भाजपा के नाम पर वायरल इस पत्र को पार्टी ने फ़र्ज़ी बताया

बूम ने भाजपा दिल्ली के मीडिया सेल प्रमुख नवीन कुमार से संपर्क किया. उन्होंने वायरल दावों को फ़र्ज़ी बताया है.

भारतीय जनता पार्टी यानी भाजपा की दिल्ली यूनिट के नाम पर वायरल एक पत्र को पार्टी ने फ़र्ज़ी बताते हुए खारिज किया है. इस पत्र में बताया गया था कि दिल्ली भाजपा के एक ऑफ़िस कार्यकर्ता ने गणतंत्र दिवस पर किसानों द्वारा प्रस्तावित ट्रैक्टर रैली को रोकने के लिए कार्यकर्ताओं और स्वयंसेवकों से हिंसा करने की बात की है.

सोमवार को एक पत्र का स्क्रीनशॉट वायरल हुआ. इस पत्र में भाजपा, दिल्ली प्रदेश का लेटरहेड है. पत्र कथित तौर पर राजेश भाटिया, जनरल सेक्रेटरी, द्वारा लिखा गया है.

बूम ने भाजपा दिल्ली के मीडिया सेल प्रमुख नवीन कुमार से संपर्क किया. उन्होंने वायरल दावों को फ़र्ज़ी बताया है. उन्होंने यह भी बताया कि भाटिया अब दिल्ली प्रदेश के जनरल सेक्रेटरी नहीं हैं. कुमार ने वायरल सूचना को 'फ़ेक न्यूज़' बताते हुए एक स्पष्टीकरण भेजा है.

नहीं, तस्वीर में मार खाते व्यक्ति भगत सिंह नहीं हैं

इस पत्र में लिखा है: "राष्ट्रहित में किसान आंदोलन संबंधी आग्रह: सभी कार्यकर्ताओं और स्वयंसेवकों को सूचित किया जाता है कि किसान नेता और सरकार के बीच हो रही बातचीत का, किसानो के ज़िद्दी और अड़ियल रवैया की वजह से, कोई परिणाम नहीं निकलता देख हमें खुद को राष्ट्रहित हेतु मजबूत करना होगा. कहीं भी सरकारी संपत्ति को नुक्सान (मोबाइल टावर, दूकान, बीजेपी कार्यालय आदि) और सरकार विरोधी गतिविधियों और भाषणों को वर्जित करना होगा. किसान संगठनों द्वारा दिल्ली में की जा रही 26 जनवरी 2021 की ट्रैक्टर रैली का विरोध करते हुए इन देशद्रोहियों की हर कोशिश नाकाम करने का प्रयत्न करना होगा. अतः जरुरत पड़ने पर ज़ुल्म के बदले की गयी हिंसा पर कोई भी क़ानूनी करवाई ना होने का भरोसा दिलाते हुए, आने वाले रणनीति के लिए हम अपने सभी कार्यकर्ताओं और स्वयंसेवकों को अपने प्रदेश अध्यक्ष/नज़दीकी कार्यालय से संपर्क में रहने का आग्रह करते हैं."

यह पत्र इंडियन नेशनल कांग्रेस के मीडिया पैनेलिस्ट सुरेंद्र राजपूत ने ट्वीट किया है.


यही पत्र फ़ेसबुक पर भी वायरल है.


बूम ने दिल्ली प्रदेश के भाजपा मीडिया प्रमुख नवीन कुमार से संपर्क किया. उन्होंने बताया कि राजेश भाटिया सात महीने पहले जनरल सेक्रेटरी थे. कुमार ने वायरल पत्र को फ़र्ज़ी बताया है. "राजेश भाटिया अब जनरल सेक्रेटरी नहीं हैं. उन्होंने खुद राजेंद्रनगर पुलिस स्टेशन में शिकायत की है," कुमार ने बूम से कहा.

उन्होंने शिकायत की प्रति हमसे साझा की है.


उन्होंने हमारे साथ भाजपा का स्टेटमेंट भी साझा किया है.


किसान आंदोलन में शामिल मुस्लिम महिलाओं की तस्वीर साम्प्रदायिक एंगल से वायरल

Claim Review :   भाजपा का पत्र
Claimed By :  Facebook posts
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story