UP Board Exam: यूपी बोर्ड की 12 वीं की परीक्षाएं रद्द

उत्तर प्रदेश सरकार कोरोना महामारी की वजह से यूपी बोर्ड की 10 वीं की बोर्ड परीक्षा निरस्त करने फ़ैसला पहले ही ले चुकी है.

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) सरकार ने कक्षा 12 वीं की बोर्ड परीक्षा (Board Exam) रद्द कर दी है. कोरोना वायरस की दूसरी लहर के कारण 12 वीं की बोर्ड परीक्षा रद्द करने के कयास काफ़ी पहले से लगाये जा रहे थे. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath), उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा (Deputy CM Dinesh Sharma) और शिक्षा विभाग के आला अधिकारियों के साथ बैठक के बाद उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की 12 वीं की बोर्ड परीक्षा पर महत्वपूर्ण फ़ैसला लिया गया.

उत्तर प्रदेश सरकार पहले ही 10 वीं की बोर्ड परीक्षा रद्द कर चुकी है. दसवीं के छात्र-छात्राओं को परीक्षा दिए बगैर ही अगली कक्षा में प्रमोट किया जायेगा. तब सरकार ने 12 वीं की परीक्षा जुलाई में आयोजित करने का प्रस्ताव रखा था.

सोनिया गांधी के बुकशेल्फ़ में 'भारत को ईसाई राष्ट्र में कैसे बदलें' किताब नहीं है

सीएम योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट करते हुए जानकारी दी, "कोविड महामारी की वर्तमान परिस्थितियों के दृष्टिगत बच्चों की स्वास्थ्य सुरक्षा हमारी शीर्ष प्राथमिकता है. आदरणीय प्रधानमंत्री जी की प्रेरणा से @UPGovt ने निर्णय लिया है कि वर्तमान शैक्षिक सत्र में माध्यमिक शिक्षा परिषद की 10वीं व 12वीं की बोर्ड परीक्षा का आयोजन नहीं किया जाएगा."

गौरतलब है कि बीते 1 जून को एचआरडी मंत्री (HRD Minister) रमेश पोखरियाल निशंक द्वारा सीबीएसई (CBSE) की बोर्ड परीक्षाएं रद्द करने के फ़ैसले का यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने स्वागत किया था. उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा था कि परीक्षा रद्द करने का यह निर्णय देशभर के छात्रों की स्वास्थ्य सुरक्षा की दिशा में बढ़ाया गया महत्वपूर्ण क़दम है. यूपी सीएम के इस ट्वीट के बाद से ही अनुमान लगाया जाने लगा था कि प्रदेश सरकार भी यूपी बोर्ड के 12 वीं की परीक्षा रद्द करके बच्चों को राहत दे सकती है.

पूर्व सीजेआई रंजन गोगोई ट्विटर पर हैं ही नहीं, वायरल ट्वीट फ़र्ज़ी है

Updated On: 2021-06-03T14:08:55+05:30
Show Full Article
Next Story