अर्नब गोस्वामी के वीडियो मेटाडाटा से जुड़े भ्रामक दावों ने सोशल मीडिया पर सनसनी फ़ैलाई

यह वीडियो अर्नब गोस्वामी और उनकी पत्नी समयाब्रता रे गोस्वामी पर हुए कथित हमले के बाद बनाया गया है

सोशल मीडिया पर हाल ही में अर्नब गोस्वामी और उनकी पत्नी समयाब्रता रे गोस्वामी पर हुए हमले के डिटेल्स को ले कर काफी बवाल मचा हुआ है | कई लोगों ने वीडियो को सोशल मीडिया और रिपब्लिक न्यूज़ चैनल पर दिखाने और उसकी घोषणा करने के पुरे घटनाक्रम पर ही संदेह जताया है |

सोशल मीडिया यूज़र्स फिर रिपब्लिक चैनल द्वारा शेयर किये गए मेटाडाटा को ही फ़ैलाने लगे जिससे यह साबित करने की कोशिश हुई की वीडियो को कतिथ हमले के बाद रिकॉर्ड किया गया | इनमें से कुछ लोगों ने प्रभावशाली हस्तियों की तरफ़ यह कहकर इशारा किया की उन्होंने गोस्वामी का समर्थन करते हुए रिपब्लिक चैनल से पहले ही घटना के बारे में ट्वीट किया था |



पहला दावा: मेटाडाटा दिखाता है की वीडियो कथित हमला होने से पहले बना है

राजनैतिक विश्लेषक गौरव पांधी ने इस मेटाडाटा को पोस्ट कर यह दावा किया की यह उस वीडियो फ़ाइल का है जिसमें गोस्वामी का रिकार्डेड मैसेज है | मेटाडाटा फ़ाइल के उस डाटा सेट को कहा जाता है जिसमें फ़ाइल की सारी सुचना मौजूद होती है |


पांधी द्वारा पोस्ट किया गया मेटाडाटा - जोकि metadata2go नामक वेबसाइट के ज़रिये निकाला गया - दिखाता है की वीडियो को अप्रैल 22, 2020 रात 8:17 बजे बनाया गया है | जबकि गोस्वामी ने वीडियो में कहा है की कथित हमला उनपर अप्रैल 23 को सुबह 12:15 बजे पर हुआ, जो मेटाडाटा में दिए समय से चार घंटे बाद का समय है | पुलिस को की गयी शिकायत में भी उन्होंने 12:15 am को ही कथित हमले की वारदात का समय बताते हुए दर्ज किया है |

पोस्ट का स्क्रीनशॉट जल्द ही वायरल होने लगा और बूम को हेल्पलाइन पर इसके जांच के लिए कई लोगो ने अनुरोध किया |



कुछ लोगों ने स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए यह भी आशंका जताई की कथित हमला गोस्वामी द्वारा पहले से प्लान किया गया था |

दूसरा दावा : कुछ लोग रिपब्लिक टीवी पर हमले की घोषणा होने से पहले गोस्वामी के समर्थन में उतर आये

वायरल हो रहे स्क्रीनशॉट्स में यह दिखाने की कोशिश की जा रही है की संबित पात्रा और अशोक पंडित जैसी कुछ प्रसिद्ध हस्तियां गोस्वामी का समर्थन घटना के बारे में रिपब्लिक चैनल द्वारा घोषणा किये जाने से पहले ही करने लगे |



फ़ैक्ट चेक

पहला दावा

मेटाडाटा वेबसाइट metadata2go, बाकी अन्य मेटाडाटा ऍक्सट्रैक्ट करने वाली वेबसाइट्स की तरह फ़ाइल बनाने के समय और स्थान को जीएमटी समय प्रणाली (जो आईएसटी प्रणाली से 5:30 घंटे पीछे है ) में बताती है | इस प्रकार पांधी की ओर से पोस्ट किये गए मेटाडाटा में फ़ाइल बनने का समय सुबह 01.47 बजे का है - बिलकुल जिस समय रिपब्लिक ने वीडियो को ट्वीट किया है |




