क्या वकीलों ने कोर्ट के बाहर स्टैंडअप कॉमिक मुनव्वर फ़ारूकी की पिटाई की है?

इंदौर में शो के दौरान हिन्दू देवी देवताओं और अमित शाह पर कथित अभद्र टिप्पणी करने के आरोप में मुनव्वर फ़ारूकी को गिरफ़्तार किया गया है।

'मुनव्वर फारूकी यहीं पटक के.....12 सेकंड पर' इस कैप्शन के साथ सोशल मीडिया पर वायरल एक वीडियो के द्वारा दावा किया जा रहा है कि स्टैंडअप कॉमेडियन मुनव्वर फ़ारूकी (Munawar Faruqui) के साथ मारपीट की गयी है ।

बूम ने पाया कि वायरल वीडियो का दावा फ़र्ज़ी है। वीडियो में दिख रहा शख्स मुनव्वर फ़ारूकी नहीं बल्कि उनका दोस्त सदाक़त खान है।

वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि दो पुलिसकर्मी एक शख्स को पकड़कर बाइक में बिठाते हैं। इस बीच एक व्यक्ति पुलिसकर्मियों से मामला पूछता है, तभी पीछे से अपशब्द के साथ 'हिन्दू देवी देवता को गाली दे रहा था' सुना जा सकता है। वीडियो में पुलिसकर्मी बताते हैं कि वे उसे थाने ले जा रहे हैं।

क्या किसान आंदोलन में जलाया गया है यह टेलीफ़ोन टॉवर?

गौरतलब है कि इंदौर में एक स्टैंडअप कॉमेडी शो के दौरान हिन्दू देवी देवताओं और अमित शाह पर कथित अभद्र टिप्पणी करने के आरोप में कॉमेडियन मुनव्वर फ़ारूकी और चार अन्य के ख़िलाफ़ केस दर्ज किया गया था और उन्हें गिरफ़्तार किया गया था। हालांकि, गिरफ़्तारी के दो दिन बाद पुलिस ने कॉमेडियन द्वारा शो के दौरान हिंदू देवी-देवताओं या केंद्रीय मंत्री अमित शाह पर अपमानजनक टिप्पणी के कोई सबूत होने से इनकार किया है।

फ़ेसबुक पर राईट विंग पेज सैफ़रॉन स्वार्ड ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा कि "मुनव्वर फारूकी यहीं पटक के.....12 सेकंड पर..!!" वीडियो में अभद्र भाषा का इस्तेमाल होने के कारण हम यहां वीडियो नहीं दिखा रहे हैं।


पोस्ट यहां देखें और आर्काइव वर्ज़न यहां देखें

फ़ेसबुक और ट्विटर पर यह वीडियो बड़े पैमाने पर वायरल है |

वायरल वीडियो के संदर्भ में एक अन्य फ़ेसबुक यूज़र ने पोस्ट किया, "देवी देवताओं पर अभद्र टिप्पणी करने वाले कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी को दर्शकों ने तो पीटा ही था....कोर्ट में वकीलों ने भी ख़ूब हाथ आजमाए🚩जय हिंदुत्व 🚩जय हिन्दू 🚩 🚩जय हिंदुस्तान🚩"


पोस्ट यहां देखें और आर्काइव वर्ज़न यहां देखें

नरेंद्र मोदी और अमित शाह के फ़र्ज़ी बयान हो रहे हैं वायरल

फ़ैक्ट चेक

बूम ने वायरल वीडियो के दावे की सत्यता जांचने के लिए सबसे पहले कॉमेडियन मुनव्वर फ़ारूकी की वीडियो देखी। हमने पाया कि फ़ारूकी और वायरल वीडियो में दिख रहे व्यक्ति की शक्ल अलग-अलग हैं। हमने फ़ारूकी और वायरल वीडियो में दिख रहे शख्स के चेहरे की तुलना की। नीचे देखें |


हमने फ़ारूकी की कोर्ट में वकीलों द्वारा पिटाई से जुड़ी मीडिया रिपोर्ट्स खंगाली। इस दौरान हमें एनडीटीवी इंडिया की एक रिपोर्ट मिली, जिसका शीर्षक 'इंदौर: कॉमेडियन के दोस्त की कोर्ट कैंपस में ही हुई पिटाई, मुनव्वर फारुकी समझ किया हमला' है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि गिरफ़्तार किए गए मुनव्वर फ़ारूकी के दोस्त सदाक़त को जब कोर्ट में पेश किया गया तो उस वक्त कोर्ट परिसर में पुलिस की मौजूदगी में ही एक शख्स ने सदाक़त को मुनव्वर समझकर तब पीट दिया जब पुलिस उसे मोटरसाइकिल पर बैठकर ले जा रही थी।

इसके अलावा हमें हुसैन हैदरी का एक ट्वीट मिला, जिसमें कहा गया कि वीडियो में दिख रहा शख्श मुनव्वर फ़ारूकी नहीं बल्कि उसका दोस्त सदाक़त खान है। हमने पाया कि हुसैन ने उसी वीडियो को ट्वीट किया था जोकि वायरल है। दूसरे ट्वीट में अपडेट करते हुए उन्होंने स्पष्ट किया कि सदाक़त खान अपने दोस्त, मुनव्वर फ़ारूकी से मिलने गए थे, जिन्हें 'धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने' के आरोप में गिरफ़्तार किया गया है।

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा 'यह लड़का जो थप्पड़ खा रहा है, उसका नाम सदाक़त खान है। वह मुनव्वर का दोस्त है, बंबई में एक निर्माण कंपनी में पर्यवेक्षक के रूप में काम करता है। वह सुनवाई के लिए अदालत में उनसे मिलने आया था, क्योंकि उनके मामा का घर इंदौर में है, और वे गिरफ़्तार भी हो चुके हैं।'

बूम ने इंदौर के तुकोगंज थानाध्यक्ष कमलेश शर्मा से संपर्क किया, उन्होंने बताया कि वीडियो में जो व्यक्ति दिख रहा है वो मुनव्वर फ़ारूकी नहीं है। मुनव्वर को 12 बजे के क़रीब थाने भेज दिया गया था जबकि यह वीडियो शाम का है। हालांकि, कमलेश शर्मा ने यह बताने से इनकार कर दिया कि असल में वह व्यक्ति कौन है।

महिला पर कुल्हाड़ी से हमला करते युवक का वीडियो 'लव जिहाद' के दावे से वायरल

Claim Review :   स्टैंडअप कॉमिक मुनव्वर फ़ारूकी को कोर्ट में वकीलों ने जमकर पीटा
Claimed By :  Social Media Users
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story