नरेंद्र मोदी ने फडणवीस के इस्तीफ़े पर यह वायरल ट्वीट नहीं किया

बूम ने पाया की पीएम मोदी ने अपने करीबी सहयोगी और आरएसएस नेता प्रफुल्भाई दोशी की मौत के बाद जुलाई 2016 में किया था

अपने पुराने सहयोगी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के नेता प्रफुल्लभाई दोषी के निधन के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का तीन साल पुराना ट्वीट ग़लत दावे के साथ फैलाया जा रहा है। दावा किया जा रहा है कि 27 नवंबर, 2019 को महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के इस्तीफ़े के बाद मोदी ने यह ट्वीट किया है।

प्रधान मंत्री द्वारा दो ट्वीट्स के स्क्रीनशॉट के साथ एक कोलाज फ़ेसबुक पर कैप्शन के साथ शेयर किया जा रहा है, जिसमें लिखा है, "मुख्यमंत्री फडणवीस के इस्तीफ़े के बाद प्रधानमंत्री मोदी की पहली प्रतिक्रिया ।"

फेसबुक पोस्ट

अर्काइव के लिए यहां देखें

फ़ेसबुक पोस्ट


अर्काइव के लिए यहां देखें

फ़ैक्ट चेक

हमने ट्विटर कीवर्ड खोज और वायरल ट्वीट के शुरुआती शब्दों का उपयोग करते हुए ट्विटर पर पीएम मोदी के हवाले से फैलाई जा रही दूसरे ट्वीट की खोज की, ( नरेंद्रमोदी 'कभी-कभी अपार आनंद ")। परिणाम से पता चला कि उन्होंने इसे 13 जुलाई, 2016 को ट्वीट किया था और हाल ही में पोस्ट किया गया ट्वीट नहीं था, जैसा कि पोस्ट में दावा किया गया था।

पीएम मोदी ने यह ट्वीट अपने पुराने सहयोगी और आरएसएस के वरिष्ठ नेता प्रफुल्लभाई दोशी की मौत के बाद किया था, जिससे उन्होंने उसी सुबह मुलाकात की थी, जैसा कि 14 जुलाई 2016 की प्रेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया की रिपोर्ट में कहा गया है।

मोदी ने ट्वीट कर कहा, "हम शाम को 5 बजे मिले और कुछ देर बाद मुझे पता चला कि उनके साथ यह मेरी आखिरी मुलाकात थी।"

फडणवीस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के नेता अजीत पवार ने 23 नवंबर, 2019 को शनिवार को एक शांत समारोह में सीएम और डिप्टी सीएम के रूप में शपथ ली थी, लेकिन बाद में 26 नवंबर, 2019 को इस्तीफा देना पड़ा, क्योंकि भाजपा के पास सरकार बनाने के लिए पर्याप्त संख्या नहीं थी।


पीएम मोदी द्वारा कोलाज में शामिल पहला ट्वीट, फडणवीस और अजीत पवार ने शपथ लेने के बाद किया गया था।जिसके बाद उन्होंने ट्वीट कर उन्हें बधाई दी। लेकिन फडणवीस के इस्तीफे के बाद प्रधानमंत्री द्वारा कोई ट्वीट हमने नहीं देखा।

Claim Review :  प्रधान मंत्री की देवेंद्र फडणवीस के इस्तीफे पर पहली प्रतिक्रिया
Claimed By :  Facebook pages
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story