वायु सेना पर हमला करता बिपिन रावत का पत्र फ़र्ज़ी है

भारतीय सेना ने ट्वीट कर इस पत्र को फ़र्ज़ी क़रार दिया है जो बिपिन रावत के नाम पर वायरल है

भारतीय सेना ने एक वायरल पत्र को फ़र्ज़ी क़रार दिया है जो चीफ़ ऑफ़ डिफेन्स स्टाफ जनरल बिपिन रावत के नाम पर वायरल है | रावत पूर्व में भारतीय सेना के चीफ़ भी रह चुके हैं | जबकि पत्र के शुरुआत सेना के लोगों को नव वर्ष की शुभकामनाएं देते हुए होती है, बाद में यह पढ़ा जा सकता है की भारतीय सेना ने नौशेरा में वायु सेना से ज़्यादा अच्छे से काम किया था जब पुलवामा और बालाकोट के इर्द-गिर्द तनाव बढ़ा था | पत्र में आगे लिखा है की चीफ़ ऑफ़ डिफेन्स स्टाफ की हैसियत से रावत जल सेना और वायु सेना का संचालन भारतीय आर्मी की तर्ज़ पर करेंगे|

यह भी पढ़ें: क्या वीडियो से पता चलती है असम डिटेंशन सेंटर की क्रूरता?

पत्र पर कोई दिनांक नहीं है और इसपर चीफ़ ऑफ़ आर्मी स्टाफ की सील और रावत के हस्ताक्षर हैं| नीचे देखें|


यह पत्र बूम की हेल्पलाइन (7700906111) पर भी प्राप्त हुआ|


ट्विटर यूज़र इस पत्र को फ़र्ज़ी बता रहे हैं और पाकिस्तानी इंटरनेट यूज़र और पाकिस्तानी आर्मी को इस फ़र्ज़ी पत्र को वायरल करने के लिए दोषी ठहरा रहे हैं |


हालांकि, भारतीय सेना के आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से ट्वीट कर इस पत्र को फ़र्ज़ी क़रार दिया गया|

बिपिन रावत ने 1 जनवरी को सी.डी.एस के पद पर नियुक्त हुए| यह पद तीनों सेनाओं का समानता के साथ मुख्य पद होगा| सी.डी.एस तीनों सेनाओं के लिए सरकार का एक केंद्रित सलाहकार होगा जब बातें आर्म्ड फाॅर्स की होगी| हालांकि तीनों सेनाओं के चीफ़ अब भी सरकार को सलाह दे सकते हैं जहां उनकी सेना से सम्बंधित बातें होंगी|

यह भी पढ़ें: 5 चीजें जो चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ की पोस्ट के बारे में जानना जरूरी हैं

सी.डी.एस नए मिलिट्री अफेयर्स डिपार्टमेंट का भी हेड होगा और चीफ़ ऑफ़ स्टाफ कमीशन का स्थाई चेयरमैन भी|

Claim Review :  यह पत्र बिपिन रावत ने लिखा है
Claimed By :  WhatsApp users
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story