Connect with us

राजस्थान विधानसभा चुनाव में मिली जीत के बाद क्या कांग्रेस कार्यकर्ताओ ने सांप्रदायिक नारे लगाए

राजस्थान विधानसभा चुनाव में मिली जीत के बाद क्या कांग्रेस कार्यकर्ताओ ने सांप्रदायिक नारे लगाए

सोशल मीडिया पर एक पुराने वीडियो को राजस्थान में कांग्रेस की जीत के साथ जोड़ कर किया जा रहा है वायरल

 

 

दावा: “हरामखोर कांग्रेसियो राजस्थान जीत पर लगे नारे!!
अब क्या ?? हिंदुस्तान में रहना है तो अल्लाहु अकबर कहना होगा ??? सुनो बहरों हिंदुओं!!!”

 

 

रेटिंग: वीडियो सच है पर जिस कैप्शन के साथ फ़ेसबुक पर वायरल किया जा रहा है वह झूठ है।

 

 

सच्चाई: यह वीडियो अभी का नहीं वर्ष 2017 का है। फ़ेसबुक पर वायरल हो रहे पोस्ट में इस घटना को कांग्रेस के विधानसभा में हुए प्रदर्शन के साथ जोड़ा जा रहा है जो झूठ है।

 

 

वर्ष 2017 में राजस्थान के उदयपुर में एक मुस्लिम आदमी की क्रूर हत्या कर दी गई थी। इसी सन्दर्भ में मुसलमानों द्वारा किये गए विरोध प्रदर्शन का वीडियो फिर से एक बार सोशल मीडिया पर धड़ल्ले से वायरल हो रहा है।

 

 

फ़ेसबुक पर ‘ध्रुव साध’ नामक अकाउंट से इस वीडियो को छे हज़ार से ज़्यादा व्यूज और 500 से ज़्यादा शेयर मिले है।

 

 

 

 

 

 

यह वीडियो जो एक मिनट और सैंतीस सेकंड लंबा है। सोशल मीडिया पर वायरल होते इस वीडियो में एक घोड़े की मूर्ति के पास चौक पर मुसलमानो का हुजूम तादाद में मौजूद है और नारे लगा रहा है । लोग को यह नारे लगाते सुना जा सकता है की, “हिंदुस्तान हमारा है”, “नरेंद्र मोदी हाय हाय ” (नरेंद्र मोदी के साथ नीचे), “शिवसेना हाय हाय ” (शिवसेना के साथ नीचे), “बजरंग दल हाय हाय ” ( बजरंग दल के साथ नीचे) “हिंदुस्तान में रहना होगा तो , अल्लाह-हु-अक्बर कहना होगा” (यदि आप हिंदुस्तान में रहना चाहते हैं, तो आपको अल्लाह हू अकबर का जप करना होगा) और “भगवा आतंकवाद बंद करो (भगवा आतंकवाद रोको)।

 

 

बूम ने वीडियो का विश्लेषण किया और पाया कि यह वीडियो 8 दिसंबर, 2017 को है जिसे राजस्थान के उदयपुर में शूट किया गया था।

 

 

शम्भू लाल रेगर नामक व्यक्ति ने सरे आम एक वीडियो बनाते हुए एक मज़दूर की हत्या कर दी थी। इस हत्या ने देश भर में राष्ट्रीय न्यूज़ चैनल्स पर सुर्खिया बटोरी थी। शम्भू लाल ने इस हत्या को जायज़ कहकर वीडियो ऑनलाइन अपलोड भी किया था।

 

 

 

 

                                शम्भू लाल रेगर मुस्लिम मज़दूर की हत्या करते हुए। 

 

 

रेगर के इस वीडियो के बाद, राजस्थान में तनाव बढ़ गया था। अफवाहों को रोकने के लिए शहर के प्रसाशन ने कुछ हिस्सों में एक अस्थायी इंटरनेट प्रतिबंध भी लगा दिया था । इस घटना से आहत मुस्लिम समुदाय के बीच गुस्सा उमड़ा और उन्होंने विभिन्न हिस्सों में विरोध प्रदर्शन कर हिन्दू समुदाय के खिलाफ सांप्रदायिक नारेबाज़ी भी की थी। ।

 

 

इस वीडियो को आप यूट्यूब पर भी देख सकते है।

 

 

 

Claim Review : कांग्रेस की जीत के बाद अगर हिन्दुस्तान में रहना है तो "अल्लाहुअक्बर" कहना है

Fact Check : Misleading

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

FACT FILE

Opinion

To Top