उत्तर प्रदेश बजट: जानिए महत्वपूर्ण बातें

योगी आदित्यनाथ सरकार ने आज पेश किया अपना पांचवा बजट. पेपरलेस होने के साथ साथ और क्या नया था इस साल के बजट में, जानिए इस रिपोर्ट में.

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना (Suresh Kumar Khanna) ने 22 फ़रवरी को योगी (Yogi Adityanath) सरकार का पांचवा बजट (budget) प्रस्तुत किया. मौजूदा बजट साढ़े पांच लाख करोड़ रुपये का है.

जबकि अयोध्या (Ayodhya) के लिए बजट में 140 करोड़ रुपये की धनराशि प्रस्तावित की गयी है, कोरोना (Corona) टीकाकरण के लिए 50 करोड़ रुपये का बजट है. कानपूर मेट्रो रेल (Kanpur Metro Rail) से लेकर किसानों तक के लिए मौजूदा बजट में काफ़ी कुछ है. इस रिपोर्ट में जानिए उत्तर प्रदेश सरकार ने कौन कौन से महत्वपूर्ण पहलुओं पर इस बजट में फ़ोकस किया है.

अयोध्या विकास के लिए

अयोध्या के चौतरफा विकास के लिए बजट में 140 करोड़ रुपये की व्यवस्था का प्रस्ताव है. इसमें अयोध्या स्थित सूर्यकुंड (Suryakund) के विकास का भी प्रस्ताव शामिल है. अयोध्या में बन रहे एयरपोर्ट (airport) का नाम मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम एयरपोर्ट होगा और इसके लिए बजट में 101 करोड़ रुपये का प्रस्ताव है. साथ ही राम मंदिर (Ram Mandir) से अयोध्या धाम रोड के लिए निर्माण के लिए 300 करोड़ रुपये का प्रस्ताव है.

कानपुर मेट्रो

11,076 करोड़ रुपये के लागत से बन रहे कानपुर मेट्रो रेल परियोजना के लिए मौजूदा बजट में 597 करोड़ आवंटित हुए हैं.

किसानों के हिस्से क्या आया?

उत्तर प्रदेश सरकार ने अगले वर्ष तक - यानी कि 2022 तक - किसानों (farmers) की आय दोगुनी करने का लक्ष्य रखा है. कृषक दुर्घटना कल्याण योजना के लिए बजट में 600 करोड़ रुपये का प्रस्ताव है. उसी तरह किसानों को फ़सली ऋण उपलब्ध कराने के लिए बजट में 400 करोड़ रुपये आवंटित किये गए हैं.

फाइनेंशियल ईयर (Financial year) 2021-22 से आत्मनिर्भर कृषक समन्वित विकास योजना भी संचालित की जाएगी जिसके लिए बजट में 100 करोड़ रुपये का प्रस्ताव है. 700 करोड़ रुपये किसानों को मुफ़्त पानी की सुविधा देने के लिए आवंटित किया गया है. साथ ही प्रदेश सरकार ने वर्ष 2021-22 के लिए 15 हजार सोलर पंपों की स्थापना का लक्ष्य भी निर्धारित किया है.

अन्य महत्वपूर्ण बातें

  • इस साल का बजट पेपरलेस (paperless) रहा. बजट 'उत्तर प्रदेश सरकार का बजट' ऐप पर उपलब्ध होगा जिसे गूगल प्ले स्टोर (Google Play Store) पर डाउनलोड किया जा सकेगा.
  • महिला शक्ति केंद्र बनाने के लिए 32 करोड़ रुपये आवंटित. बालिकाओं को स्वस्थ भोजन उपलब्ध कराने के लिए 100 करोड़ रुपये की प्रस्तावना.
  • लखनऊ में राष्ट्रीय प्रेरणा स्थल के लिए 50 करोड़ रुपये आवंटित
  • गरीब कलाकारों के लिए 2000 रुपये प्रति माह पेंशन का प्रस्ताव
  • जेवर, चित्रकूट और सोनभद्र में एयरपोर्ट बनाने के लिए 2000 करोड़ रुपये
  • हर मंडल में एक राज्य विश्वविद्यालय बनाने का प्रस्ताव तथा छात्र प्रोत्साहन के लिए राज्य गौरव पुरूस्कार देने की घोषणा
  • गोरखपुर एक्सप्रेसवे के लिए 750 करोड़ रुपये, पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के लिए 1,107 करोड़ रुपये, बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के लिए 1,492 करोड़
  • आवास योजनाओं के लिए रु 10,029 करोड़ का प्रस्ताव
  • अमृत योजना के लिए रु 2,200 करोड़
  • स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के लिए रु 2,000 करोड़ का प्रस्ताव
  • पीएम सड़क योजना के लिए रु 5,000 करोड़
Show Full Article
Next Story