क्या पाकिस्तानी डॉक्टरों ने पश्चिम बंगाल में हो रही डॉक्टरों की हड़ताल का समर्थन किया? फ़ैक्ट चेक

फ़ेसबुक पर जोर शोर से वायरल वीडियो फ़र्ज़ी दावे कर रहा है जिसे तीन हज़ार बार शेयर किया जा चूका है

पिछले सोमवार एक वृद्ध आदमी की मृत्यु के बाद नीलरतन सरकार मेडिकल कॉलेज में जूनियर डॉक्टरों के साथ लोगो ने बदतमीज़ी की जिसके बाद से पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों ने हड़ताल शुरू करदी है | काफ़ी मात्रा में डॉक्टरों ने इस्तीफ़े दिए और धीरे धीरे यह हड़ताल देश भर में फ़ैल चुकी है |

सोशल मीडिया पर इस घटना के और मार्च के वीडियो वायरल हो रहे है और कई वीडियो के साथ कैप्शन में दावा किया जा रहा है की पाकिस्तानी डॉक्टरों ने अपना समर्थन दिखते हुए मार्च निकाला | आपको बता दें यह दावे फ़र्ज़ी है |

12 जून को हुई इस घटना के बाद कई डॉक्टर रोड पर जुलूस निकाल सरकार के सामने विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं | जब यह आग देश भर में फैली तो सोशल मीडिया पर भी जोर शोर से दावे किये जाने लगे | इस वीडियो के साथ कैप्शन बांग्ला में लिखा है जिसका हिंदी अनुवाद है: अब पाकिस्तानी डॉक्टरों ने भी भारतीय डॉक्टरों के समर्थन में मार्च किया |

आप यह फ़ेसबुक पोस्ट यहाँ और इसका आर्काइव्ड वर्शन यहाँ देख सकते हैं |

दरअसल यह वीडियो सबसे पहले यंग डॉक्टर्स एसोसिएशन पाकिस्तान के फ़ेसबुक पेज पर एकता दर्शाने के लिए शेयर किया गया था | इस वीडियो के साथ एक कैप्शन लिखा है: पाकिस्तानी यंग डॉक्टर्स पूरी तरह से भारतीय यंग डॉक्टर्स के इस कदम का हर हाल में समर्थन करते है | पाकिस्तानी यंग डॉक्टर्स पश्चिम बंगाल की मुख्य मंत्री के गैर-ज़िम्मेदाराना वर्ताव की मज़बूती से निंदा करते हैं | पोलिसवाले क्रिमिनल्स का सामना करते है और इसलिए उन्हें बन्दूक धारी लोगो का सामना करना पड़ता है | परन्तु डॉक्टर्स जान बचाते है और वे किसी हथियार धारी के ख़िलाफ़ ड्यूटी नहीं करते, यह सरकार की ज़िम्मेदारी है की यंग डॉक्टर्स को सहूलियत से काम करने का माहौल और सिक्योरिटी प्रदान की जाए | #पाकिस्तानी यंग डॉक्टर्स सपोर्ट इंडियन यंग डॉक्टर्स #वाईडीएइंडिया

पुरानी पोस्ट जिसमें बाद में यह जोड़ा गया की वीडियो लखनऊ का है

यह पोस्ट आप यहाँ और इसका आर्काइव्ड वर्शन यहाँ देखें |

फ़ैक्ट चेक

बूम ने पाया की यह वीडियो किंग जॉर्ज मेडिकल विश्वविद्यालय लखनऊ का है | बाद में यंग डॉक्टर्स एसोसिएशन पाकिस्तान के फ़ेसबुक पेज पर भी यह लाइन जोड़ी गयी की वीडियो किंग जॉर्ज मेडिकल विश्वविद्यालय लखनऊ से कॉपी किया गया है | यह वाक्य जोड़ने के बावज़ूद हज़ारों शेयर्स फ़र्ज़ी दावों के साथ किये जा चुके है |

बूम ने किंग जॉर्ज मेडिकल विश्वविद्यालय लखनऊ का फ़ेसबुक पेज देखा जिसपर 13 जून को समान वीडियो शेयर किया गया है | इस वीडियो के साथ कैप्शन में लिखा है : पश्चिम बंगाल में डॉक्टरो और चिकित्सा छात्रों के साथ हुए जघन्य अपराध और लगातार चल रहे घातक हमलों के विरोध में और उन छात्रों के समर्थन में किंग्स जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय लखनऊ के मेडिकल छात्रों ने काली पट्टी लगाकर अपना विरोध प्रदर्शन किया… हम सभी मेडिकल छात्र पश्चिम बंगाल प्रशासन से तुरंत उचित और कड़ी कार्रवाई करने की अपील करते हैं.. #Savethedoctors#Georgianwithwestbangalmedicos #Wewantjustce#अभीनहीतोकभीनही

आप यह वीडियो यहाँ देख सकते है और किंग जॉर्ज का आधिकारिक फ़ेसबुक पर यहाँ उपलप्ध है |

जॉर्ज मेडिकल विश्वविद्यालय, लखनऊ के फ़ेसबुक पेज पर शेयर की गयी पोस्ट

इस हड़ताल के बारे में ज्यादा जानने के लिए यहाँ पढ़ें |

Claim Review :  पाकिस्तानी डॉक्टरों ने पश्चिम बंगाल में हो रही डॉक्टरों की हड़ताल का समर्थन किया
Claimed By :  Facebook posts
Fact Check :  FALSE
Show Full Article
Next Story