क्यों मिल रही है अखिलेश यादव को प्रधानमंत्री बनने की बधाईयां?

अखिलेश यादव को प्रधानमंत्री बनने की बधाई देने वाला बिलबोर्ड फर्जी है। मूल बिलबोर्ड में यादव को नए साल की शुभकामनाएं दी गई थी।

प्रधानमंत्री बनने पर समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव को बधाई देने वाले बिलबोर्ड फ़र्ज़ी है। असली बिलबोर्ड में अखिलेश यादव को नए साल की शुभकामनाएं दी गई थी ।

लोकसभा चुनाव के नतीजों की पूर्व संध्या पर वायरल हुई यह तस्वीर फ़ोटोशॉप्ड है।

फ़ोटोशॉप्ड तस्वीर पर लिखा गया है, “प्रधानमंत्री बनने की हार्दिक सम्भावना – श्री अखिलेश यादव – शुभ अखिलेश, खुश देश, खुश प्रदेश - निवेदक – सुनील सिंह ‘साजन’, एम.एल.सी लखनऊ – उन्नाव।”

फ़ैक्टचेक

सच्चाई का पता लगाने के लिए बूम ने एमएलसी सुनील सिंह 'साजन’ से संपर्क किया, जिनका नाम होर्डिंग पर छपा है । एमएलसी ने हमें बताया कि फोटो को फ़ोटोशॉप किया गया था और उन्हें इस काम के पीछे बीजेपी आईटी सेल का हाथ होने का शक था । बूम स्वतंत्र रूप से यह सत्यापित नहीं कर सकता है कि नकली तस्वीर किसने बनाई है।

मुझे लगता है यह काम बीजेपी आईटी सेल का है | वो अक्सर इस हद तक गिरते रहते हैं | वास्तविक बिलबोर्ड एक शुभकामना सन्देश है जो इस साल अखिलेश यादव जी के लिए था | मूल सन्देश बदला गया है - सुनील सिंह 'साजन’, एमएलसी समाजवादी पार्टी

यादव ने अपने ट्विटर और फ़ेसबुक अकाउंट पर भी दोनों तस्वीरें शेयर की थी, जिसमें बताया गया है कि मूल तस्वीर 31 दिसंबर, 2018 की है।



बूम ने जब यादव द्वारा दावा किए गए समयावधि से मेल खाते हुए तस्वीरों की ऑनलाइन तलाश की और समान तस्वीर शेयर करते हुए 31 दिसंबर, 2018 के कई पोस्ट पाए।

हमने तस्वीरों की तुलना की और पाया कि वास्तव में मूल तस्वीर के साथ छेड़छाड़ की गई थी।

फ़र्ज़ी बिलबोर्ड पर पहले वाक्य के फ़ॉन्ट को संपादित किया गया है जो बाक़ी के मेसेज से अलग दिखाई देता है।

( नकली (बाएं) और मूल तस्वीरों की तुलना )

वाक्य भी गलत है

यादव के अनुसार, मूल पोस्ट में पार्टी प्रमुख के लिए नए साल का संदेश था । संदेश हिंदी में लिखा था: नव वर्ष की हार्दिक संभावना श्री अखिलेश यादव।

इसी तरह, नकली तस्वीर वाले संदेश में लिखा गया है: प्रधानमंत्री बनने की हार्दिक सम्भावना श्री अखिलेश यादव ।

पहली बार यह वायरल नहीं हुआ

31 दिसंबर, 2018 को एमएलसी द्वारा साझा की गई मूल छवि भी तब सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी । कई यूज़रों ने व्यंग्यात्मक कैप्शन के साथ तस्वीर शेयर की थी ।

( व्याकरणिक गलती के लिए लोगों ने बिलबोर्ड का मज़ाक उड़ाया )

पत्रकारों सहित कई फ़ेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल ने फ़ोटोशॉप्ड तस्वीर शेयर की है।



( हेब्बार के ट्विटर हैंडल से )

पोस्ट के अर्काइव्ड वर्शन के लिए यहां क्लिक करें।

Claim Review :   समाजवादी पार्टी के समर्थकों ने चुनावी नतीजे आने से पहले ही अखिलेश यादव को प्रधानमंत्री बनने की बधाई दे डाली
Claimed By :  Facebook pages and Twitter handles
Fact Check :  FALSE
Show Full Article
Next Story