बाबा रामदेव की इस तस्वीर के साथ किए जा रहे दावे झूठे हैं

बूम ने पाया की तस्वीर पांच साल पुरानी है एवं इसमें रामदेव के साथ दिख रही महिला कैंसर पीड़ित है
Baba-Ramdev

बाबा रामदेव की पुरानी तस्वीर जो एक महिला के साथ है फ़िर से फ़र्ज़ी दावों के साथ वायरल हो रही है | यह तस्वीर वास्तविक तौर पर पांच साल पहले ली गयी थी | आप देख सकते हैं की इस तस्वीर में रामदेव एक महिला के नज़दीक बैठे हैं | इसके साथ कैप्शन में लिखा है: इनका भी समय नज़दीक है |

जिसके साथ लोग भद्दी भद्दी बातें कर रहे हैं और ग़लत सन्दर्भ में राम रहीम के सेक्स स्कैंडल और तरह तरह की बातों से जोड़कर समझ रहे हैं |

वायरल पोस्ट्स में कैप्शन लिखा है: ये कौन सा आसन सिखा रहा है बे। लड़़कियों से प्रेम दिखाने के और सम्मान देने के भी एटीकेट्स होते हैं। महिला के गले में माला नहीं पहनाया जाता हाथ मे दिया जाता है सम्मान करते समय। (Sic)

यह सारे दावे फ़र्ज़ी हैं और सालों से वायरल हो रहे हैं |

इस तरह की कुछ पोस्ट्स आप नीचे देख सकते हैं एवं इनके आर्काइव्ड वर्शन यहाँ और यहाँ देखें |



फ़ैक्ट चेक

बूम ने तस्वीर को रिवर्स इमेज सर्च कर पाया की यह पांच साल पुरानी तस्वीर है | हमें अमर उजाला एवं लल्लनटॉप पर इसके ऊपर लेख एवं वीडियो भी मिला | तस्वीर एक सामान्य स्थिति में है जिसके साथ ग़लत और भद्दी बातें जोड़ी गयी थी | इस दौरान बाबा रामदेव ने फ़ेसबुक पर सफाई देते हुए इस और इसके जैसी कुछ और तस्वीरों की व्याख्या की थी |



बाबा रामदेव ने तस्वीर के साथ कैप्शन में लिखा था: दुष्प्रचार करने वालों कुछ तो शर्म करो ! यह बहन, जिसका नाम प्रीती है, आयु 27 वर्ष है, कैंसर से पीड़ित है, जीवन और मौत के बीच संघर्ष कर रही है | पतंजलि योगपीठ के फाउंडर मेंबर के परिवार की इस बहन को वेदांता अस्पताल में मिलकर आशीर्वाद दिया, प्राणायाम सिखाया और आयुर्वेदिक औषधियां दीं । ऐसे रोगियों के बारें में दुष्प्रचार करने वालों कुछ तो शर्म करो । यदि ये महिला आपकी माँ, बहन, बेटी होती तो क्या आप ऐसे ही भद्दे कमेंट्स करते | - स्वामी रामदेव (Sic)

Claim Review :  बाबा रामदेव महिलाओं से ग़लत व्यव्हार करते हैं
Claimed By :  Facebook pages and Twitter handles
Fact Check :  FALSE
Next Story