नहीं, भाजपा कर्नाटक के आधिकारिक हैंडल ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को 'डॉग' नहीं कहा

बूम ने पाया कि यह ट्वीट बीजेपी4कर्नाटक के पैरोडी अकाउंट से है न कि पार्टी के आधिकारिक हैंडल से किया गया है।

ट्वीटर पर एक ट्वीट तेजी से वायरल हो रहा है। ट्वीट में पूर्व कांग्रेस और अब भाजपा में शामिल नेता, ज्योतिरादित्य सिंधिया के लिए अपमानजनक संदर्भ में टेक्स्ट दिया गया है। ऐसा दावा किया जा रहा है कि यह भाजपा कर्नाटक के आधिकारिक हैंडल से किया गया ट्वीट है। लेकिन हमने जांच में पाया कि यह ख़बर फ़र्ज़ी है और एक पैरोडी अकाउंट से किया गया है।

सिंधिया ने अपने आवास पर गृह मंत्री अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करने के तुरंत बाद 10 मार्च, 2020 को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से अपने इस्तीफ़े की घोषणा की। इसके बाद ही @BJP4Karnatakaa हैंडल से किया गया ट्वीट वायरल हो रहा है।

पैरोडी अकाउंट ने 9 मार्च 2020 को सोनिया गांधी को सिंधिया का इस्तीफ़ा ट्वीट किया और लिखा, "होली के इस शुभ अवसर पर, हमने एक नया कुत्ता ख़रीदा है।" ट्वीट को 2,300 से ज्यादा रीट्वीट और 6,600 से ज्यादा लाइक मिले हैं।

यह भी पढ़ें: दैनिक भास्कर, अमर उजाला और स्वराज्य ने सिंधिया के बयान को ग़लत पेश किया

ट्वीट पर दिए गए कई जवाबों से पता चलता है कि बहुत से लोगों ने यह जानने के पहले कि यह पैरोडी अकाउंट हैं, इस सच मान लिया था।

ट्वीट का स्क्रीनशॉट व्हाट्सएप्प पर भी शेयर हो रहा है और कांग्रेस के सोशल मीडिया सेल के सदस्यों द्वारा भी शेयर किए जा रहे हैं।


पैरोडी अकाउंट

अकाउंट @BJP4Karnatakaa एक पैरोडी अकाउंट है। यह असत्यापित है और इसके डिसप्ले नेम और प्रोफ़ाइल URL में 'कर्नाटक' में एक अतिरिक्त अल्फाबेट 'ए' है। यह अकाउंट 16 अप्रैल, 2019 को बनाया गया था और जिसने अब तक लगभग 62 ट्वीट थे। अकाउंट की प्रोफ़ाइल पर जाने से यह स्पष्ट हो जाता है कि यह एक पैरोडी अकाउंट है।

यह भी पढ़ें: नहीं इस तस्वीर में कांग्रेस नेताओं के साथ जस्टिस मुरलीधर नहीं हैं


पैरोडी अकाउंट में 1,100 फॉलोअर थे और इस कहानी को लिखने के समय असली BJP4Karnataka (वास्तविक) अकाउंट को फॉलो कर रहे थे।

हम बता दें कि भाजपा कर्णाटक का हैंडल BJP4Karnataka अकाउंट सत्यापित है और ट्विटर पर उसके 3,68,500 से ज्यादा फॉलोअर्स हैं।


ऐसी अफ़वाह थी कि 49 वर्षीय ज्योतिरादित्य सिंधिया, वरिष्ठ कांग्रेस नेतृत्व से नाखुश थे। होली के दिन बड़े की नाटकीय मोड़ पर सिंधिया ने गृह मंत्री और प्रधानमंत्री से मुलाकात की। इसके तुरंत बाद उन्होंने 9 मार्च, 2020 का एक पत्र ट्वीट करके अपने इस्तीफ़े की घोषणा की। इस बीच कांग्रेस ने उन्हें पार्टी से निकाल दिया।

Claim Review :  भाजपा कर्नाटक ने ज्योतिरादित्य सिंधीअ को कुत्ता कहा
Claimed By :  BJP4Karnatakaa (parody account)
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story