क्या जसोदाबेन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को वोट न देने की अपील की? हमारी पड़ताल

वीडियो के साथ फैलाए जाने वाले पोस्ट में दावा किया गया है कि जसोदाबेन ने लोगों से नरेंद्र मोदी को वोट न देने की अपील की है।

सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पत्नी, जसोदाबेन का एक वीडियो वायरल हो रहा है। दावा किया जा रहा है कि वीडियो में जसोदाबेन ने लोगों से मोदी को वोट न देने की अपील की है।

    

90 सेकंड के इस लंबे वीडियो में जशोदाबेन को गुजराती में बात करते देखा जा सकता है। पूरे प्रकरण को मोबाइल कैमरे पर रिकॉर्ड किया गया है। वीडियो को असम 123 न्यूज, आई सपोर्ट रवीश कुमार आई सपोर्ट ट्रूथ…., अदीति राव समेत कई फेसबुक पेजों द्वारा साझा किया गया है। इस पोस्ट को असम 123 पेज पर 600 से अधिक बार साझा किया गया है।

इस पोस्ट को एक हिंदी संदेश के साथ साझा किया जा रहा है, जो कुछ इस तरह से है:’जसोदाबेन ने अंध-भक्तों से 2019 में, पप्पा मोदी को वोट न देने की अपील की है, कहा बोलते हैं सफेद झूठ, लगाए गंभीर आरोप।’

इन पोस्ट के संग्रहीत संस्करणों तक यहां और यहां पहुंचा जा सकता है।

पृष्ठभूमि की जांच

जब बूम ने वीडियो की जांच की, तो हमने पाया कि गुजराती में बोलने वाली महिला, यानी जसोदाबेन वो नहीं बोल रही हैं जो पोस्ट दावा कर रहा है। इसके बजाय, जसोदाबेन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वैवाहिक स्थिति पर वर्तमान मध्य प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल द्वारा दिए गए एक बयान के संबंध में बोल रही हैं।

यशोदाबेन द्वारा गुजराती में दिए गए बयान का यहां हिंदी अनुवाद दिया गया है:

“मैं, जसोदाबेन नरेंद्र मोदी ,कहना चाहती हूं कि भले ही आनंदीबेन पटेल शिक्षित हैं, एक गुजराती अखबार दिव्य भास्कर के मुख पृष्ठ पर दी गई जानकारी झूठी है, उनका व्यवहार और कार्य मेरे और मेरे पति के लिए अनुचित और अपमानजनक है। मेरे पति भगवान राम की तरह हैं। अब उसे बदनाम कर राजनीति खेलना बंद करो। जशोदाबेन का अपमान भारत के प्रधान मंत्री का अपमान है। जब नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे, और प्रधान मंत्री बनने से पहले, लोकसभा चुनावों में वडोदरा से हलफनामा दायर करते हुए, उन्होंने स्पष्ट रूप से पत्नी के अनुभाग में मेरा नाम लिखा था। मेरे पास फॉर्म की एक प्रति है। हालांकि, मध्य प्रदेश के राज्यपाल ने एक गैर जिम्मेदाराना बयान दिया है कि मोदी की शादी नहीं हुई है, उन्हें बेहतर व्यवहार का पालन करना चाहिए।”

वीडियो में कहीं भी जसोदाबेन लोगों से अपील नहीं करतीं कि वे मोदी को वोट न दें।

इस साल जून में, पटेल ने एमपी में एक सार्वजनिक कार्यक्रम में भाग लिया था, जहां उन्होंने हिंदी में कहा था: “नरेंद्रभाई की शादी नहीं हुई थी, फिर भी वे दर्द और समस्याओं को समझते हैं जो महिलाएं और बच्चे प्रसव से पहले और बाद में सामना करते हैं। "

नीचे दिया गया वीडियो उसी घटना का है।




( जून में एक कार्यक्रम में भाग लेती आंनदीबेन )

हालांकि यह वीडियो तब वायरल हो गया था, जब द वीक की एक रिपोर्ट में इसका उल्लेख किया गया था। कई समाचार पत्रों में भी इस पर चर्चा की गई थी। वीडियो में भी, जसोदाबेन को दिव्य भास्कर में प्रकाशित एक ऐसी रिपोर्ट के बारे में बोलते हुए सुना जा सकता है। दिव्य भास्कर क्षेत्रीय भाषा में दैनिक अखबार है।

वीडियो स्वयं पोस्ट में किए गए दावे का विरोध करता है जब जसोदा कहती हैं कि 'मेरे पति भगवान राम के समान हैं।'

21 जून को प्रकाशित उसी घटना पर एनडीटीवी के एक लेख में उल्लेख किया गया है कि वीडियो को उनके भाई अशोक मोदी के मोबाइल फोन पर शूट किया गया था।

Claim Review :  क्या जसोदाबेन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को वोट न देने की अपील की? हमारी पड़ताल
Claimed By :  facebook
Fact Check :  false
Show Full Article
Next Story