दिल्ली: रेस्टोरेंट ने साड़ी पहनकर आई महिला को नहीं दी एंट्री, क्या है पूरा मामला

सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में एक महिला ने दावा है कि उन्हें साड़ी पहनने की वजह से रेस्टोरेंट में प्रवेश करने से रोका गया. जानिए क्या है पूरा मामला.

सोशल मीडिया पर इन दिनों एक वीडियो काफ़ी शेयर किया जा रहा है. वायरल हो चुके इस वीडियो में एक महिला को होटल के कुछ कर्मचारी अंदर जाने से रोकते हुए नज़र आ रहे हैं. महिला बार बार उसे रोके जाने का कारण पूछती है तो होटल की एक स्टाफ़ कहती है 'आपका ड्रेस होटल के स्मार्ट आउटफ़िट में नहीं आता है इसलिये आप अंदर नहीं जा सकती हैं'. महिला अनीता चौधरी के अनुसार उस दिन - 19 सितम्बर - को उनकी बेटी का जन्मदिन था और वो साड़ी पहनकर दिल्ली स्थित Aquila Restaurant में गईं थीं.

इस वीडियो को अनीता चौधरी ने ट्विटर पर अपलोड किया और इसके तुरंत बाद नेटिज़ेंस ने इसे हाथों हाथ लिया. चौधरी ने अपने ट्वीट में लिखा 'अब भारतीय साड़ी एक स्मार्ट आउटफ़िट नहीं है इसीलिये Aquila restaurant में इसे पहनकर आप नहीं जा सकते. स्मार्ट आउटफ़िट की क्या परिभाषा होगी ज़रा बताओ मुझे? कृपया मुझे स्मार्ट आउटफ़िट की परिभाषा बता दो ताकि मैं साड़ी पहनना बंद कर दूँ."

महिला के ट्विटर प्रोफ़ाइल के अनुसार वो एक जर्नलिस्ट हैं.

मामले की तह तक जाने के लिए बूम ने अनीता चौधरी से बात की तो उन्होंने बताया कि 19 सितम्बर को रेस्टोरेंट प्रबंधन ने उन्हें अंदर घुसने से सिर्फ़ इसलिए मना कर दिया क्योंकि उन्होंने साड़ी पहनी हुई थी. अनीता ने कहा कि उन्होंने व्हाट्सएप के ज़रिये अपनी बेटी के जन्मदिन पर रेस्टोरेंट में सीट बुक की थी.

चौधरी ने कहा कि जब नियत समय पर वो रेस्टोरेंट पहुँचीं तो स्टाफ़ ने उन्हें ये कहते हुए अंदर जाने से रोक दिया कि साड़ी होटल के स्मार्ट आउटफ़िट में नहीं आती है.

वो आगे कहती हैं कि, "जब मैंने स्टाफ़ से इसका कोई रूलबुक प्रमाण माँगा तो स्टाफ़ मेरे साथ बदतमीज़ी और गाली गलौज करने लगे. मैंने उनसे कहा कि आप ज़ोर ज़ोर से चिल्लाइये अपना मास्क हटाकर ताकि बाक़ी लोग भी सुन सकें. मैंने आगे बढ़कर एक स्टाफ़ के मुँह से मास्क हटा दिया जिसकी वजह से स्टाफ़ कह रहा है कि मैंने उसके साथ मारपीट की है."

क्या कहना है Aquila Restaurant का?

होटल मैनेजमेंट ने इस मामले में अपनी सफ़ाई देते हुए अपने आफ़िशियल इंस्टाग्राम पेज पर 22 सितम्बर को एक लेटर और साथ ही एक सीसीटीवी फ़ुटेज जारी किया था. इस सीसीटीवी फ़ुटेज के ज़रिये होटल मैनेजमेंट दावा कर रहा था कि महिला अनीता चौधरी ज़बर्दस्ती गाली गलौज करती हुई होटल परिसर में घुस रही थीं और स्टाफ़ के मना करने पर उनके साथ हाथापाई भी कर रही थीं.

अपने इंस्टाग्राम पेज पर ही शेयर किये गए एक और वीडियो के ज़रिये Aquila Restaurant ने दावा किया है की साडी पहन के रेस्टोरेंट में आने पर कोई मनाही नहीं है.

हालांकि 23 सितंबर को रेस्टोरेंट परिसर में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् (ABVP) से जुड़े दिल्ली विश्वविद्यालय के कई छात्र इस घटना का विरोध करने इकठ्ठा हुए. छात्रों का कहना था कि साड़ी भारतीय संस्कृति का सबसे कैजुएल परिधान (casual wear) है जिसे हर महिला बड़ी आसानी से पहनती है. छात्रों का कहना था कि हमारी समझ से परे है कि कैसे कोई भारतीय रेस्तराँ किसी महिला को साड़ी पहनकर रेस्टोरेंट में प्रवेश करने से रोक सकता है.

विरोध प्रदर्शन के बाद रेस्टोरेंट के मालिक ने मीडिया के सामने आकर कहा कि वो इस गलती के लिये माफ़ी माँगते हैं.

उन्होंने कहा कि रेस्टोरेंट में हर तरह के परिधान पहनकर लोग आ सकते हैं यहाँ कोई ऐसा ड्रेस कोड नहीं है कि साड़ी पहनकर कोई नहीं आ सकता.

उन्होंने ने ये भी बताया कि जिस महिला कर्मचारी ने अनीता चौधरी को रेस्टोरेंट में प्रवेश करने से रोका था वो उनका निजी फ़ैसला था इसमें रेस्टोरेंट का कोई हाथ नहीं था. उन्होंने आगे बताया कि उस महिला कर्मचारी को सीमित समय के लिये बर्खास्त कर काउंसिलिंग के लिये भी भेजा गया है. आगे से रेस्टोरेंट परिसर में ऐसी घटना न हो इसका पूरा ख़्याल रखा जायेगा.

वीडियो नीचे देखें.


Show Full Article
Next Story