जी नहीं, इस वायरल पोस्ट में योगी आदित्यनाथ की पत्नी और बेटियों के बारे में बात नहीं हो रही है

वायरल पोस्ट एक टीवी ब्लूपर प्रतीत होता है | बूम ने पाया की असल खबर दरअसल उत्तराखंड के मुख्यमंत्री के बारे में थी |

एक न्यूज़ बुलेटिन का स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर ज़ोर शोर से शेयर किया जा रहा है | वायरल पोस्ट में ब्रेकिंग न्यूज़ के नीचे खबर है 'सी.एम की बेटी कृति रावत ने 50 हजार का चेक राहत कोष में दिया," वहीँ टिकर वाली जगह पर लिखा हुआ है "सीएम योगी की पत्नी सुनीता रावत ने 1 लाख रूपए दिए |

बूम ने पाया की तस्वीर में दिख रही न्यूज़ बुलेटिन का स्क्रीनशॉट दरअसल ऐ.पी.एन न्यूज़ का है | बूम ने ऐ.पी.एन न्यूज़ से इस बाबत ज़्यादा जानकारी लेने के लिए संपर्क करना चाहा पर हमारी उनसे बात नहीं हो पाई | बूम ने ये भी पता लगाया की जो स्क्रीनशॉट वायरल हुआ है, उसमे दी गई खबर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से जुड़ी हुई है और इसका उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से कोई लेना देना नहीं है |

हमने ये भी पता लगाया की उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपनी पांच महीनों की तनख्वाह, उनकी पत्नी सुनीता रावत ने एक लाख रुपये और उनकी दोनों बेटियों ने करीब 52,000 रूपए का योगदान चीफ़ मिनिस्टर रिलीफ़ फ़ंड में दिया है |

वॉयरल पोस्ट में शेयर किया गया स्क्रीनशॉट एक ब्लूपर (गलती) हो सकता है |

यह भी पढ़ें: इमरान खान की पत्नी कोविड-19 से संक्रमित: आज तक के नाम से फ़र्ज़ी स्क्रीनशॉट वायरल

हालांकि इस ब्लूपर से जोड़ कर अब काफ़ी फ़र्ज़ी पोस्ट्स सोशल मीडिया पर शेयर किये जा रहे हैं | किसी पोस्ट में कैप्शन है "योगी जी की पत्नी और बेटी भी है" तो किसी में लिखा है "ओ मेरी गैया जे का देख लियो"

बूम को ये तस्वीर हमारे हेल्पलाइन नंबर पर भी मिली जहां लोगो ने इसकी सच्चाई जानने का आग्रह किया है | इन पोस्ट्स को नीचे देखें:



पिछले साल दिसंबर में शुरू हुए कोविड-19 संक्रमण को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने एक महामारी का दर्ज़ा दिया है | इस महामारी ने भारत में करीब तीन सौ से ज़्यादा जानें ली है |

इस महामारी पर बूम का कवरेज यहाँ फॉलो करें |

फ़ैक्ट चेक

बूम को अपनी खोज में ऐसी कोई भी मीडिया रिपोर्ट या डाक्यूमेंट्स नहीं मिलें जिसमें योगी आदित्यनाथ की पत्नी या बेटियों का ज़िक्र हो | हमें यह भी पता चला की योगी आदित्यनाथ शादीशुदा नहीं है एवं उन्होंने 22 वर्ष की उम्र में घर छोड़ संन्यास ले लिया था | यहाँ पढ़ें |

बूम ने फिर कृति रावत के नाम से खोज की और फ़ेसबूक पर त्रिवेंद्र सिंह रावत की एक पोस्ट पाई जिसमें उनकी दोनों बेटियों के साथ एक तस्वीर थी। कृति रावत उनकी बड़ी बेटी है। वायरल पोस्ट में फ़र्ज़ी तरह से इन्हें योगी आदित्यनाथ की बेटी बताया गया है।

इसके बाद हमनें "सुनीता रावत" के नाम से सर्च किया | यही नाम वायरल पोस्ट में शेयर किये गए स्क्रीनशॉट में भी है | हमें एशियन न्यूज़ इंटरनेशनल (ऐ.एन.आई) वायर एजेंसी का एक ट्वीट मिला जिससे सारा मामला साफ़ हो गया |

ट्वीट में लिखा है "उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपनी पांच महीने की तनख़्वाह मुख्यमंत्री राहत कोष में देने का निर्णय लिया है | मुख्यमंत्री की पत्नी सुनीता रावत ने एक लाख और दो बेटियों ने 52,000 रूपए इस कोष में दान दिए हैं: मुख्यमंत्री कार्यालय."

इसी खबर के बारे में में बात करता टाइम्स ऑफ़ इंडिया का एक लेख भी हमें मिला | इस लेख में भी यही जानकारी दी गयी है की कैसे मुख्यमंत्री का पूरा परिवार इस विपदा की घड़ी में सहायतार्थ अपना योगदान दे रहा है|



Updated On: 2020-04-14T14:55:18+05:30
Claim Review :   योगी आदित्यनाथ की पत्नी ने रहत कोष में दिए पैसे
Claimed By :  Social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story