उत्तर प्रदेश पुलिस पर आरोप है कि पीढ़िता का अंतिम संस्कार उन्होंने बिना परिवारजनों से पूछे कर दिया | इसके बाद से जनता में आक्रोश का माहौल है और कई जगहों पर प्रदर्शन हो रहे हैं | यहाँ और यहाँ पढ़ें |

यह हिंदी में लिखा बयान कहता है: "ठाकुरो का खून होता है और बाकि लोगो का क्या खून नहीं पानी होता है..."

यही फ़ोटो हमें अपने टिपलाइन पर भी प्राप्त हुए |


यही स्क्रीनशॉट हिंदी कैप्शंस के साथ फ़ेसबुक पर वायरल है |




यह दावा ट्विटर पर भी वायरल है |

हाथरस पीड़िता के अंतिम संस्कार का लाइव प्रसारण देखते योगी आदित्यनाथ की तस्वीर फ़र्ज़ी है

फ़ैक्ट चेक

बूम ने हिंदी हैडलाइन के साथ कीवर्ड्स खोज की और कोई न्यूज़ रिपोर्ट नहीं पाई जिसमें वायरल बयान का उल्लेख हो |

योगी आदित्यनाथ के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर भी कोई ट्वीट वायरल बयान जैसा नहीं है | आजतक के लोगो के कारण बूम ने समान दावों के साथ खोज की | जबकि योगी आदित्यनाथ द्वारा ऐसे किसी भी बयान पर आजतक की कोई रिपोर्ट नहीं थी, हमें चैनल के आधिकारिक हैंडल पर एक वीडियो रिपोर्ट मिली जो हाथरस के एस.पी और डी.एस.पी के सस्पेंशन की खबर थी |

हिंदी में इस वीडियो रिपोर्ट में .56 सेकंड पर वायरल फ्रेम दिखाई देती है | इसका कैप्शन है: "हाथरस के DSP और SP पर गिरी गाज, @chitraaum दे रही हैं ताज़ा जानकारी"

नीचे दिया गया आज के वास्तविक बुलेटिन का स्क्रीनशॉट दिखाता है कि वही किकर है और योगी आदित्यनाथ उसी स्थिति में बैठे हैं जिस तरह वायरल पोस्ट में हैं |


बूम ने वास्तविक बुलेटिन के स्क्रीनशॉट और वायरल फ़र्ज़ी स्क्रीनशॉट की तुलना की और पाया कि दोनों के रंग में फ़र्क है | इसे नीचे देखें |


जी नहीं, वायरल हो रही यह तस्वीर हाथरस पीड़िता की नहीं है

Updated On: 2020-10-05T13:40:32+05:30
Claim Review :   योगी आदित्यनाथ ने कहा कि, ठाकुरों का खून गर्म है, ठाकुरों से गलतियां हो जाती हैं
Claimed By :  Social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story