शाहरुख़ खान ने लता मंगेशकर के पार्थिव शरीर पर फूंका था, ना कि थूका था

अभिनेता शाहरुख खान का एक वीडियो इस दावे के साथ वायरल हुआ कि उन्होंने मंगेशकर के पार्थिव शरीर पर थूका था.

दुनियाभर को अपनी आवाज़ से मुरीद बना देने वाली गायिका स्वर कोकिला लता मंगेशकर का 6 फ़रवरी को COVID-19 और निमोनिया के कारण स्वास्थ्य बिगड़ने के बाद निधन हो गया.

केंद्र सरकार ने दो दिन के राजकीय शोक की घोषणा की, जबकि महाराष्ट्र सरकार ने 7 फ़रवरी को सार्वजनिक अवकाश घोषित किया.

लता मंगेशकर का रविवार शाम को मुंबई के शिवाजी पार्क में पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया. प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, राकांपा प्रमुख शरद पवार, शाहरुख़ खान, आमिर खान, गीतकार जावेद अख्तर और सचिन तेंदुलकर उन प्रमुख लोगों में शामिल थे जो स्वर कोकिला को अंतिम सम्मान देने आए थे.

इस बीच अभिनेता शाहरुख खान का एक वीडियो इस दावे के साथ वायरल हुआ कि उन्होंने मंगेशकर के पार्थिव शरीर पर थूका था.

वीडियो में, शाहरुख़ खान अपना मास्क उतारते हैं और इस्लामिक रीति-रिवाजों के अनुसार दुआ पढ़ने के बाद लता मंगेशकर के पार्थिव शरीर पर फूंक मारते हैं.

क्या बुज़ुर्ग ने अखिलेश यादव से कहा 'तुमने केवल मस्जिद बनवाई, नहीं देंगे वोट'? फ़ैक्ट चेक

हालांकि, बीजेपी नेताओं और कई हिंदू दक्षिणपंथी समर्थकों ने यह दावा करते हुए वीडियो शेयर किया कि शाहरुख़ खान ने लता मंगेशकर के शरीर पर थूककर उनका अपमान किया है.

बीजेपी हरियाणा IT इंचार्ज अरुण यादव ने ट्विटर पर वीडियो शेयर किया और लिखा, क्या इसने थूका है?

ट्वीट का आर्काइव यहां देखें.

बीजेपी यूपी प्रवक्ता प्रशांत उमराव ने भी वीडियो इसी दावे के साथ शेयर किया.

ट्वीट का आर्काइव यहां देखें.

सुदर्शन न्यूज़ के एडिटर इन चीफ़ सुरेश चव्हाणके का शो "बिंदास बोल" कार्यक्रम भी इसी पर केंद्रित रहा कि शाहरुख़ खान ने लता मंगेशकर के शरीर पर थूका था.

ट्वीट का आर्काइव वर्ज़न यहां देखें.

हालांकि, सोशल मीडिया पर कई लोगों ने बीजेपी नेताओं के दावे की आलोचना की और शाहरुख़ खान के समर्थन में सामने आए.

इस्लामिक परंपरा के अनुसार, जब कोई दुआ की जाती है तो उसके लिए दोनों हाथों को उठाकर अल्लाह से मिन्नतें की जाती हैं.

इस्लामिक दृष्टिकोण से समझें तो दुआ करने का यह एक आम तरीका है. आमतौर पर मस्जिदों या दरगाहों पर ऐसे दृश्य जा सकते हैं जहां कोई मां-बाप अपने बच्चे के लिए मुफ़्ती या मौलाना से दुआ कराते हैं तो वे दुआ करने से साथ-साथ बच्चे के ऊपर फूंक मारते हैं. बता दें कि ऐसा बड़ों के लिए भी किया जाता है. दुआ किसी भी इंसान के लिए की जाती है. माना जाता है कि यह बुरी आत्मा को दूर करता है और जिसपर फूंक मारते हैं उसे आशीर्वाद देता है.

दुआ करने के बाद फूंक मारने की इस क्रिया को शाहरख़ खान की 2010 की फ़िल्म 'माई नेम इज खान' में "सजदा" गाने में देखा जा सकता है. दृश्य में, काजोल और शाहरुख़ खान के बेटे को हिंदू और इस्लामी रीति-रिवाजों के अनुसार आशीर्वाद दिया जाता है.

जहां काजोल अपने बेटे को आरती करने के बाद आशीर्वाद देती है, वहीं शाहरुख उसके सिर पर फूंक मारकर आशीर्वाद देते हैं.

नीचे देखें.

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ के नाम से जाटों पर किया गया यह ट्वीट फ़र्ज़ी है

Updated On: 2022-02-08T13:20:50+05:30
Show Full Article
Next Story
Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors.
Please consider supporting us by disabling your ad blocker. Please reload after ad blocker is disabled.