क्या राहुल गाँधी ने 'चीलों के बीच बेरोज़गारी' कि बात की? नहीं, वीडियो फ़र्ज़ी है

बूम ने वास्तविक भाषण का वीडियो देखा और पाया कि राहुल गाँधी ने गंदगी होने के कारण आसमान में मंडरा रही चीलों का उल्लेख किया था|

करीब 50 सेकंड का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है| इसमें कांग्रेस के नेता और वायनाड से कांग्रेस सांसद राहुल गाँधी का भाषण है| इस भाषण को फ़र्ज़ी दावों के साथ वायरल किया जा रहा है| दरअसल यह भाषण व्यंगात्मक तौर पर काटा-छांटा गया है| वास्तविक वीडियो एकदम अलग है|

इस क्लिप में राहुल गाँधी बोल तो रहे हैं पर बीच बीच में उनका मज़ाक बनाते हुए अलग अलग तस्वीरें और मीम का इस्तेमाल किया गया है|

वीडियो देखने पर लगता है कि राहुल गाँधी चीलों के बीच बेरोजगारी कि बात कर रहे हैं और इस बेरोजगारी का ज़िम्मेदार बीजेपी को ठहरा रहे हैं| इस वीडियो में चील उड़ते हुए दिख रहे हैं| यह हिस्सा कहीं और से लिया गया है जिसे चतुराई से इस वीडियो में जोड़ा गया है| वास्तविक वीडियो में राहुल एक अलग संदर्भ में बीजेपी कि बात करते हैं, उससे भी छेड़खानी कर जोड़ा गया है|

बूम ने पूरा वीडियो देखा। पुरे वीडियो में राहुल ने बातें एकदम अलग संदर्भ में की हैं। वास्तविक वीडियो दिल्ली चुनाव के वक़्त राहुल गाँधी के एक भाषण का है|

यह भी पढ़ें: लॉकडाउन के दौरान मेन्टल हेल्थ का ख्याल रखें, मानसिक समस्याओं को ना करें नज़रअंदाज़

नीचे वायरल पोस्ट्स देखें और इसका आर्काइव्ड वर्शन यहाँ देखें| इस लेख के लिखने तक इस पोस्ट को 4,200 बार शेयर किया जा चूका है और करीब 2 लाख 4 हज़ार बार देखा जा चूका है|

यह वीडियो पिछले तीन महीनों से वायरल हो रहा है| नीचे कुछ पुराने पोस्ट भी देखें|

फ़ैक्टचेक

बूम ने जब भाषण से मिलते जुलते कीवर्ड्स खोज किए तो पाया कि वास्तविक वीडियो 5 फ़रवरी 2020 को दिल्ली के कुंडली में हुए राहुल गाँधी के एक भाषण से है|

यह भाषण करीब 23 मिनट लम्बा है| इसी भाषण के हिस्सों के साथ छेड़खानी कि गयी है और एक साथ जोड़कर 50 सेकंड कि एक क्लिप बनाई गयी है| पूरा भाषण नीचे सुना जा सकता है|

इसमें 9 मिनट 45 सेकंड के बाद राहुल गाँधी कहते हैं, "कोई बता सकता है यह जो चील यहां घूम रहे है क्यों घूम रहे हैं? यह जो गंदगी है, इसे हटाने के लिए आपको क्या लगता है कितने करोड़ रूपए लगेंगे| कितने लगेंगे बताओ? पांच करोड़-दस करोड़? दस साल कि बच्ची कह रही है पांच करोड़ दस करोड़, ठीक है पचास करोड़ लग जाएंगे? नरेंद्र मोदी जी ने कुछ ही दिन पहले हिंदुस्तान के सबसे अमीर लोगों का 1 लाख 30 हज़ार करोड़ रूपए टैक्स माफ़ किया है..."

उन्होंने इस भाग में गंदगी कि बात की है ना कि बेरोज़गारी की|

इसके अलावा हमें राहुल गाँधी के आधिकारिक फ़ेसबुक पेज पर भी सामान वीडियो मिला जो भाषण के दौरान लाइव टेलीकास्ट किया गया था|


Claim Review :   राहुल गाँधी ने कहा चीलों के बीच बेरोज़गारी के लिए बीजेपी ज़िम्मेदार
Claimed By :  Facebook
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story