DTC बस ख़रीदने की बातचीत शुरू होने पर बधाई देते दिल्ली सीएम की ये होर्डिंग फ़ेक है

बूम ने तस्वीर को एनालाइज़ करके पता लगाया कि इसपर फ़ोटोशॉप करके अलग से टेक्स्ट जोड़ा गया है.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) द्वारा 100 नई डीटीसी बसें (DTC Bus) ख़रीदने की बातचीत शुरू होने पर दिल्ली को बधाई देती एक मॉर्फ़ होर्डिंग की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल है. तस्वीर शेयर करते हुए यूज़र्स दिल्ली मुख्यमंत्री पर करदाताओं का पैसा बर्बाद करने का आरोप लगा रहे हैं.

वायरल होर्डिंग की तस्वीर में लिखा है, "बधाई हो दिल्ली. सौ नई डीटीसी बसें ख़रीदने के लिए बातचीत शुरू"

गौरतलब है कि दिल्ली में 'आप' सरकार और बीजेपी एक दूसरे पर सार्वजनिक कार्यों को करने के बजाय प्रचार पर करोड़ों खर्च करने का आरोप लगाते रहे हैं.

नहीं, CNN ने 'मास्क पहनने' और 'शांतिपूर्ण' कब्ज़े के लिए तालिबान की प्रशंसा नहीं की

ट्विटर यूज़र समीत ठक्कर ने तस्वीर के साथ कैप्शन में लिखा, "इस आदमी को करदाताओं का पैसा इस तरह बर्बाद करते देख किसी और का खून खौलता है या मैं असाधारण हूं?"


ट्वीट देखने के लिए यहां क्लिक करें और आर्काइव वर्ज़न यहां देखें.

फ़ेसबुक पर तस्वीर शेयर करते हुए एक यूज़र ने लिखा, "बोर्ड पर विज्ञापन, बातचीत शुरू करने के लिए। अगला बोर्ड होगा सहमति का। फिर अगला, की टेंडर निकाल दिया है। फिर अगला, बसें खरीद ली है। फिर अगला, बसें सड़कों पर आ गयी हैं।.........दिल्ली वाले बड़े भाग्यशाली हैं।"

आर्काइव वर्ज़न यहां देखें.

फ़ेसबुक पर वायरल


क्या केरला में मुस्लिमों ने अम्बेडकर की मूर्ति तोड़ी? फ़ैक्ट चेक

फ़ैक्ट चेक

बूम ने वायरल होर्डिंग की सत्यता जांचने के लिए तस्वीर पर डिजिटल फॉरेंसिक टूल का इस्तेमाल किया. हमने पाया कि वायरल तस्वीर में फ़ोटोशॉप किया गया है. हमने "वीवेरिफ़ाई इमेज फॉरेंसिक एनालिसिस" की मदद ली. इससे हमें तस्वीर में किसी भी पिक्सल में बदलाव खोजने में मदद मिलती है.

Error Level Analysis तस्वीर में पिक्सल की असंगति को दर्शाता है और जैसा कि आप नीचे की तस्वीर में देख सकते हैं कि होर्डिंग की दूसरी लाइन पर पिक्सल की स्थिरता पूरी तस्वीर से अलग है. यह दिखाता है कि तस्वीर के उस हिस्से के साथ छेड़छाड़ हुई है.


Ghost Analysis तस्वीर के पिक्सल्स के आसपास हीट सिग्नेचर दिखाता है जहां इसपर छेड़छाड़ की गई थी और जैसा कि नीचे की तस्वीर में दिखाई दे रहा है. हम होर्डिंग की दूसरी लाइन के आसपास हीट सिग्नेचर देख सकते हैं.


ELA और Ghost Analysis दोनों से हम यह निष्कर्ष निकाल सकते हैं कि तस्वीर फ़ोटोशॉप्ड है.

बूम ने आम आदमी पार्टी के चीफ़ मीडिया कोऑर्डिनेटर विकास योगी और गेस्ट मीडिया कोऑर्डिनेटर वेद प्रकाश से संपर्क किया. दोनों ने वायरल होर्डिंग को फ़र्ज़ी करार दिया.

हालांकि, बूम स्वतंत्र रूप से इसकी पुष्टि नहीं कर सका कि होर्डिंग में असल विज्ञापन क्या था. हमने दिल्ली के परिवहन विभाग और सूचना व प्रचार निदेशालय से भी संपर्क किया. फ़िलहाल हमें अधिकारिक तौर पर वहां से टिप्पणी नहीं मिली. उनकी टिप्पणी प्राप्त होते ही उसे रिपोर्ट में अपडेट कर दिया जायेगा.

दिल्ली सीएम केजरीवाल को डस्टबिन लगाने का श्रेय लेते दिखाती तस्वीर फ़ेक है

यह पहला मामला नहीं है जब आम आदमी पार्टी के होर्डिंग की मॉर्फ़ की हुई तस्वीर वायरल हुई है. इससे पहले बूम हिंदी ने एक पोस्टर की वायरल तस्वीर का फ़ैक्ट-चेक किया था जिसमें दावा किया गया था कि अरविंद केजरीवाल दिल्ली के कीर्तिनगर इंडस्ट्रियल एरिया में डस्टबिन लगाने की बधाई दे रहे थे. रिपोर्ट यहां पढ़ें.

(Aditional Reporting by Sujith A)

Updated On: 2021-08-19T00:03:17+05:30
Claim Review :   100 नई डीटीसी बस ख़रीदने की बातचीत शुरू होने पर सीएम केजरीवाल ने दिल्ली को बधाई दी
Claimed By :  Social Media Users
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story