क्या केजरीवाल ने लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को समर्थन देने की बात कही ?

शंखनाद ने इस पोस्ट में दावा किया है की आम आदमी पार्टी ने कांग्रेस के खिलाफ भ्रष्टाचार की लड़ाई शुरू की थी लेकिन अंत में, केजरीवाल उसकी गोद में बैठने के लिए तैयार है।

दावा: "We can support Congress too..
"We are ready to support Congress where they have chances to win.

  • Acharya Arvind Kejriwal"

अनुवाद: "हम कांग्रेस को सपोर्ट करने के लिया तैयार हैं। जहाँ-जहाँ उनके जीतने की सम्भावना है।"

रेटिंग: झूठ

सच्चाई: अरविंद केजरीवाल दिल्ली वक्फ बोर्ड की ओर से आयोजित ईवान-ई-गालिब बैठक में मौजूद थे जब उन्होंने दिल्ली के इमामों को सम्बोधित करते हुए यह भाषण दिया था। इस भाषण को 'क्लिप' कर आउट ऑफ़ कॉन्टेक्स्ट सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है। अगर पुरे वीडियो को ध्यान से सुना जाए तो केजरीवाल ने सभा में बैठे लोगों से आग्रह किया की वो इस बार आने वाले लोकसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी को भारी मतो से जिताएं।

शहर में मस्जिदों के इमामों की एक सभा में भाग लेते हुए मुख्यमंत्री केजरीवाल ने आगामी लोकसभा चुनावों में वोटों के विभाजन के खिलाफ चेतावनी दी और दावा किया कि कांग्रेस राष्ट्रीय राजधानी में एक भी सीट नहीं जीतेगी।

दिल्ली वक्फ बोर्ड द्वारा आयोजित कार्यक्रम में, अध्यक्ष और आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक अमानतुल्लाह खान ने कहा कि 200 मस्जिदों के इमामों और मुअज्जिनों (मस्जिद के कर्मचारी) के वेतन में बढ़ोतरी फरवरी से लागू हो जाएँगी।

फ़ेसबुक पर इस वीडियो को शंखनाद नामक पेज पर शेयर किया गया है जहाँ इसे 6 हज़ार से ज़्यादा शेयर्स मिले हैं। शंखनाद ने इस पोस्ट में दावा किया है की आप ने कांग्रेस के खिलाफ भ्रष्टाचार की लड़ाई शुरू की थी लेकिन अंत में, केजरीवाल उसकी गोद में बैठने के लिए तैयार है। बेचारे अन्ना हजारे मूर्ख बन गए |

यह वीडियो ट्विटर पर भी गलत सन्दर्भ में वायरल किया जा रहा है। इसे ट्वीटर पर गौरव प्रधान नामक अकाउंट पर भी ट्वीट किया गया है।

केजरीवाल के भाषण पर प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया ने एक न्यूज़ रिपोर्ट की है जिसे यहाँ देखा जा सकता है।

PTI REPORT

आखिर क्या कहा केजरीवाल ने !

केजरीवाल ने कहा, "अगर मुझे लगा कि कांग्रेस जीत सकती है, तो AAP उन्हें (दिल्ली में) सभी सात सीटें देगी और उनके पक्ष में चुनाव लड़ेगी। कांग्रेस दिल्ली में एक भी सीट नहीं जीत सकती है।" सभा को वोटों के बंटवारे से सावधान रहने के लिए कहते हुए केजरीवाल ने कहा कि यदि ऐसा हुआ तो भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) दिल्ली में आसानी से जीत जाएगी।

लोगों को सम्बोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा, "अगर आपके वोट विभाजित होते हैं, तो देश को भारी नुकसान होगा।"

इमामों को "वोट गणित" के बारे में बताते हुए, केजरीवाल ने कहा कि 2014 के लोकसभा चुनावों में, भाजपा ने दिल्ली की सभी सात सीटों पर 46 प्रतिशत वोट पाकर जीत हासिल की थी, जबकि AAP को 33 प्रतिशत और कांग्रेस को मिला 15 फीसदी वोट। यह कहा जा रहा है कि भाजपा को 10 प्रतिशत वोटों का नुकसान होने जा रहा है। अगर ये वोट कांग्रेस के पास जाते हैं, तो भाजपा फिर से जीत जाएगी। लेकिन अगर AAP को ये वोट मिले, तो हम सात सीटों पर कब्जा कर लेंगे।

केजरीवाल ने आगे कहा, "अगर मोदी और (भाजपा प्रमुख अमित) शाह 2019 में लौटते हैं, तो देश और संविधान खतरे में पड़ जाएगा। वे हिटलर की तरह देश को तोड़ देंगे।"

इस विषय के सन्दर्भ में पूरे वीडियो को आप यहाँ देख सकते हैं।

केजरीवाल कहते हैं, "मैं मोदी और अमित शाह को हराने के लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार हूं। अगर मुझे लगा कि कांग्रेस सात सीटें जीत सकती है, तो हम उन्हें सात सीटें देंगे, हम चुनाव नहीं लड़ेंगे। लेकिन कांग्रेस जीत नहीं सकती, वह दिल्ली में एक भी सीट नहीं जीत सकती।"

केजरीवाल की टिप्पणियों के बावजूद, राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों के बीच गठबंधन की लंबे समय से अटकलें लगाई जा रही हैं और हाल ही में AAP विधायक अमानतुल्लाह खान ने अगले लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस को समर्थन देने की बात कही थी।

Claim Review :  क्या केजरीवाल ने लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को समर्थन देने की बात कही ?
Claimed By :  facebook
Fact Check :  Misleading
Show Full Article
Next Story