अरविंद केजरीवाल और इमरान खान की तस्वीर दिल्ली चुनाव से पहले फिर वायरल

बूम ने पाया कि यह तस्वीर मई 2016 में ली गई थी जब इमरान खान दिल्ली में अरविंद केजरीवाल से मिलने गए थे।

2016 में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अरविंद केजरीवाल से दिल्ली स्थित उनके आवास पर मुलाकात की थी। इस मुलाकात की तस्वीर को ग़लत दावे के साथ फिर फैलाया जा रहा है। दावा किया जा रहा है कि 8 फरवरी को होने वाले दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले दोनों की फिर मुलाकात हुई है।

यह भी दावा किया जा रहा है कि केजरीवाल की आम आदमी पार्टी (आप) पाकिस्तान द्वारा समर्थित है और दिल्ली चुनाव से पहले खान ने शुभकामनाएं दी हैं। पोस्ट के साथ हिंदी में कैप्शन दिया गया है जिसमें लिखा है, "दिल्ली चुनाव से पहले ये दिल्ली वासियों को दिखाना जरुरी है उधर मोदी जी पाकिस्तान को उसकी औकात दिखा रहे और इधर ये केजरीवाल दिल्ली चुनाव जीतने के लिए भारत के दुश्मन से जाकर हाथ मिला रहा है दिल्ली वालों वो वोट सोच समझ कर देना ये सोचना आपका एक केजरीवाल को वोट दिल्ली को मिनी पाकिस्तान बना सकता है।"

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान के प्रधान मंत्री इमरान खान नरेंद्र मोदी से छुपने की कोशिश नहीं कर रहे, यह तस्वीर फ़ोटोशॉप्ड है

नीचे ऐसे ही पोस्ट दिया गया है।

पोस्ट यहां अर्काइव किया गया है।

एक अन्य पोस्ट में बताया गया है कि क्यों केजरीवाल को चुनाव जीतने के लिए खान के साथ मिलकर काम करना पड़ा। पोस्ट के साथ दिए गए कैप्शन में लिखा है, 'केजरीवाल को दिल्ली चुनाव जीतने के लिये पाकिस्तान से क्यो हाथ मिलाना पड़ा ?'' पोस्ट यहां अर्काइव किया गया है।

जबकि एक अन्य पोस्ट में केजरीवाल के साथ खान की कई तस्वीरों का इस्तेमाल किया गया है और एक पुराने ट्वीट के स्क्रीनशॉट में झूठा दावा किया गया है| जिसमें लिखा है, "पाकिस्तान सरकार ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में bjp को हराने के लिए लोगों से अपील की है ताकि पाक परस्त केजरीवाल फिर से cm बन सके.... #पाकिस्तान_का_हाथ_केजरीवाल_के_साथ।"

यहां पोस्ट अर्काइव किया गया है।

यह भी पढ़ें: फ़र्ज़ी अख़बार क्लिप का दावा: कॉलेज में केजरीवाल पर लगा था बलात्कार का आरोप

फ़ैक्ट चेक

प्रासंगिक कीवर्ड खोजों पर, बूम ने पाया कि इमरान खान मई, 2016 में दिल्ली की अपनी यात्रा के दौरान केजरीवाल से मिले थे। दोनों राजधानी के फ्लैगस्टाफ रोड में केजरीवाल के आवास पर मिले थे और इसी संबंध में ट्वीट भी किया था।

उनकी बैठक की एक विस्तारित क्लिप नीचे देखी जा सकती है, जिसे दिल्ली सरकार के यूट्यूब चैनल द्वारा अपलोड किया गया था। खान हाल के दिनों में केजरीवाल से नहीं मिले हैं।


वास्तव में केजरीवाल ने हाल ही में पाकिस्तान के विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री चौधरी फवाद हुसैन को निशाने पर लिया जिन्होंने लोगों से दिल्ली चुनाव में बीजेपी को हराने की बात कही थी। केजरीवाल ने कहा कि पाकिस्तान के मंत्री को "भारत के आंतरिक मामलों में दखल नहीं देना चाहिए।"

यह तस्वीर 2018 में भी वायरल हुई थी जब जब द क्विंट ने उन्हें ख़ारिज किया था। फ़ैक्ट चेक यहां पढ़ें

पाकिस्तान का आप के लिए समर्थन? मंत्री का फ़र्ज़ी ट्वीट

पाकिस्तानी सेना के पूर्व इंटर सर्विस इंटेलिजेंस (आईएसआई) डीजी, हामिद गुल के असत्यापित हैंडल के एक ट्वीट के स्क्रीनशॉट का इस्तेमाल फ़ेसबुक पोस्ट में यह दावा करने के लिए किया गया है कि पाकिस्तान ने भारतीय नेटिज़ेंस से आप को वोट देने का आग्रह किया है।

बूम ने पाया कि ट्वीट को @GenHameedGul हैंडल से मई 2015 में शेयर किया गया था। गुल की अगस्त, 2015 में मौत हो गई थी। यह ट्वीट फ़र्ज़ी प्रतीत होता है क्योंकि उस साल दिसंबर में भी ट्वीट शेयर किए गए थे।

पोस्ट द्वारा शेयर किया गया ट्वीट



Claim Review :   दिल्ली चुनाव से पहले इमरान खान से मिले अरविन्द केजरीवाल
Claimed By :  Facebook
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story