Connect with us

जी नहीं, राहुल गाँधी या शशि थरूर ने नहीं कही है शिवलिंग को चप्पल मारने की बात

फ़ेक न्यूज़

जी नहीं, राहुल गाँधी या शशि थरूर ने नहीं कही है शिवलिंग को चप्पल मारने की बात

वायरल फ़ेक पोस्ट “नरेंद्र मोदी को हटाने के लिए शिवलिंग को चप्पल मारनी पड़े तो मारूंगा” के साथ गलत ढंग से जोड़ा जा रहा है राहुल, शशि का नाम

 

 

दावा : “नरेंद्र मोदी को हटाने के लिए शिवलिंग को चप्पल मारनी पड़े तो मारेंगे” क्वोट हो रहा है वायरल राहुल गाँधी और शशि थरूर के नाम से

 

 

रेटिंग : झूठ

 

सच्चाई: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी और पार्टी के केरल सांसद शशि थरूर की तस्वीरों के साथ हाल ही में एक क्वोट सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है | वायरल हुए पोस्ट में लिखा है: “नरेंद्र मोदी को हटाने के लिए अगर शिवलिंग को चप्पल मारनी पड़े तो मारेंगे।” पोस्ट में वास्तविकता लाने के लिए इसकी पृष्ठभूमि में न्यूज़ चैनल आज तक का लोगो भी मार्फ किया गया है | आपको बता दे की ये वायरल पोस्ट फ़ेक है तथा हाल ही में थरूर द्वारा दिए गए एक बयान को तोड़ मरोड़ कर पेश करता है |

 

 

वायरल हुए इस फ़ेक क्वोट को फ़ेसबुक पेज  I SUPPORT NARENDRABHAI MODI BJP’ पर 3,900 से ज़्यादा बार शेयर किया जा चुका है |

 

 

नरेंद्र मोदी पर थरूर के कमैंट्स हाल ही में संपन्न हुए बैंगलोर लिटरेचर फेस्टिवल के वक्त के हैं और भारतीय जनता पार्टी और मोदी के समर्थक थरूर के कमैंट्स से काफी बौखलायें हुए हैं |

 

आपको बता दे की ये क्वोट थिरुवनंतपुरम सांसद के नहीं बल्कि पत्रकार विनोद जोस द्वारा कैरावैन मैगज़ीन में 2012 में प्रकाशित एक लेख से लिया गया है | ज्ञात रहे की तब मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे |

 

बी.एल.ऍफ़ में थरूर द्वारा कही गई बात शब्दशः नीचे लिखी है |

 

“राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के एक अज्ञात सूत्र ने कैरावैन के जर्नलिस्ट विनोद जोस को एक अद्भुत उपमा बताई | मैं वो आपको बताता हूँ | इसमें वो मोदी को ना रोक पाने से उत्पन्न अपनी खीझ के बारे में बात करते है | और फिर वो व्यक्ति कहता है, मोदी शिवलिंग पर बैठे बिच्छू की तरह हैं, आप उन्हें अपने हाथ से नहीं हटा सकते हैं और चप्पल से भी नहीं मार सकते हैं |”

 

 

इसी क्वोट के साथ एक ट्वीट अमन अवस्थी के ट्विटर हैंडल से किया गया है | हालाँकि इसमें थरूर की जगह राहुल गाँधी की तस्वीर का इस्तेमाल किया गया है |

 

 

बूम ने कुछ दिनों पहले ही इसी तरह का एक और रिपोर्ट किया है | ज़्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे।


Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

FACT FILE

Opinion

To Top