शिव सेना कार्यकर्ताओं के मारपीट का ये वीडियो पिछले साल का है

बूम ने पाया कि पिछले दिसंबर में शिव सेना के कुछ लोगों ने एक व्यक्ति को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के ख़िलाफ़ फ़ेसबुक कमेंट करने के कारण पीटा और उसका सर मूंड दिया था

करीब दस महीने पुराना एक वीडियो जो शिव सेना के कार्यकर्ताओं को एक व्यक्ति की पिटाई और उसका मुंडन करते दिखता है एक बार फिर वायरल किया जा रहा है |

बूम ने पाया कि यह घटना दिसंबर 2019 में हुई थी जब वडाला, मुंबई निवासी हीरामणि तिवारी नामक व्यक्ति की शिवसैनिकों ने इसलिए पिटाई कर दी थी क्यूंकि उसने कथित तौर पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के एक बयान पर आलोचना करने हुए फ़ेसबुक पर कमेंट किया था |

उद्धव ठाकरे ने दिल्ली पुलिस द्वारा 15 दिसंबर 2019 को जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय में घुसने वाले प्रकरण की तुलना जलियांवाला बाग हत्याकांड से की थी | यह बयान उन्होंने 17 दिसंबर को दिया था कि, "जिस तरह से पुलिस ने जबरदस्ती (JMI) कंपाउंड में घुसकर छात्रों पर गोलियां चलाईं, वह जलियांवाला बाग हत्याकांड की तरह लगा।"

नहीं, वायरल हो रहे वीडियो में शिव सेना के संजय राउत नहीं हैं

यह वीडियो तब वायरल है जब हाल ही में 65 वर्षीय पूर्व नेवी सर्विसमैन को शिव सेना कार्यकर्ताओं ने कथित तौर पर उद्धव ठाकरे का मज़ाक उड़ाते एक कार्टून को व्हाट्सएप्प पर फॉरवर्ड करने पर पीटा था |

इस वीडियो के साथ हिंदी में एक कैप्शन भी दिया गया है: अगर आपने उद्धव ठाकरे के खिलाफ सोशल मीडिया पर कुछ लिखा तो उद्धव के गुंडे ऐसा सलूक करेंगे' |



यही वीडियो ट्विटर पर भी वायरल हो रहा है |

आदित्य ठाकरे और दिशा पटानी की पुरानी तस्वीर फ़र्ज़ी दावे के साथ वायरल

फ़ैक्ट चेक

बूम ने गूगल पर "shiv sena beats man" कीवर्ड्स सर्च किया और कई न्यूज़ रिपोर्ट्स पाई जहाँ इस घटना का विवरण दिया गया था |

हमें एन.डी.टी.वी की एक रिपोर्ट मिली जिसमें वायरल हो रहा वीडियो ही प्रसारित किया गया था |

इस वीडियो के अलावा हमें द क्विंट की एक रिपोर्ट मिली जिसमें मुंडन के बाद हीरामणि तिवारी की तस्वीर थी |


इसके बाद हमें एक पत्रकार द्वारा ट्वीट किया गया एक वीडियो मिला जो वायरल वीडियो का लम्बा वर्शन था | इसमें आरोपियों को हीरामणि तिवारी की ओर जाते देखा जा सकता है |


इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ हीरामणि तिवारी ने मीडियाकर्मियों से बात करते हुए कहा, "इस हमले से मेरे कान क्षतिग्रस्त हैं और डॉक्टरों ने इसे प्रमाणित किया है | यदि इस तरह शिव सेना काम करती है तो यह खतरनाक है | पुलिस ने पहले मेरी शिकायत ली पर फिर हमें सी.आर.पी.सी के सेक्शन 149 के तहत नोटिस दे दिया | मेरी मांग है कि शिव सेना के कार्यकर्ताओं और जिन्होंने भी मुझपर हमला किया है, उनके ख़िलाफ़ कठोर कार्यवाही हो |"

इसी रिपोर्ट में आगे बताया गया है कि वडाला टीटी पुलिस स्टेशन ने शिवसेना के कुछ कार्यकर्ताओं के खिलाफ मारपीट, मानहानि और आपराधिक धमकी का मामला दर्ज किया था |

इस घटना के बाद 24 दिसंबर 2019 को उद्धव ठाकरे के बेटे और युवा सेना के प्रेसीडेंट आदित्य ठाकरे ने भी एक विस्तृत बयान ट्वीट किया था |



Claim Review :   शिव सेना कार्यकर्ताओं ने एक व्यक्ति को मारा और उसका मुंडन किया
Claimed By :  Social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story