फ़र्ज़ी स्क्रीनशॉट का दावा, संबित पात्रा की 'बेटी' मुस्लिम युवक संग फ़रार

एबीपी न्यूज़ बुलेटिन के स्क्रीनशॉट को एक ब्रेकिंग न्यूज़ टेम्पलेट और संबित पात्रा की एक असंबंधित तस्वीर का उपयोग करके बनाया गया था।

सोशल मीडिया पर 'लव जिहाद' (Love Jihad) के बारे में भ्रामक और फ़र्ज़ी ख़बरों का प्रवाह थमने का नाम नहीं ले रहा है। फ़ेसबुक पर वायरल एबीपी न्यूज़ के स्क्रीनशॉट में दावा किया गया है कि भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा की 'बेटी' (daughter) ने मुस्लिम (Muslim) युवक के साथ शादी कर ली है। वायरल पोस्ट का दावा फ़र्ज़ी है और इसे एक 'मीम जनरेटर' वेबसाइट का उपयोग करके बनाया गया है।

बूम ने पाया कि वायरल एबीपी न्यूज़ (ABP News) बुलेटिन के स्क्रीनशॉट को एक ब्रेकिंग न्यूज़ टेम्पलेट और संबित पात्रा (Sambit Patra) की एक असंबंधित तस्वीर का उपयोग करके बनाया गया था।

गौरतलब है कि देशभर में इस समय 'लव जिहाद' का मुद्दा गरमाया हुआ है। कई दक्षिणपंथी संगठन कथित लव जिहाद को मुस्लिम समुदाय के षडयंत्र के तौर पर पेश कर रहे हैं। हाल के दिनों में हरियाणा और उत्तर प्रदेश सहित कई बीजेपी (BJP) शासित राज्यों ने 'लव जिहाद' के ख़िलाफ़ कानून लाने की बात कही थी। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार बाक़ायदा इसके ख़िलाफ़ अध्यादेश भी पारित कर चुकी है। इन्हीं मुद्दों की पृष्ठभूमि में स्क्रीनशॉट वायरल हो रहा है।

उत्तर प्रदेश में अगले छह महीनों के लिए एस्मा लागू

फ़ेसबुक पर स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए एक यूज़र ने कैप्शन में लिखा कि "गो** पात्रा कि बेटी लव जिहाद की आरोपी"

पोस्ट का आर्काइव वर्ज़न यहां देखें।

एबीपी न्यूज़ का यह एडिटेड स्क्रीनशॉट फ़ेसबुक पर बड़े पैमाने पर शेयर किया गया है।


नहीं, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने नहीं दिया है यह वायरल बयान

फ़ैक्ट चेक

बूम ने वायरल स्क्रीनशॉट के दावे की सत्यता की जांचने के लिए संबित पात्रा से जुड़ी कई न्यूज़ रिपोर्ट खंगाली, लेकिन इस मामले से जुड़ी कोई मीडिया रिपोर्ट नहीं मिली।

वायरल पोस्ट के दायीं तरफ़ ऊपर की ओर देखने पर हमें लोगो दिखा जिसे छुपाने की कोशिश की गयी थी।


बूम ने पहले इस तरह के दावों को पहले भी ख़ारिज किया था जिसे 'ब्रेक योर ओन न्यूज़' टेम्पलेट जनरेटर की मदद से बनाया गया था।


इस वेबसाइट का उपयोग करके कोई भी व्यक्ति तस्वीर लेकर मनमाफ़िक शीर्षक और टिकर लगाकर एक 'ब्रेकिंग न्यूज़' मीम बना सकता है।

हमने वायरल स्क्रीनशॉट में इस्तेमाल की गयी संबित पात्रा की तस्वीर का पता लगाया।


हालांकि बूम इंटरनेट से संबित पात्रा के परिवार के बारे में विश्वसनीय जानकारी नहीं जुटा सका।

हालांकि यह पहला मामला नहीं है जब एबीपी न्यूज़ के न्यूज़ फ़्लैश के स्क्रीनशॉट को एडिट करके फ़र्ज़ी ख़बर फैलायी गयी है, इससे पहले बूम ने उत्तर प्रदेश में छात्रवृत्ति के संबंध में फ़ेक न्यूज़ झूठ का फ़ैक्ट चेक किया था।

क्या सच में इस साल उत्तर प्रदेश के छात्रों को स्कॉलरशिप नहीं मिलेगी?

Updated On: 2020-11-26T16:58:46+05:30
Claim Review :   संबित पात्रा की बेटी मुस्लिम युवक के साथ भाग गयी
Claimed By :  Facebook Users
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story