पूर्व CJI रंजन गोगोई के नाम से फिर वायरल हुआ फ़र्ज़ी ट्वीट

बूम ने पाया जिस हैंडल से ट्वीट किया गया है वो फ़िलहाल ससपेंड किया जा चूका है

सोशल मीडिया पर पूर्व चीफ़ जस्टिस रंजन गोगोई (CJI Ranjan Gogoi) के नाम से फ़र्ज़ी ट्वीट्स अक्सर वायरल होते रहते हैं. इसी कड़ी में एक और ट्वीट का स्क्रीनशॉट फ़ेसबुक पर वायरल है. गोगोई के नाम से बने ट्विटर अकाउंट से किये गए ट्वीट में लिखा है 'अगर बच्चा पैदा करना व्यक्तिगत अधिकार है, जिसपर अगर रोक नहीं लगाईं जा सकती, तो फिर उनके भूखे रहने पर सरकार जिम्मेदार कैसे है?'.

बूम ने पाया कि जिस हैंडल से ये ट्वीट किया गया था वो फ़िलहाल ससपेंड किया जा चूका है. जस्टिस गोगोई के नाम से पहले भी ऐसे फ़र्ज़ी और पैरोडी अकाउंट से ट्वीट वायरल हो चुके हैं. जब हमने जस्टिस गोगोई से संपर्क किया था, उन्होंने बताया था कि वह ट्विटर पर मौजूद नहीं हैं.

पूर्व CJI रंजन गोगोई के नाम से वायरल इस ट्वीट का सच क्या है?

फ़ेसबुक पर वायरल ट्वीट के स्क्रीनशॉट में लिखा है 'अगर बच्चा पैदा करना व्यक्तिगत अधिकार है, जिसपर अगर रोक नहीं लगाईं जा सकती, तो फिर उनके भूखे रहने पर सरकार जिम्मेदार कैसे है?'.

ट्विटर अकाउंट पर रंजन गोगोई की तस्वीरें भी हैं. ट्विटर अकाउंट का नाम है रंजन गोगई @SGBJP.





बूम ने जब वायरल स्क्रीनशॉट पर लिखे गए हैंडल - @SGBJP - को चेक किया तो हमें ये अकाउंट सस्पेंडेड मिला.




दक्षिण अफ्रीका में शेरों को घूमते दिखाता वीडियो ग़लत दावे के साथ वायरल

बूम ने पाया कि यही कैप्शन बगैर किसी तस्वीर या किसी के हवाले से भी शेयर की जा रही है.

ऐसे ही एक पोस्ट के साथ लिखा गया कैप्शन कहता है 'जनसंख्या नियंत्रण बिल आने से इनको डर क्यों लगता है क्या गजवा-ए-हिन्द का मक़सद पूरा ना होने का डर है'.

हमने पाया कि एक रैंडम क्वोट को पूर्व चीफ़ जस्टिस रंजन गोगोई के नाम से वायरल करने की कोशिश की जा रही है.

Updated On: 2021-05-23T19:09:51+05:30
Claim Review :   पूर्व चीफ़ जस्टिस ऑफ़ इंडिया रंजन गोगोई के नाम पर वायरल ट्वीट कहता है अगर बच्चा पैदा करना व्यक्तिगत अधिकार है, जिसपर अगर रोक नहीं लगाईं जा सकती, तो फिर उनके भूखे रहने पर सर्कार जिम्मेदार कैसे है?
Claimed By :  social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story