सोशल मीडिया पर अरुण जेटली के देहांत की फ़र्ज़ी ख़बर हुई वायरल

भारत सरकार के प्रवक्ता ने किया दावों का खंडन

कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर अरुण जेटली के देहांत की ख़बरें वायरल हो रहीं हैं | फ़ेसबुक, ट्विटर, व्हाट्सएप्प कोई भी प्लेटफार्म इन फ़र्ज़ी दावों से छूटा नहीं है | आपको बता दें की जेटली के देहांत की खबरें फ़र्ज़ी हैं |

कुछ मीडिया संस्थानों ने जेटली के बीमार होने की खबरें जरूर छापी हैं | द इकनोमिक टाइम्स ने लिखा की हाल ही में अरुण जेटली कुछ परीक्षणों के लिए AIIMS में भर्ती हुए थे क्योंकि वे किसी बीमारी से ग्रस्त हैं | इकोनॉमिक टाइम्स ने यह भी लिखा की जबकि वे अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिये गए थे पर फ़िलहाल वो किसी भी समारोह या लोक मुलाकातों से दूर रह रहे हैं |

द वायर ने लिखा की उनकी तबियत ख़राब थी जिसके चलते उनका इलाज़ चल रहा था और इसलिए वे भाजपा की जीत के जश्न में भाग नहीं ले पाए | उन्हें चिकित्सकों ने राय दी है की विदेश में जांच करवा लें |इसी सिलसिले में भारत सरकार के प्रवक्ता और प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो के प्रधान डायरेक्टर जनरल सितांशु ने ट्विटर पर ये स्पष्टीकरण दिया: मीडिया के एक भाग में केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली के स्वस्थ्य को लेकर जो रिपोर्ट्स हैं वो गलत और निराधार हैं | मीडिया से निवेदन है की अफ़वाह फ़ैलाने से बचें |

आप सितांशु का ट्वीट नीचे देख सकते हैं |



जहाँ मुख्य धारा की मीडिया तथ्य लिख रही है, सोशल मीडिया एक कदम आगे बढ़ चूका है | अरुण जेटली के भाजपा की जीत के समारोह में भाग न लेने के कारण इस फ़र्ज़ी दावे को वायरल किया जाने लगा है |

आप नीचे ऐसे फ़र्ज़ी दावे करने वाले कुछ पोस्ट्स देख सकते हैं |

इस पोस्ट का आर्काइव्ड वर्शन यहाँ उपलब्ध है |



इस पोस्ट का आर्काइव्ड वर्शन यहाँ उपलब्ध है |

इस पोस्ट का आर्काइव्ड वर्शन यहाँ उपलब्ध है |

वित्त मंत्रालय ने क्या कहा?

बूम ने जब वित्त मंत्रालय संपर्क किया तो पता चला की पिछले वर्ष जेटली का किडनी-संबंद्धित इलाज हुआ था | उस ऑपरेशन के बाद से उनकी तबियत ठीक नहीं थी | इसी के चलते वे कुछ दिनों से AIIMS में भर्ती थे | जांच में सामने आया है की उन्हें स्टेज वन कैंसर है | हालांकि कैंसर कौन सा है, ये बताने से मंत्रालय ने इंकार कर दिया और कहा की बात चिंताजनक नहीं है | मंत्रालय ने यह भी कहा की अरुण जेटली फ़िलहाल ठीक हैं | जेटली के आवास पर संपर्क किया तो सूचना मिली की उनका स्वास्थ्य ख़राब था पर अब वे ठीक हैं |

बूम ने ट्विटर पर जेटली के करीबी दोस्त और पत्रकार रजत शर्मा का ट्वीट देखा जिसमें उन्होंने इस बात का खंडन किया है की जेटली की हालत बिगड़ रही है | रजत ने लिखा : हर कोई मेरे दोस्त @अरुण जेटली के स्वाथ्य के बारे में चर्चाएं कर रहा है | कई लोग वास्तव में चिंता के कारण और कई सिर्फ बात करने के लिए | मैं आपको बता दूँ की मैं बीती शाम उनसे मिला था | वे तेजी से ठीक हो रहे हैं और पर्दे के पीछे से काम कर रहे हैं | परिवार वालो ने और दोस्तों ने उन्हें घर पर रहने के लिए मना लिया है | ट्वीट आप नीचे देख सकते हैं |



ट्विटर पर एक पोस्ट और पायी जो स्वपन दासगुप्ता की थी | स्वपन 26 मई को लिखते हैं की: इस दोपहर (25 मई की दोपहर) मैं अरुण जेटली के घर थोड़ी देर पश्चिम बंगाल के बारे में व्योरा देने और मेरी किताब की एक प्रति देने के लिए रुका | आप यह ट्वीट नीचे पढ़ सकते हैं |



Claim Review :  अरुण जेटली का निधन हो गया
Claimed By :  Facebook pages and Twitter handles
Fact Check :  FALSE
Show Full Article
Next Story