विरोध प्रदर्शनों से असम के सीएम भाग रहे हैं? फ़ैक्ट चेक

बूम ने पाया कि तस्वीर सरबानंद सोनोवाल द्वारा एक जल परियोजना निरीक्षण से जुड़ी एक समाचार बुलेटिन का स्क्रीन ग्रैब है।

असम के मुख्यमंत्री सरबानंद सोनोवाल की एक समाचार बुलेटिन का एक स्क्रीनग्रैब सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। तस्वीर में मुख्यमंत्री को एक अस्थायी सीढ़ी से नीचे उतरते हुए दिखाया गया है। तस्वीर के साथ दावा किया जा रहा है कि यह तस्वीर असम में नागरिकता संशोधन विधेयक के विरोध के बाद उनके घर से भागने के दौरान खींची गई थी। यह दावा ग़लत है।

स्क्रीन ग्रैब मई, 2019 से है, जब सोनोवाल और असम के शिक्षा मंत्री सिद्धार्थ भट्टाचार्य राज्य में एक जल परियोजना का निरीक्षण करने के लिए यात्रा पर थे।

तस्वीर में, सोनोवाल को एक छत से सीढ़ी से नीचे उतरने की कोशिश करते हुए देखा जा सकता है। असम में नागरिकता संशोधन विधेयक (सीएबी) के खिलाफ बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन के मद्देनजर यह तस्वीर वायरल हुई है। विधेयक में पड़ोसी देशों पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान के छह समुदायों से अल्पसंख्यकों को भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान होगा।

सोनोवाल की तस्वीर के साथ कैप्शन दिया गया है, जिसमें लिखा है, "अपने ही घर के पिछवाड़े से भागते इस व्यक्ति को पहचानते हैं..? हिंट : एक भाजपा शासित राज्य के मुख्यमंत्री हैं। बूझो तो मानु ?"


इसी दावे के साथ, यह तस्वीर फ़ेसबुक के कई मलयालम पेजों पर वायरल है। उन्हें कैप्शन दिया गया है, "बड़े पैमाने पर विरोध के बाद, असम के सीएम के सुरक्षा अधिकारी सीएम के घर की छत के माध्यम से उन्हें छुड़ाने की कोशिश कर रहे हैं। यह निकट भविष्य में मोदी और अमित के साथ होगा।"

(मलयालम में मूल टेक्स्ट: 'ജനങ്ങളുടെ പ്രക്ഷോഭം കാരണം, ആസാമിലെ വീട്ടിൽ നിന്നും സംസ്ഥാന മുഖ്യമന്ത്രിയെ സെക്യൂരിറ്റിക്കാർ വീടിന്റെ മുകൾവശം വഴി രക്ഷിച്ചുകൊണ്ടുപോകുന്നതാണ് കാണുന്നത്....ഈ ഗതി മോഡിക്കും അമിട്ടിനും ഉടൻ ഉണ്ടാകാനാണ് സാധ്യത')


फ़ैक्ट चेक

बूम ने पाया कि यह तस्वीर बुलेटिन की स्क्रीन ग्रैब है, जो कि असम के एक समाचार चैनल प्राग न्यूज़ में प्रसारित किया गया था। सोनोवाल राज्य जल परियोजना के निरीक्षण करने गए थे। प्रासंगिक कीवर्ड खोज पर, हमें प्राग न्यूज़ के उसी वीडियो तक पहुंचे, जिसमें सोनोवाल को उनके सहयोगियों से न्यूनतम मदद के साथ, अस्थाई सीढ़ी से उतरते हुए दिखाया गया है।

बुलेटिन, 1 मई 2019 को यूट्यूब पर अपलोड किया गया था जिसके हेडलाइन का अनुवाद है, "असम ने ऐसे सीएम कभी नहीं देखा - सिद्धार्थ भट्टाचार्य।"

1 मिनट 36 सेकेंड के वीडियो में सोनोवाल और असम के शिक्षा मंत्री सिद्धार्थ भट्टाचार्य को एक पेयजल परियोजना का निरीक्षण करने के लिए यात्रा के दौरान हल्की बातचीत में उलझा हुआ दिखाया गया है। वीडियो के 29 सेकंड के निशान से स्क्रीनग्रैब लिया गया है, जहां सोनोवाल को छत से नीचे आने की कोशिश करते हुए देखा जा सकता है।

बुलेटिन ने बताया कि सोनोवाल ने राज्य में चल रही परियोजनाओं का निरीक्षण करने में कितना समर्पण दिखाया। इसके अलावा, वीडियो में भट्टाचार्य द्वारा सोनोवाल के प्रयासों की भी प्रशंसा की गई, जब उन्होंने सीएम को न्यूनतम मदद के साथ सीढ़ियों पर चढ़ते हुए देखा।

मई में ग्रेटर गुवाहाटी जलापूर्ति परियोजना के निर्माण कार्य की प्रगति का जायजा लेने वाले सोनोवाल के बारे में रिपोर्ट यहां पढ़ी जा सकती है।

Updated On: 2019-12-16T19:22:22+05:30
Claim :   सरबानंद सोनोवाल सीएबी विरोध के बाद अपने घर से भाग गए
Claimed By :  Social media posts
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story
Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors.
Please consider supporting us by disabling your ad blocker. Please reload after ad blocker is disabled.