सुदर्शन न्यूज़ के एडिटर ने तेलंगाना में रमज़ान गिफ़्ट पैकेट्स के वितरण को लेकर किया झूठा दावा

बूम ने जाँच करने पर पाया की सुरेश चव्हाणके द्वारा ट्वीट की गयी यह तस्वीर पुरानी है और इस साल कोविड-19 के चलते तेलंगाना सरकार ने रमज़ान गिफ़्ट पैकेट्स का वितरण नहीं किया है

सुदर्शन न्यूज़ के एडिटर इन चीफ़ सुरेश चव्हाणके ने रमज़ान गिफ़्ट पैकेट की एक पुरानी तस्वीर ट्वीट कर दावा किया की तेलंगाना की राज्य सरकार ने कोविड - 19 के कारण हुए लॉकडाउन के चलते इनका वितरण किया है।

बूम ने तेलंगाना सरकार द्वारा 27 अप्रैल, 2020 को जारी किया एक मेमो देखा जिसमें साफ़ लिखा है कि इस त्यौहार से जुड़े सभी कार्यक्रमों को कोरोनावायरस के चलते रद्द कर दिया गया है।

यह तस्वीर एक गुलाबी रंग के बैग की है जिसपर तेलंगाना सरकार का लोगो बना है और 'ईद मुबारक रमज़ान गिफ़्ट' लिखा हुआ है।

चव्हाणके ने इस तस्वीर को लॉकडाउन की स्थिति से ग़लत तरीक़े से जोड़कर ट्वीट किया । इस आर्टिकल को लिखने के समय तक उनके इस ट्वीट को 10,500 के ऊपर री - ट्वीट्स और 25,000 से ऊपर लाइक्स मिले हैं।

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है "तेलंगाना सरकार मुसलमानों को रमज़ान की स्पेशल किट फ्री में दे रही है । हिंदुओं के त्यौहार रामनवमी, हनुमान जयंती, उगादि पर घर से भी बाहर निकलना मना था ।"

बूम ने पहले भी चव्हाणके एवं सुदर्शन न्यूज़ द्वारा फैलायी ग़लत जानकारियों का पर्दाफ़ाश किया है। यहाँ और यहाँ पढ़ें |

फ़ेसबुक पर भी वायरल

इसी वाक्य के साथ फ़ेसबुक पर ढूँढने पर हमें यह तस्वीर इसी भ्रामक कैप्शन के साथ वायरल होती मिली


ट्विटर


फ़ैक्ट चेक

गूगल द्वारा रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमने पाया की यह वायरल तस्वीर 2015 की है । सर्च करने पर हमें जुलाई 2015 का एक आर्टिकल मिला जिसमें यही तस्वीर थी और लिखा था कि तेलंगाना राज्य सरकार ग़रीब मुसलमान परिवारों को रमज़ान के दौरान यह 500-500 रुपयों के गिफ़्ट पैकेट बाँटेगी ।

हम यह तो नहीं जान पाए की यह तस्वीर कब खींची गयी थी किंतु यह 2015 से भी पुरानी हो इसकी संभावना है।


तेलंगाना की राज्य सरकार ने पूर्व में रमज़ान के गिफ़्ट पैकेट बाँटे ज़रूर है किंतु इस वर्ष कोरोनावायरस के चलते ऐसा नहीं किया । मायनॉरिटीज़ वेल्फ़ेर डिपार्टमेंट ने 27 अप्रैल, 2020 को एक मेमो जारी किया था जिसमें लिखा था की कोविड -19 के चलते रमज़ान से जुड़ी सभी गतिविधियों को रद्द किया गया है।


तेलंगाना सरकार के डिजिटल मीडिया डायरेक्टर दिलीप कोनाथम ने कहा: राज्य सरकार कोरोनावायरस के कारण इस वर्ष रमज़ान गिफ़्ट नहीं दे रही है ।

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चन्द्रसेखर राव ने हाल ही में हुई एक प्रेस कॉन्फ़रंस में कहा था कि रमज़ान गिफ़्ट बैग्ज़ का वितरण इस वर्ष नहीं किया जाएगा क्यूँकि लोग अपने हाथ से उन्हें छुएंगे और वायरस के संक्रमण का ख़तरा इससे बढ़ जाएगा ।

तेलंगाना राष्ट्र समिति नेता और पार्टी के सोशल मीडिया हेड, क्रिशंक मन्ने ने प्रेस कॉन्फ़रंस से इस क्लिप को ट्वीट करके चव्हाणके द्वारा किए ट्वीट को ग़लत बताया।

बूम ने मन्ने से सम्पर्क किया जिन्होंने इस बात की पुष्टि की के इस वर्ष सरकार ने रमज़ान गिफ़्ट पैकेट का वितरण नहीं किया और यह भी बताया की सरकार ऐसे किट अन्य त्यौहार जैसे दशहरा के दिन भी बाँटती है ।

'गिफ़्ट', 'क्रिसमस' और 'दशहरा' जैसे शब्दों का कीवर्ड सर्च करके हमें कई न्यूज़ रिपोर्ट मिले जिनके अनुसार तेलंगाना सरकार अन्य त्यौहारों जैसे क्रिसमस और बथुकम्मा के समय भी ग़रीबों में तोह्फ़े बाँटने का कार्य करती है।

इस दावे को पहले न्यूज़मीटर ने ग़लत ठहराया था।

तेलंगाना में अब तक 1,326 पॉज़िटिव कोरोनावायरस मामले सामने आए हैं और 32 लोगों की इससे मौत हो चुकी है ।

न्यूज़मीटर से इनपुट्स के साथ |

Claim Review :  पोस्ट दावा करता है की तेलंगाना सरकार ने लॉक्डाउन के बीच रमज़ान के गिफ़्ट पैकेट का वितरण किया
Claimed By :  Suresh Chavhanke
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story