क्या दिल्ली पुलिस के वेश में एबीवीपी के भरत शर्मा थे? फ़ैक्ट चेक

दिल्ली पुलिस ने बूम को पुष्टि की कि तस्वीर में दिखाई देने वाला शख़्स दिल्ली पुलिस के सिपाही अरविंद कुमार है।

सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है। तस्वीर को दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय ( जेएमआईयु ) के छात्रों द्वारा किए गए प्रदर्शन के साथ जोड़ा जा रहा है। दिल्ली पुलिस ने जामिल के प्रदर्शन करने वाले छात्रों पर कार्रवाई की थी। तस्वीर में एक शख़्स के लिए दावा किया जा रहा है कि वह दरअसल एबीवीपी का सदस्य है, ना कि दिल्ली पुलिस का अधिकारी है। हालांकि, यह दावा ग़लत है।

तस्वीर के साथ कोई तारीख मौजूद नहीं है। इस वायरल तस्वीर में एक हेलमेट और बुलेट प्रूफ जैकेट के साथ सादे कपड़ों में दिखने वाले पुलिसकर्मी को दिखाते हुई लोगों ने नाराजगी जताई। उनका सवाल था कि पुलिस ने वर्दी क्यों नहीं पहनी है।

हालांकि, दिल्ली पुलिस ने बूम को बताया कि वायरल तस्वीर में दिखाई देने वाला शख़्स पुलिस बल में एक कांस्टेबल है ना कि एबीवीपी का सदस्य है।

यह स्पष्ट नहीं है कि फोटो कब और कहां ली गई थी।

भारतीय सोशल मीडिया पर यह तस्वीर तब वायरल हो गई जब हाल ही में पेश किए गए नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के ख़िलाफ प्रदर्शन कर रहे छात्रों के साथ पुलिस का टकराव हुआ।

दिल्ली का जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय और उत्तर प्रदेश का अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) छात्र आंदोलन में सबसे आगे रहे हैं।

फेसबुक और ट्विटर पर कई पोस्ट में दावा किया गया है कि तस्वीर में दिख रहा शख़्स भरत शर्मा, दिल्ली विश्वविद्यालय में कानून का छात्र और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के छात्र संगठन, एबीवीपी का सदस्य है।

पोस्ट का अर्काइव वर्शन देखने के लिए यहां क्लिक करें।

ट्वीटर पर उसी भ्रामक दावे को दोहराया गया है।


ट्वीट देखने के लिए यहां क्लिक करें।

वायरल वीडियो में सादे कपड़ों में दिखाई देने वाला शख्स महिला प्रदर्शनकारियों को बना रहा है निशाना

एक अन्य वीडियो में दिखाया जा रहा है कि लाल शर्ट पहने सादे कपड़ों में दिखाई देने वाला शख्स महिला प्रदर्शकारी को निशाना बना रहा है। इस वीडियो के साथ भी दावा किया जा रहा है कि वह आदमी शर्मा है, जो एबीवीपी का सदस्य है। वीडियो को शर्मा के ( अब हटाए गए )फ़ेसबुक प्रोफाइल के स्क्रीनशॉट के साथ शेयर किया जा रहा है।

काले जैकेट में एक शख्स द्वारा एक प्रदर्शनकारी को लात से मारने का वीडियो

एक व्यक्ति द्वारा प्रदर्शनकारी को लात मारने का एक चौंकाने वाला वीडियो भी वायरल हो रहा है जिसके लिए भी कहा जा रहा है कि वह व्यक्ति भरत शर्मा है। इस वीडियो को सादे कपड़ों में दंगाई के खिलाफ लाठी लेकर खड़े व्यक्ति की तस्वीर और लाल शर्ट में एक महिला प्रदर्शनकारियों को मारते हुए शख्स के वीडियो के साथ जोड़ा गया है।

फ़ैक्ट चेक

गियर के साथ खड़ा शख्स दिल्ली पुलिस का कांस्टेबल है। बूम ने दिल्ली पुलिस से संपर्क किया, जिसने पुष्टि की कि पूरी तरह से दंगा गियर में दिखाई देने वाला व्यक्ति दिल्ली पुलिस के एंटी ऑटो थेफ्ट स्क्वाड के साथ एक कांस्टेबल है। बूम के साथ बात करते हुए,", डीसीपी (सेंट्रल) एमओ रंधावा ने बताया कि, "यह तस्वीर दिल्ली पुलिस के एंटी ऑटो थेफ्ट स्क्वाड के साथ एक कांस्टेबल की है जो विरोध प्रदर्शनों के लिए सुरक्षा में तैनात था।"


कॉन्स्टेबल अरविंद कुमार की तस्वीर, जैसा कि दिल्ली पुलिस द्वारा पुष्टि की गई है

रंधावा ने इंडिया टुडे को बताया कि दिल्ली पुलिस ने उपरोक्त फोटो में देखे गए व्यक्ति के बारे में पूछताछ की और पाया कि वह कांस्टेबल अरविंद है जिसे "जामिया प्रदर्शनकारियों को नियंत्रित करने के लिए रविवार को न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी के पास तैनात किया गया था।" उन्होंने कहा कि एएटीएस जैसी विशिष्ट इकाइयों के सदस्य "ज्यादातर अनियंत्रित भीड़ को नियंत्रित करने के लिए सादे कपड़ों में आते हैं।

प्रदर्शनकारी को लात से मारने का वीडियो भरत शर्मा का है

बूम ने खुद शर्मा का एक ट्वीट भी पाया, जिसमें पुष्टि की गई है कि दिल्ली विश्वविद्यालय परिसर में एक प्रदर्शनकारी को लात मारते हुए दृश्य दिखाते वीडियो में वो ही हैं।

उन्होंने ट्वीटर पर यह भी स्पष्ट किया कि दिल्ली के अन्य पुलिसकर्मियों के साथ दंगा गियर में दिखाई देने वाले या महिला प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज करने वाले व्यक्ति वह नहीं थे। हालांकि शर्मा ने फोन का जवाब नहीं दिया, रिपोर्ट्स बताती हैं कि शर्मा दिल्ली विश्वविद्यालय में कानून के छात्र हैं और "एबीपी के सक्रिय सदस्य हैं।"


Updated On: 2019-12-20T16:24:15+05:30
Claim Review :  तस्वीर में दिल्ली पुलिस की कार्यवाही में एबीवीपी का सदस्य दिखाता है
Claimed By :  Social Media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story