राजनैतिक रंग में रंगा जाने लगा है हाथरस मर्डर केस?

मृतक की बेटी एक वायरल वीडियो में बताती हैं कि उनके पिता ने उनके साथ छेड़खानी की शिकायत पुलिस में दर्ज करवाई थी और इसी बात को लेकर उन्हें मार दिया गया.

उत्तर प्रदेश के हाथरस ज़िले (Hathras) में एक पुरानी रंजिश को लेकर हत्या का मामला सामने आया है. घटना हाथरस के सासनी थाना क्षेत्र के नौजरपुर गांव की है जहां बेटी संग छेड़छाड़ की पुलिस में शिकायत करने पर बौखलाए युवकों ने 50 वर्षीय अमरीश शर्मा को गोली मार दी. घायल को उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया, जहां रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने भी मामले का संज्ञान लेते हुए हत्यारोपियों के ख़िलाफ़ रासुका (NSA ) लगाने के निर्देश दिए हैं.

अनिल यादव का सपा से इस्तीफ़ा, पत्नी पंखुड़ी पर अभद्र टिप्पणी से थे आहत

हत्या के मामले में सासनी थाना पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए नामजद हत्यारोपी ललित शर्मा को गिरफ़्तार कर लिया है, जबकि कथित मुख्य अभियुक्त गौरव शर्मा फ़िलहाल पुलिस की गिरफ़्त से बाहर हैं. बेटी से छेड़छाड़ की शिकायत करने पर एक पिता की हत्या का मामला अब राजनीतिक मोड़ भी ले चुका है. दावा किया जा रहा है कि कथित आरोपी गौरव शर्मा समाजवादी पार्टी से संबंध रखता है.

छेड़छाड़ का पुराना मामला

हाथरस के पुलिस अधीक्षक ने मामले पर जानकारी देते हुए बताया कि जुलाई 2018 में मृतक अमरीश ने अपनी बेटी के साथ छेड़छाड़ की एक रिपोर्ट दर्ज करवाई थी, जिसमें गौरव शर्मा नाम का व्यक्ति जेल भी गया था, जो एक महीने बाद जमानत पर बाहर आ गया था.

गांव के मंदिर के पास हुई घटना

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि 1 मार्च की शाम गौरव की पत्नी और मौसी गांव की एक मंदिर में पूजा करने आई थीं. जहां मृतक की दोनों बेटियां भी मौजूद थीं. पुराने विवाद को लेकर दोनों पक्षों के बीच झगड़ा शुरू हो गया. इसके बाद गौरव शर्मा और मृतक अमरीश भी वहां पहुंच गए. विवाद और झगड़े के बाद गौरव ने अपने कुछ साथियों को बुलाया और अमरीश की ताबड़तोड़ गोलियां मारकर हत्या कर दी.

वहीं, मृतक की बेटी एक वीडियो में बताती हैं कि उनके पिता ने उनके साथ छेड़छाड़ की शिकायत पुलिस में दर्ज करवाई थी. इसी बात को लेकर गौरव शर्मा ने उन्हें मार दिया.

बीजेपी सांसद का आरोप, गौरव शर्मा सपा सदस्य है

हत्या के इस मामले ने अब राजनीतिक मोड़ भी ले लिया है. विपक्षीय पार्टियां प्रदेश में लचर क़ानून व्यवस्था पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साध रही हैं. वहीं, बीजेपी सांसद सुब्रत पाठक ने ट्वीट करते हुए हत्या के आरोपी गौरव शर्मा का संबंध समाजवादी पार्टी से जोड़ा है.

बीजेपी सांसद ने ट्वीट में लिखा कि "लाल टोपी से सावधान, इस समाजवादी नेता ने हाथरस में ब्राह्मण लड़की के साथ छेड़खानी के विरोध में उसके पिता की हत्या कर दी है, ऐसे अपराधियों को समाजवादी पार्टी समर्थन करती है, जो जितना बड़ा अपराधी वो उतना बड़ा समाजवादी."

सोशल मीडिया पर वायरल

इसी क्रम में सोशल मीडिया पर कई पोस्ट शेयर होना शुरू हो गए हैं, जिनमें दावा किया जा रहा है कि 50 वर्षीय व्यक्ति के आरोपियों में से एक गौरव शर्मा समाजवादी पार्टी का सदस्य है.

वायरल पोस्ट में गौरव शर्मा, जिसका नाम पोस्टर में गौरव सौंगरा लिखा है, की तस्वीर के साथ एक पोस्टर शेयर किया जा रहा है. पोस्टर में सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की तस्वीर के अलावा सपा के अन्य वरिष्ठ नेताओं की तस्वीर है. गौरव सौंगरा ने पोस्टर में ख़ुद को बरौली विधानसभा से सपा नेता बताया है.

पुलिस का टिप्पणी करने से इंकार

हालांकि बूम स्वतंत्र रूप से इन दावों की पुष्टि नहीं करता है कि गौरव शर्मा/गौरव सौंगरा समाजवादी पार्टी से संबंध रखता है या नहीं. हमने हाथरस पुलिस अधीक्षक विनीत जायसवाल से संपर्क किया. उनके पीआरओ ने हमें बताया कि पीड़ित पक्ष की ओर से ऐसा दावा किया गया कि गौरव शर्मा अलीगढ़ का सपा नेता है. चूंकि, मामले की जांच चल रही है ऐसे में फ़िलहाल कोई टिप्पणी नहीं की जा सकती.

सपा प्रवक्ता ने दावों का किया खंडन

समाजवादी पार्टी प्रवक्ता जूही सिंह ने कथित हत्यारोपी गौरव शर्मा का सपा से किसी प्रकार का संबंध होने से इनकार किया है. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि "गुनाहगार न @samajwadiparty का पदासीन अधिकारी था, न प्रवक्ता, हमारे लिए वो एक गुनाहगार है जिसने बेटी को छेड़ा और पिता का कत्ल किया, वर्तमान सरकार में ऐसे अपराधी फल फूल रहे हैं, बेटी की शिकायत के बाद भी यह गम्भीर प्रश्न खड़े करता है सत्ता की महिला सुरक्षा के प्रति प्रतिबद्धता पर."

इसके अलावा समाजवादी पार्टी प्रवक्ता पवन पाण्डेय ने दो तस्वीरों का एक सेट ट्वीट करते हुए गौरव शर्मा का संबंध बीजेपी से बताया और लिखा "हाथरस की बेटी के पिता के हत्यारे गौरव शर्मा की अलीगढ़ के भाजपा सांसद के साथ की यह तस्वीर प्रमाणित कर रही है अपराधियों को भाजपा का संरक्षण मिला हुआ है। भाजपा ऐसी चलनी है जिसमें 72 नही बल्कि 72000 छेंद हैं। शर्म करो, बेटी के परिवार को न्याय दो।"

बूम स्वतंत्र रूप से इस बात की पुष्टि नहीं कर सकता कि कथित मुख्य अभियुक्त गौरव शर्मा किसी राजनैतिक पार्टी से ताल्लुक रखता है या नहीं.

Updated On: 2021-03-03T12:50:49+05:30
Show Full Article
Next Story
Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors.
Please consider supporting us by disabling your ad blocker. Please reload after ad blocker is disabled.