'राहुल गांधी से आज़ादी': बीजेपी पैनलिस्ट का वीडियो बिना किसी संदर्भ के वायरल

निगहत अब्बास द्वारा विपक्षी नेताओं से 'आज़ादी' का जाप करते हुए एक वीडियो उनके राजनीतिक संबद्धता का उल्लेख किए बिना वायरल हुआ है।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) दिल्ली विंग के लिए खुद को मीडिया पैनलिस्ट बताने वाले निगहत अब्बास का एक वीडियो सोशल मीडिया पर भ्रामक दावों के साथ वायरल है।

वीडियो में अब्बास को बुर्क़े में दिखाया गया है जो विभिन्न विपक्षी पार्टी के नेताओं से आज़ादी का जाप कर रही है।

यह क्लिप दक्षिणपंथी फ़ेसबुक पेजों पर वायरल हैं| पोस्ट में यह कहीं भी उल्लेख नहीं किया गया है कि वह किसी पार्टी से जुड़ी हैं।

यह भी पढ़ें: क्या बीजेपी विधायक ने की राजनाथ सिंह से सी.ए.ए-एन.आर.सी वापसी की मांग?

वीडियो के साथ कैप्शन दिया गया है, जिसमें लिखा है, " अबे नई चीज हो गई राहुल गांधी से आजादी चाहिए इन लोगों को 😂😂😂 इनकी मदद की जाए"

वीडियो में अब्बास को यह कहते हुए देखा जा सकता है, "भारत माता की जय, हम लेके रहेंगे आज़ादी, हम मिलकर लेंगे आज़ादी, राहुल गाँधी से आज़ादी, अखिलेश [यादव] से लेंगे आज़ादी, माया [मायावती] बुआ से आज़ादी, ममता दीदी से आज़ादी.."

अर्काइव वर्शन यहां और यहां देखे जा सकते हैं।


यही वीडियो मई 2019 में भी वायरल हुआ था।

फ़ैक्ट चेक

बूम ने इससे पहले मई 2019 में निगहत अब्बास के एक और वीडियो को ख़ारिज किया था, जब उनके द्वारा रिकॉर्ड किए गए वीडियो को 'मुस्लिम महिला द्वारा अरविंद केजरीवाल की आलोचना' बताते हुए वायरल किया गया था।

निगहत अब्बास खुद को बीजेपी दिल्ली के लिए मीडिया पैनलिस्ट बताती हैं। उसके ट्विटर हैंडल का अर्काइव वर्शन यहां देखा जा सकता है।

हालांकि, वायरल पोस्ट में उनके राजनीतिक जुड़ाव का उल्लेख नहीं है, उनके ट्विटर प्रोफाइल में कहा गया है, "मीडिया पैनलिस्ट @ bjp4delhi, पॉलिटिकल एनालिस्ट, एनजीओ चालक, पब्लिक स्पीकर, बिजनेस प्रमोशन और मार्केटिंग"।

वायरल वीडियो उन्होंने 7 मई, 2019 को ट्वीट किया था।

बूम ने उनके फेसबुक प्रोफाइल से मई 2019 का एक और वीडियो भी पाया, जहां दिल्ली चुनाव के लिए भाजपा के उम्मीदवार और सांसद मनोज तिवारी ने अब्बास को 'भाजपा का टीवी प्रवक्ता' के रूप में बताते हैं|


Updated On: 2020-01-17T12:42:01+05:30
Claim Review :  वीडियो में एक मुस्लिम महिला राहुल गाँधी से आज़ादी के नारे लगा रही है
Claimed By :  Facebook posts
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story