तवांग एयर क्रैश की तस्वीरें पुलवामा आतंकी हमले के रूप में की जा रही हैं वायरल

2017 तवांग हेलिकॉप्टर दुर्घटना की तस्वीरों को पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए हालिया हमले के रुप में फ़ैलाया जा रहा है ।

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के जवानों पर जानलेवा हमले के महज़ कुछ ही घंटों बाद, सोशल मीडिया पर फ़र्ज़ी खबरों की और पुलवामा में हुई इस घटना पर गलत जानकारियों की बाढ़ सी आ गई थी ।

ऐसी ही एक फ़र्ज़ी तस्वीर वायरल हो रही है जिसमें एक जले हुए शव के चारों ओर सैन्य कर्मियों को खड़े देखा जा सकता है। तस्वीर के साथ कैप्शन में लिखा है की, “आज फिर मां का दिल रोया है, आज फिर प्रेमिका ने प्रेमी खोया है।”

नीचे दी गयी तस्वीर ग्राफ़िक है |

परेशान करने वाली इस तस्वीर को एक ही कैप्शन के साथ फ़ेसबुक पर कई पेजों पर शेयर किया गया है। पोस्ट का आर्काइवड वर्शन यहाँ देखा जा सकता है ।

वायरल इमेज

फैक्टचेक

जब बूम ने रिवर्स इमेज सर्च के ज़रिए इस तस्वीर को खोजा, तो कई ट्वीट्स मिले जिसमें इसी तस्वीर को शेयर किया गया था।

वायरल इमेज में जले हुए शव के पास दिख रहे कार्डबोर्ड बॉक्स से सोर्स का पता लगाना आसान हो जाता है। अक्टूबर 2017 में, भारतीय वायु सेना के हेलिकॉप्टर क्रैश में वायु सेना के सात सैनिकों ने जान गंवाई थी |इन सैन्य कर्मियों के शवों को एयरबेस के लिए रवाना करने पर गंभीर आलोचना का सामना करना पड़ा था। कार्डबोर्ड बॉक्स विवाद को तब मीडिया ने व्यापक रूप से कवर किया था। वायरल तस्वीर के साथ ट्वीट की गई कुछ तस्वीरें 7 अक्टूबर, 2017 में हुई चॉपर दुर्घटना से थीं।

इन तस्वीरों को अलग संदर्भों में वायरल होने पर भी बूम ने रिपोर्ट किया था। रिपोर्ट आप यहां 
देख सकते हैं |

हालांकि हमें फ़ेसबुक पर शेयर की गई तस्वीरों से मिलती जुलती तस्वीरें तो नहीं मिली, पर ट्वीट्स में वायरल तस्वीरों के साथ ली गई अन्य तस्वीरों को देखा जा सकता है।

हमें मेघालय में स्थित एक ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल पर एक जैसी तस्वीरें मिली हैं । रिपोर्ट नार भाषा में लिखी गई है, जो मेघालय में जैंतिया जनजाति के नार लोगों द्वारा बोली जाती है। इस सन्दर्भ में एक न्यूज़ रिपोर्ट को यहां पढ़ा जा सकता है ।

Claim Review :  जवान के जले हुए शरीर के फ़ोटो को पुलवामा हमले से जोड़ कर वायरल किया गया
Claimed By :  Facebook pages
Fact Check :  FAKE
Show Full Article
Next Story