Connect with us

राहुल गाँधी के मीडिया ब्रीफिंग का क्लिप हुआ वायरल

राहुल गाँधी के मीडिया ब्रीफिंग का क्लिप हुआ वायरल

वीडियो क्लिप में राहुल अपने आस-पास खड़े कांग्रेस नेताओं से बात करते और उनकी बातें सुनते देखें जा सकते हैं | ये क्लिप मीडिया ब्रीफिंग शुरू होने से पहले की है

आजकल सपना दिखाने के लिए भी ट्यूशन लेनी पड़ती है ?

 

ये सवाल पूछा गया है टेक्सटाइल मिनिस्टर स्मृति ईरानी के ऑफिशियल फ़ेसबुक और ट्विटर एकाउंट्स से | इस सवाल के साथ एक वीडियो भी है जिसमे दिख रहे हैं राहुल गाँधी और कांग्रेस के अन्य दिग्गज नेता |

 

 

 

आठ हज़ार से भी ज़्यादा शेयर्स और ग्यारह हज़ार से ज़्यादा बार री-ट्वीट किये गए इस वीडियो में आप कांग्रेस नेताओं को राहुल गाँधी को सुझाव देते देख सकते हैं | यह वीडियो दरअसल अठारह (18) दिसंबर का है जब राहुल गाँधी ने पार्लियामेंट से मीडिया को सम्बोद्धित किया था |

 

ज़रा पीछे चलते हैं

 

वायरल हो चुके इस वीडियो क्लिप में हमेशा की तरह एक छोटा सा ट्विस्ट है | यह क्लिप दरअसल राहुल गाँधी के मीडिया ब्रीफिंग के पहले की है | ब्रीफिंग के पहले कांग्रेस अध्यक्ष को आप यहाँ पार्टी के अन्य नेताओं से बातचीत करते या उनकी बात सुनते देख सकते हैं |

 

इसी दौरान मध्य प्रदेश कांग्रेस के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया राहुल गाँधी से अंग्रेजी में कहते हैं: “आपको कहना चाहिए जो मोदी नहीं कर सके वो मैंने कर दिया (अनुवादित) |” कांग्रेस अध्यक्ष हामी भरते हुए सर हिलाते हैं | सिंधिया फ़िर कुछ कहते हैं मगर तब तक राहुल गाँधी पीछे मुड़ जाते हैं | पीछे खड़े नेताओं से बात करके राहुल वापस आगे की ओर मुड़ते हैं और धीमी आवाज़ में सिंधिया से कुछ कहते हैं | सिंधिया फ़िर एक बार राहुल से कहते हैं “एंड डोंट आस्क फॉर सेंट्रल असिस्टेंस ” | यहां राहुल गांधी सिंधिया से कहते हैं: “मुझे थोड़ी जगह दीजिये ” और उन्हे माइक की तार से हटने का इशारा करते हैं |

 

ठीक इसके बाद ब्रीफिंग शुरू हो जाती है और राहुल गाँधी रिपोर्टर्स के सवालों का जवाब देने लगते हैं |

 

गौरतलब बात ये है की वायरल क्लिपिंग मीडिया ब्रीफिंग के पहले की है मगर कुछ फ़ेसबुक पेजों पर इसे ऐसे कैप्शंस के साथ शेयर किया गया है मानो प्रेस कांफ्रेंस के दौरान ही राहुल गांधी अन्य नेताओं से जवाब पूछ रहे हों |

 

मसलन, शंख नाद नामक फ़ेसबुक पेज पर इस वीडियो के साथ अंग्रेज़ी में एक सन्देश है जिसका अनुवाद कुछ ऐसा है: लीडर वो है जिसे पथ पता हो और जो पथ दिखाए | ऐसे इंसान को आप क्या कहेंगे जिसे बेसिक रिस्पांस भी सिखाना पड़े ? पप्पू बिना ट्यूशन के दो मिनट बात भी नहीं कर सकता और इसे भारत का प्रधानमंत्री बनना है |

 

 

इस पोस्ट को भी करीब 2,000 से ज़्यादा शेयर्स मिलें हैं |

 

अन्य फ़ेसबुक पेज जहां ये वीडियो शेयर की गयी है वो हैं – Arnab Goswami and Republic Fan Club और BJP Jharkhand |

 

Rahul Gandhi press briefing

 

आपको बता दे की ब्रीफिंग के दौरान राहुल ने ये कहीं नहीं कहा की “जो मोदी नहीं कर सके वो मैंने कर दिया |”

 

क्विंट पर आप यह पूरा वीडियो यहाँ देख सकते हैं |

 

Claim Review : मीडिया ब्रीफिंग के दौरान 'ट्यूशन' लेते राहुल गांधी

Fact Check : Misleading

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

FACT FILE

Opinion

To Top