मध्यप्रदेश में कोविड-19 के कारण नए नियम लागू; इन आठ ज़िलों पर ख़ास नज़र

भारत में इस वक़्त महाराष्ट्र कोविड-19 से सबसे ज़्यादा प्रभावित राज्य है. राज्य स्वास्थ डिपार्टमेंट के अनुसार, रविवार को 16,620 नए कोविड-19 मामले सामने आये हैं.

महाराष्ट्र (Maharashtra) में अचानक बढ़े कोरोनावायरस संक्रमण (COVID-19 infection) के मामलों ने अन्य राज्यों एवं केंद्रीय स्वास्थ मंत्रालय (Union Health Ministry) को चिंतित कर दिया है. मध्यप्रदेश सरकार (Madhya Pradesh government) ने महाराष्ट्र की सीमा पर स्थित राज्य के आठ ज़िलों में नए नियम लागू किये हैं.

भारत में इस वक़्त महाराष्ट्र कोविड-19 (COVID-19) से सबसे ज़्यादा प्रभावित राज्य है. राज्य स्वास्थ डिपार्टमेंट के अनुसार, रविवार को 16,620 नए कोविड-19 मामलों के आने से महाराष्ट्र में अब तक संक्रमण की कुल संख्या 23,14,413 होगयी है.

मध्यप्रदेश में प्रवेश करने पर क्या हैं नियम?

  • महाराष्ट्र से मध्य प्रदेश के सीमावर्ती ज़िलों (Border districts) में आने वाले यात्रियों को पहचाना जाएगा और एक हफ़्ते के क्वारंटाइन (Quarantine) की सलाह दी जाएगी, मिंट की रिपोर्ट के मुताबिक़.
  • रिपोर्ट्स के अनुसार राज्य सरकार ने इन ज़िलों समेत राजधानी भोपाल और इंडस्ट्रियल हब इंदौर में किसी भी कार्यक्रम को बंद हॉल में 50 फीसदी क्षमता (अधिकतम 200 लोग) के साथ करने का नियम लागु किया है. इस दौरान कोविड-19 प्रोटोकॉल्स का पालन ज़रूरी होगा.
  • इन आठ ज़िलों में आने वाले लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग (Thermal Screening) ज़रूरी होगी.

कौन-कौनसे हैं यह आठ ज़िले?

वे सभी ज़िले जो महाराष्ट्र की सीमा छूते हैं. इन ज़िलों के नाम हैं: छिंदवाड़ा (Chhindwara), बालाघाट (Balaghat), बैतूल (Betul), सिवनी (Seoni), खंडवा (Khandwa), बड़वानी (Barwani), खरगोन (Khargone) और बुरहानपुर (Burhanpur).

राज्य सरकार ने इन आठ ज़िलों के अलावा अन्य ज़िले जैसे राजधानी भोपाल (Bhopal), रतलाम (Ratlam), इंदौर (Indore), जबलपुर (Jabalpur) और उज्जैन (Ujjain) में भी कोविड-19 प्रोटोकॉल्स का बेहतर प्रचार करने का आदेश दिया है. इन ज़िलों में कोविड-19 के नए मामले सामने आये हैं. यहां पढ़ें.

Show Full Article
Next Story