सोशल मीडिया वेबसाइट्स जैसे यूट्यूब और ट्विटर वीडियो अपलोड होते ही फ़ाइल का मेटाडाटा हटा देतें है और साइट पर अपलोड और पब्लिश होने का डाटा ही इस्तेमाल करते हैं | बूम से हुई बातचीत में पांधी ने यह साफ़ किया की यह मेटाडाटा रिपब्लिक टीवी द्वारा ट्विटर पर शेयर किये गए वीडियो का है | पांधी ने यह दावा किया की उन्होंने इस वीडियो को ट्विटर से डाउनलोड करने के बाद वेबसाइट पर डाला |


हमनें इस वीडियो को ट्विटर से ही डाउनलोड कर metadata2go वेबसाइट पर अपलोड किया और पांधी द्वारा की गयी पोस्ट से पूर्ण रूप से मेल खाती रिपोर्ट पायी लेकिन जीएमटी (आईएसटी-5:30 घंटे) समय के अनुसार |



इससे यह सिद्ध होता है की यह मेटाडाटा रिपब्लिक टीवी के ट्विटर अकाउंट पर प्रकाशित वीडियो से ही है | इसलिए यह मेटाडाटा फ़ाइल वीडियो को हकीक़त में हुई रिकॉर्डिंग करने की जानकारी नहीं बताती है बल्कि इसके ट्विटर पर शेयर होने का समय बताती है |

हमनें रिपब्लिक वेबसाइट पर डाले गए इस वीडियो को भी जांचा जिसका फ़ाइल नाम देखा जा सकता है | उस में दी गयी जानकारी से मालूम होता है की यह फ़ाइल व्हाट्सएप्प के माध्यम से देर रात 1.39 बजे भेजी गयी है |



बूम स्वतंत्र रूप से इसकी पुष्टि नहीं कर सकता की वीडियो ठीक किस समय रिकॉर्ड किया गया था क्यूंकि वीडियो का सही मेटाडाटा सिर्फ़ उसे रिकॉर्ड करने वाले डिवाइस से ही मिल सकता है |

दूसरा दावा

यह कहना, की कुछ लोग रिपब्लिक टीवी पर हमले की घोषणा से पहले ही गोस्वामी के समर्थन में ट्वीट कर रहे थे, भी गलत होगा |

स्क्रीनशॉट्स की माने तो रिपब्लिक टीवी ने वीडियो द्वारा घोषणा रात 1:06 बजे की जबकि पात्रा और पंडित ने ट्वीट कर यह सूचना पहले कर दी |



हालाँकि कतिथ हमले की घोषणा रिपब्लिक टीवी पर उनके ट्वीट से कम से कम 40 मिनट पहले हो चुका था | नीचे दिए गए स्क्रीन की तस्वीर से पता लगता है की टीवी पर यह सूचना रात 12:35 पर गोस्वामी के एक डिबेट के रीप्ले के दौरान टिकर में बताई गयी |



गोस्वामी और उनकी पत्नी पर घर लौटते वक़्त बुधवार रात को यह हमला हुआ जिसके बाद उन्होंने ने एक वीडियो रिलीज़ कर यह कहा की उन पर यह हमला देर रात 12:15 पर हुआ | न्यूज़ एजेंसी ANI के मुताबिक इस मामले में दो युवकों को हिरासत में लिया गया है |


बूम ने अर्नब गोस्वामी से इस मसले को लेकर संपर्क साधने की कोशिश की | उनका बयान मिलते ही इस लेख को अपडेट किया जाएगा |


Claim Review :   मेटाडाटा के स्क्रीन शॉट से दावा की वीडियो को घटना के समय से पहले रिकॉर्ड किया गया है
Claimed By :  Gaurav Pandhi
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story